Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

बारिश के बाद कोटा से उठेगी ऐसी चिंगारी, जिसकी आंच राजस्थान के कौने-कौने तक पहुंचेगी, जानिए क्या होने वाला है...

Patrika news network Posted: 2017-07-13 08:55:32 IST Updated: 2017-07-13 10:50:57 IST
  • राजपा नेता और विधायक डॉ. किरोड़ीलाल मीना बुधवार को कोटा पहुंचे। उन्होंने सर्किट हाउस में फसल के दाम नहीं मिलने और कर्ज के कारण मरने वाले किसानों के परिजनों से मुलाकात की। उन्होंने बारिश के बाद किसानों को साथ लेकर आंदोलन करने के संकेत दिए।

कोटा.

राजपा नेता और विधायक डॉ. किरोड़ीलाल मीना बुधवार को कोटा पहुंचे। उन्होंने सर्किट हाउस में फसल के दाम नहीं मिलने और कर्ज के कारण मरने वाले किसानों के परिजनों से मुलाकात की। उनकी बात सुनकर किरोड़ी ने आर्थिक सहायता दिलाने के लिए संघर्ष करने का आश्वासन दिया। 

Read More: OMG! अभी तो नौकरी भी पक्की नहीं हुई, लेने लगी रिश्वत...

पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने बारिश के बाद किसानों को साथ लेकर आंदोलन करने के संकेत दिए। वहीं मृतक किसानों के प्रत्येक परिवार को 25-25 लाख रुपए आर्थिक सहायता देने की मांग की। उन्होंने कहा, अभी बारिश का समय है, इसलिए किसान व्यस्त हैं। इसके बाद हाड़ौती के चारों जिलों में किसानों को साथ लेकर आंदोलन खड़ा करेंगे, सरकार पर दबाब बनाएंगे। सरकार जानबूझकर किसानों को बर्बादी की ओर धकेल रही है। 


Read More:  हैंगिंग ब्रिज चालू करवाने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया जमकर प्रदर्शन, गिरफ्तारियां दी

उन्होंने कहा, मृतक किसानों के आश्रितों को लेकर मैं कोई औचक कार्रवाई करने की सोच रहा हूं। हम चुप नहीं बैठेंगे, क्योंकि किसान की मजबूरी समझते हैं। सभी मृतक किसानों के घर उनके परिवार का हाल जानने के लिए सांसद और विधायक तक नहीं पहुंचे। कुछ जगह घडि़याली आंसू बहाने जरूर गए। 
एक जगह तो कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट पहुंचे तो और नेता भी पहुंच गए। 



Read More: Video : राजपूत हुए उग्र, आनंदपाल एनकाउण्टर की सीबीआई जांच नहीं हुई तो उखाड़ेंगे पटरियां, रोकेंगे ट्रेन-हाईवे

उन्होंने कहा, हाड़ौती में 6 किसान आत्महत्या कर चुके हैं। लहुसन का उचित दाम नहीं मिलने से किसानों की मौत हुई है। मृतक किसानों के परिजनों के साथ आए लोगों ने कहा कि न्याय दिलाआे, हम आपके साथ हैं, जो भी कहेंगे वो करने को तैयार हैं। सैकड़ों नेता आए-गए, लेकिन कुछ करते नहीं। राजनीतिक कर चले जाते हैं।

rajasthanpatrika.com

Bollywood