Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

इस कुख्यात गैंगस्टर को पकडऩे के लिए जोधपुर पुलिस ने बिछाया जाल, यूं हुआ फेल, जाने पूरा माजरा

Patrika news network Posted: 2017-07-17 08:16:48 IST Updated: 2017-07-17 08:16:48 IST
  • जोधपुर में दिनोंदिन बढ़ रहे अपराध पर शिकंजा कसने की पुलिस की तमाम कोशिशें विफल होती नजर आ रही हैं। एेसा ही एक वाक्या कल हुआ। जब पुलिस ने इस कुख्यात गैंगस्टर को पकडऩे के लिए जाल बिछाया लेकिन इस प्लान का हुआ ये अंजाम....

जोधपुर

'तू डाल-डाल तो मैं पात-पात।' यह कहावत पुलिस व अपराधियों में उस समय सटीक साबित हुई जब पुलिस ने राकेश को पकड़ लिया। वह काफी घबरा गया। पुलिस की सख्ती से उसके पसीने छूट गए। पुलिस ने इनामी अपराधी कैलाश मांजू तक पहुंचने के लिए राकेश के मोबाइल से व्हाट्सएप पर वीडियो कॉल कराई। चचेरे भाई राकेश का व्हाट्सएप पर वीडियो कॉल आते ही कैलाश ने बात शुरू की। पुलिस कुछ ही दूरी पर घेरा बनाकर खड़ी सुन रही थी।


बढ़ते अपराध ना जोधपुर का मिजाज और ना कानून का राज, पुलिस से ये चाहते हैं शहरवासी..


मोबाइल की स्क्रीन पर वह अकेला ही दिख रहा था। वह पुलिस के मनमाफिक कुछ बोल पाता उससे पहले ही चेहरे पर पसीना व बात करने के लहजे में घबराहट देख कैलाश को संदेह हो गया। उसने वजह भी पूछी, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। तब कैलाश ने उससे कहा कि इसका मतलब वह पुलिस के हाथ लग गया है। इतना कह कर उसने वीडियो कॉल काट दिया। पुलिस ने तुरन्त दुबारा व्हॉट्एप कॉल लगाया, लेकिन तब तक कैलाश ने स्विच ऑफ कर दिया और पुलिस उस तक पहुंचती-पहुंचती रह गई।


जोधपुर में हिस्ट्रीशीटर पर फायरिंग करने के आरोपी ने इस गैंगस्टर के इशारे पर चलाई थी गोली, यूं धरा गया


ग्रामीण क्षेत्रों में कई ठिकानों पर दबिश

राकेश के पकड़ में आने के बाद पुलिस को उसके साथी व मोटरसाइकिल के अलावा कैलाश मांजू की तलाश है। पुलिस की अलग-अलग टीमों ने जोधपुर ग्रामीण के भीमसागर व अन्य ठिकानों पर दबिशें दी, लेकिन सहयोगी पकड़ में नहीं आया।

rajasthanpatrika.com

Bollywood