Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

किसान महापड़ाव : जोधपुर में किसानों के लिए सड़कें बनी आशियाना तो पार्क रसोई

Patrika news network Posted: 2017-06-15 16:58:54 IST Updated: 2017-06-15 16:58:54 IST
  • सुबह से ही कलक्ट्रेट पर पड़ाव डालने वाले किसानों ने दोपहर में रसोड़े का आयोजन किया। इसमें राजस्थान की पारंपरिक दाल, बाटी और चूरमा बनाया गया।

जोधपुर

भारतीय किसान संघ के नेतृत्व में हजारों किसान अपनी मांगों को लेकर संभाग स्तरीय अनिश्चितकालीन आंदोलन के लिए गुरुवार सुबह कलक्ट्रेट पर पड़ाव डालना शुरू किया। इस आंदोलन को देखते हुए पुलिस व प्रशासन ने भी अपनी कमर कस ली। सुबह से ही कलक्ट्रेट पर पड़ाव डालने वाले किसानों ने दोपहर में रसोड़े का आयोजन किया। इसमें राजस्थान की पारंपरिक दाल, बाटी और चूरमा बनाया गया। इसमें भाग लेने आए किसानों ने जमकर जीमा और फिर आंदोलन में जुट गए। इसमें भाग लेने के लिए जोधपुर के ग्रामीण क्षेत्रों से भी कई किसान बंधु जुटे। फलोदी से किसानों के जत्थे भी रवाना हुए।


किसान आंदोलन: जोधपुर में बोले नेता, यह सिर्फ 'राजनीतिक स्टंट' है

उल्लेखनीय है कि संभागभर से बड़ी तादाद में किसानों के आने की संभावना के चलते जोधपुर पुलिस कमिश्नरेट ने पाली, जालोर, सिरोही, जैसलमेर व जोधपुर जिला ग्रामीण पुलिस से अतिरिक्त जाब्ता मंगवाया है। सिरोही से दो उपाधीक्षकए दो निरीक्षक, दो उप निरीक्षक, जोधपुर ग्रामीण से दो उपाधीक्षक, दो निरीक्षक, दो उप निरीक्षक व 25 जवान, जैसलमेर से एक उपाधीक्षक, एक निरीक्षक व तीन उप निरीक्षक और पाली-जालोर से 25-25 जवान बुलाए गए हैं। इसके अलावा जोधपुर रेंज से आरएसी के 75 जवानों की एक कम्पनी व प्रथम बटालियन आरएसी की 150-150 जवानों की बी व जी कम्पनी एसटीएफ बुलाई गई है।

धरतीपुत्रों ने भरी हुंकार, जोधपुर कलक्ट्रेट के आस-पास पुलिस ने की 'किलेबंदी'

डीसीपी पूर्व डॉ अमनदीप सिंह कपूर ने अन्य अधिकारियों के साथ बुधवार शाम महापड़ाव स्थल व आस-पास के क्षेत्र की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने महावीर उद्यान में सभी अधिकारियों की बैठक ली और व्यवस्थाओं के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पर्याप्त सुरक्षा बंदोबस्त रहेगा

rajasthanpatrika.com

Bollywood