Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

जोधपुर के एक शौहर ने यूं भेजा बीवी को तलाक का फरमान, जानकर चौंक जाएंगे आप!

Patrika news network Posted: 2017-05-18 19:13:22 IST Updated: 2017-05-18 19:13:22 IST
  • आज देशभर में सबसे बड़े मुद्दों में ट्रिपल तलाक छाया हुआ है। इसके लिए जहां सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है। वहीं जोधपुर के एक शौहर ने अपनी बीवी को इस तरह तलाक का फरमान भेजा कि जानने वाले भी भौचक्के रह गए।

जोधपुर

देश में जहां तीन तलाक पर मामला गर्माया हुआ है तथा सुप्रीम कोर्ट में भी प्रतिदिन सुनवाई हो रही है। इस बीच जोधपुर में भी तीन तलाक का मामला सामने आया है। युवक ने कागज पर तलाक-तलाक-तलाक लिख पीहर में पत्नी को नोटिस भेजकर नाता तोड़ लिया। अब महिला ने पुलिस की शरण ली और महिला थाना (पश्चिम) में बुधवार को पति व ससुराल पक्ष के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई। वह गत एक माह से आठ माह के पुत्र के साथ पीहर में रह रही है।


ये 'मौसी' मानव तस्करी कर बच्चों से करवा रही थी ये काम, जोधपुर में चल रहे इस खेल को जान कांप उठेगी रूह

प्रतापनगर सेक्टर 1 बी निवासी शगुफ्ता मोदी की शादी 2014 में घासमण्डी निवासी अब्दुल कलाम उर्फ रिजवान से हुई थी। उसे आठ महीने का एक पुत्र है। दो-तीन महीने पहले दोनों में विवाद शुरू हो गया। गत अप्रेल में शगुफ्ता पीहर चली गई। पीहर पहुंचते ही पति रिजवान ने डाक से नोटिस भेजा, जिसमें उसने कागज पर तलाक-तलाक-तलाक लिखकर शगुफ्ता से नाता तोडऩे के बारे में लिखा था। शगुफ्ता के परिजन ने अपने स्तर पर बातचीत से मामला सुलझाने के प्रयास किए, लेकिन पति व ससुराल पक्ष अड़े रहे। तब पीडि़ता ने महिला थाना (पश्चिम) में पति के खिलाफ लिखित शिकायत दी। जिसमें दहेज के लिए प्रताडि़त करने और तलाक-तलाक-तलाक लिखकर नोटिस भेज नाता तोडऩे का आरोप लगाया।


शादी के घर में खुशियों को लगा ग्रहण, गैस सिलेंडर फटने से स्वाहा हुई अरमानों की डोली

पति व सास तलाक देने पर अड़े

महिला थानाधिकारी पाना चौधरी ने दोनों पक्षों को काउंसलिंग से घर बसाने के प्रयास किए। पति व सास ने आरोप लगाए कि शगुफ्ता का व्यवहार काफी तेज है। जिसके चलते वह उसे नहीं रख सकते। पुलिस ने समझाइश की कोशिश की, लेकिन दोनों अड़े रहे। पीडि़ता की तरफ से पति अब्दुल कलाम उर्फ रिजवान, सास, ससुर, ननदें व देवर आदि के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। आरोपी पति सांगरिया क्षेत्र में साडि़यों की दुकान में काम करता है।


इसने दिनदहाड़े जोधपुर में चलाईं थी गोलियां, पुलिस की गिरफ्त में आया फरार आरोपी

सहमति से शादी तो फिर तलाक एक पक्ष से कैसे?


गोद में आठ माह के पुत्र सुरेम को उठाए न्याय के लिए घूम रही पीडि़ता ने सवाल उठाया कि युवक-युवती की रजामंदी से ही निकाह होता है। तो फिर एक पक्ष कैसे किसी को तलाक दे सकता है। मासूम सुरेम का क्या दोष है?

rajasthanpatrika.com

Bollywood