Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

महापड़ाव में भीड़ देख घुस गए जेबकतरे, फिर जो किसानों ने किया.. आप खुद ही देखें

Patrika news network Posted: 2017-06-16 16:25:25 IST Updated: 2017-06-16 16:25:25 IST
  • जोधपुर संभाग मुख्यालय पर अपनी मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे किसानों को शुक्रवार को एक अजीब सी समस्या से दो चार होना पड़ा।

जोधपुर

जोधपुर संभाग मुख्यालय पर अपनी मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे किसानों को शुक्रवार को एक अजीब सी समस्या से दो चार होना पड़ा। इधर तो वे अपनी मांगों को लेकर दो दिनों से अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे और उधर इस भीड़ को देख कुछ समाजकंटकों ने मौके का फायदा उठाना चाहा। प्रदर्शन कर रहे इन किसानों की भीड़ में दो जेबकतरे घुस आए और किसानों की जेबें काटने लगे। तभी कुछ सजग किसानों की इन पर नजर चली गई और इन दोनों युवकों को रंगे हाथों पकड़ लिया गया। कलेक्ट्रेट पर हालांकि भारी संख्या में पुलिस जाब्ता मौजूद था, लेकिन किसानों ने खुद ही उन दोनों से हिसाब किताब पूरा कर लिया।


READ MORE- जोधपुर में किसान संघ ने दिया दो दिन का अल्टीमेटम, मांगें नहीं मानी तो करेंगे कुछ एेसा

अचानक मची अफरा तफरी से पुलिस जब इनके पास पहुंची तो उन्हें जेबकतरों के बारे में पता चला। किसानों ने दोनों को अच्छे से सबक सिखा कर पुलिस को सौंप दिया। इस घटना के बाद काफी देर तक किसानों के बीच ये बात चर्चा का विषय बनी रही।


READ MORE- किसान महापड़ाव : जोधपुर की सड़कों पर किसानों ने बिताई रात, सुबह फिर भरी हुंकार

आपको बता दें कि संभाग भर के किसानों के महापड़ाव को देखते हुए पुलिस ने पुख्ता बंदोबस्त किए थे। जिला कलक्टर कार्यालय के चारों तरफ हर गली-नुक्कड़ पर पुलिस अधिकारी के साथ जवान तैनात थे। दोपहर तक किसानों से अधिक पुलिस नजर आ रही थी। कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए महापड़ाव स्थल पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। ड्रॉन से किसानों की हर गतिविधि पर नजर रखी गई। पुलिस ने 70 से 80 मीटर ऊंचाई से वीडियो के साथ-साथ फोटो भी लिए। इसके साथ ही पुलिस के फोटोग्राफर व कांस्टेबल पल-पल की गतिविधि कैमरे में कैद करते रहे।


READ MORE- जोधपुर में किसानों ने जाम किया रास्ता, पुलिस की फूली सांसें

जिले के बाहरी नाकों से पल-पल की सूचना

महापड़ाव में बड़ी तादाद में किसानों के पहुंचने की संभावना के चलते पुलिस ने विशेष इंतजाम किए थे। महापड़ाव स्थल ही नहीं किसानों के पुलिस कमिश्नरेट सीमा में प्रवेश करने के साथ ही नजर रखी गई। मथानिया, करवड़, कांकाणी, झंवर व धवा और डांगियावास में नाके बनाए गए, जहां से किसानों के वाहन क्रॉस होते ही पुलिस कन्ट्रोल रूम को सूचित कर दिया जाता और फिर वायरलैस सैट पर हर अधिकारी को जानकारी दी गई।


READ MORE- किसान महापड़ाव: जोधपुर कलेक्ट्रेट छावनी में तब्दील, संभाग भर से पहुंचे हजारों किसान


हर गली व नुक्कड़ पर अधिकारी-जाब्ता

महापड़ाव के मद्देनजर कानून-व्यवस्था के लिए नौ सौ से अधिक पुलिस जवान और यातायात के लिए एक सौ जवान तैनात किए गए। जिला कलक्टर कार्यालय के चारों तरफ हर गली व नुक्कड़ पर अधिकारी के साथ तीन-चार जवान मुस्तैद रहे। नई सड़क चौराहे से कृषि मण्डी चौराहे तक जगह-जगह पुलिस तैनात रही। इतना ही नहीं, महावीर उद्यान में चल रहे रसोड़ों तक पर पुलिस की नजर रही।

rajasthanpatrika.com

Bollywood