Breaking News
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

विश्व एड्स दिवस : जोधपुर में 10 हजार एचआईवी रोगी

Patrika news network Posted: 2016-12-01 10:22:49 IST Updated: 2016-12-01 10:22:49 IST
विश्व एड्स दिवस : जोधपुर में 10 हजार एचआईवी रोगी
  • शहर में हर महीने 40 नए एचआईवी पॉजिीटिव सामने आ रहे हैं। जागरुकता की वजह से यह संख्या अपेक्षाकृत कम है। वजह यह है कि पहले लोग बीमारी के बारे में बताने या इलाज करवाने से डरते थे, लेकिन अब वे न केवल सामने आ रहे हैं, बल्कि इलाज भी करवा रहे हैं। एेसा करने से एड्स के रोगियों की संख्या में कमी आई है।

जोधपुर

लाइलाज बीमारी कही जाने वाली एक्वायर्ड इम्यूनो डेफिशिएंसी सिंड्रोम यानी एड्स के जोधपुर में 10 हजार से अधिक मरीज पंजीकृत हैं।

40 नए एचआईवी पॉजिटिव

हर महीने करीब 40 नए एचआईवी पॉजिटिव रोगी सामने आ रहे हैं, लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है एड्स की बीमारी फैल रही है।

पहले सामने आने से डरते थे

दरअसल इस बीमारी के लिए बेहतरीन दवाइयां आने और तेजी से उपचार होने की वजह से एेसे लोग भी अस्पताल आकर अपना इलाज ले रहे हैं जो पहले सामने आने से डरते थे।

बीमारी का स्टेटस पता नहीं 

वैसे संयुक्त राष्ट्र संघ एड्स संस्था (यूएन एड्स) के अनुसार विश्व में एचआईवी से पीडि़त 3.67 करोड़ हैं, जिसमें से 1.9 करोड़ को अपनी बीमारी का स्टेटस पता नहीं है।

रोगियों ने पंजीकरण करवाया

मथुरादास माथुर अस्पताल में वर्ष 2006 में एआरटी (एंटी रेट्रो वायरल थैरेपी) सेंटर स्थापित हुआ था। पहले साल एड्स के वायरस एचआईवी (ह्यूमन इम्यूनो डेफिशिएंसी वायरस) से ग्रसित 719 रोगियों ने अपना पंजीकरण करवाया।

इस साल करीब 1600 नए रोगी सामने आए

उसके अगले साल नए रोगियों की संख्या 1621 पहुंच गई। फिर 2008 में 1694 और 2009 में 1729 नए रोगी जुड़े। इस साल करीब 1600 नए रोगी सामने आए हैं।

लोग नियमित रूप से दवाइयां ले रहे हैं

वर्तमान में कमला नेहरु वक्ष चिकित्सालय में संचालित एआरटी सेंटर में 10 हजार से अधिक रोगी पंजीकृत हैं। इसमें 3 हजार लोग नियमित रूप से दवाइयां ले रहे हैं।

सामान्य इंसान की तरह जीता है

एआरटी सेंटर में प्रतिदिन ओपीडी संचालित होती है, जिसमें 100 से 150 मरीज हर रोज आते हैं। दवाइयां लेने से रोगी सामान्य इंसान की तरह जीता है, लेकिन उसे प्रतिदिन दवाइयां लेनी पड़ती हैं।

क्या होता है एड्स ?

एड्स, एचआईवी वायरस की वजह से होता है जो शरीर में खून में एक प्रकार की श्वेत रक्त कणिकाओं लिम्फोसाइट्स यानी सीडी-4 को खत्म कर देता है।

पांच सौ से नीचे 

सीडी-4 हमारे शरीर में रक्षा की अग्रिम पंक्ति होती है और सामान्य मनुष्य में सीडी-4 की संख्या 600 से 700 होती है। एचआईवी रोगियों में पांच सौ से नीचे होती है।

बीमारियां की चपेट में 

जब ये 200-300 पहुंच जाती है तो रोगी टीबी, निमोनिया, खांसी-जुकाम जैसी अन्य बीमारियां की चपेट में आ जाता है क्यों कि शरीर की रक्षा पंक्ति कमजोर हो चुकी होती है। एचआईवी के इलाज के लिए दी जाने वाली दवाइयों में सीडी-4 की संख्या बढ़ाई जाती है ताकि रोगी सामान्य जीवन जी सके।

कैसे होता है संक्रमण?

एचआईवी वायरस का संक्रमण असुरक्षित यौन संबंध, रोग ग्रस्त मरीज की सूई दुबारा इस्तेमाल करने, एचआईवी ग्रस्त मां से बच्चे में होता है। यह पसीने अथवा लार से नहीं फैलता है।

पहला मामला 1981 में 

एचआईवी वायरस का पहला मामला 1981 में अमरीका के सीडीसी की ओर से खोजा गया था। भारत में पहला मामला 1986 में चेन्नई में सामने आया।

जोधपुर के एआरटी सेंटर कब कितने नए रोगी आए

वर्ष     रोगी

2007  1621

2008  1694

2009  1729

2010  1654

2011  1671

2012  1421

2013  900

2014  948

2015  783

2016  1600

-

दुनिया भर में एड्स की स्थिति

3.67 करोड़ लोग एचआईवी पीडि़त है दुनिया में

80 लाख बच्चे हैं जो 15 साल से कम उम्र के हैं

1.78 करोड़ महिलाएं है एचआईवी से पीडि़त

5700 लोगों को प्रतिदिन नया संक्रमण होता है

3000 लोग प्रतिदिन एड्स से मरते हैं

70 फीसदी एड्स के मामलों में कमी आई है

भारत में एचआईवी की स्थिति

21 लाख लोग पीडि़त है भारत में एचआईवी से

9 लाख से अधिक रोगी पंजीकृत हैं एआरटी सेंटर पर

86000 नए संक्रमण हुए पिछले साल

68000 रोगियों की हो चुकी है एड्स से मौत

1986 में भारत में एचआईवी का पहला मामला सामने आया था

3 नम्बर है भारत दुनिया में एचआईवी रोगियों के मामले में

जोधपुर में एचआईवी की स्थिति

22 हजार एचआईवी रोगी है जोधपुर व आसपास के इलाकों में

10 हजार से अधिक रोगी पंजीकृत है एआरटी सेंटर जोधपुर में

3 हजार रोगियों का नियमित इलाज चल रहा है एआरटी सेंटर पर

40 रोगी हर महीने नए पंजीकृत होते हैं एआरटी में

1704 रोगियों की एड्स से हो चुकी है मौत

...

Latest Videos from Rajasthan Patrika

rajasthanpatrika.com

Bollywood