Breaking News
  • उदयपुर: फर्जी कंडक्टर को पकड़ा,अभिरक्षा में भेजा
  • जैसलमेर : पोकरण में आयकर विभाग की कार्रवाई, दस्तावेजों की जांच में जुटी है टीम
  • भरतपुर: कुबेर में मरीज को दिखाने अस्पताल आए व्यक्ति की बाइक हुई चोरी
  • भीलवाड़ा: करेड़ा कस्बे में फिर बढ़ाई धारा 144, अब 4 अप्रेल तक रहेगी लागू
  • नागौर: कांकरिया पम्प हाउस के विद्युत कनेक्शन में फॉल्ट, आधे शहर में 3 दिन से पेयजलापूर्ति बाधित
  • जोधपुर: मार्च लेखाबंदी के कारण आज से जीरा मंडी में नहीं होगा व्यापार
  • सीकर:खातीवास में पैंथर की सूचना से इलाके में दहशत
  • जयपुर-एसओजी ने गलता गेट स्थित गोदाम पर छापा, पकड़ा भारी मात्रा में विस्फोटक
  • जोधपुर- हाईकोर्ट ने किए तीस न्यायिक अधिकारियों के तबादले
  • बीकानेर- दो साल से कर रहे थे दुष्कर्म, निजी स्कूल के आठ शिक्षकों पर मामला दर्ज
  • धोेलपुर- विशेष निगरानी दल व पुलिस ने ग्वालियर से आगरा जा रही स्कॉर्पियो से पकड़ी 35 लाख की नगदी
  • सीकरः सड़क हादसे में बाइक सवार घायल, नीमकाथाना के टोडा में हादसा
  • हनुमानगढ़- पीलीबंगा में दवा विक्रेता के घर से नशीली दवा बरामद, पुलिस ने आरोपित की दुकान की सीज
  • सीकरः कांवट में बस की चपेट में आने से बाइक सवार घायल, बस चालक मौके से फरार
  • अलवरः लक्ष्मणगढ़ में जनरल स्टोर में लगी आग, दुकान में रखा हजारों रुपए का सामान खाक
  • भुसावर-स्टेट हाइवे पर देर रात बाइक फिसलने पर चार लोग घायल, अस्पताल में भर्ती
  • कोटा- यूडी टैक्स जमा करने के लिए शनिवार-रविवार को भी खुला रहेगा नगर निगम दफ्तर
  • श्रीगंगानगर- महाराष्ट्र के चिकित्सकों के समर्थन में निजी व सरकारी अस्पतालों के डॉक्टरों ने काली पट्टी बांधकर जताया रोष
  • जैसलमेर- पोकरण में अखिल भारतीय पुष्टिकर सेवा परिषद का दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन, देश भर से पंहुचे पुष्करणा समाज के लोग
  • श्रीगंगानगर- पंचायत उपचुनाव कल, दो वार्ड पंचों का होगा निर्वाचन, मतदान दल रवाना
  • ओसियां (जोधपुर)- जनता जल योजना के तहत पांच नलकूपों के लिए 52.46 लाख की मंजूरी
  • वैर (भरतपुर)- गाजे बाजे के साथ रवाना हुए कैला देवी दर्शन के लिए 11वीं पदयात्रा, भजनों की धुनों पर नाचते-गाते करौली जा रहे हैं पदयात्री
  • अजमेरः हटुंडी रेलवे स्टेशन के पास ट्रेन की चपेट में आने से युवक की मौत
  • कोटाः जगपुरा में डंपर ने बालक को कुचला, मौके पर ही मौत
  • अलवर- सरिस्का के माधोगढ़ में बघेरे को जलाकर मारने के विरोध में वन्यजीव प्रेमियों ने निकाला मौन जुलूस
  • अजमेर- माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के रद्दी घोटाले में लम्बे अरसे से फरार चार आरोपित आगरा से गिरफ्तार
  • कामां-ट्रांसफार्मर में फिर लगी आग, कस्बे के कई हिस्सों में बिजली रही गुल
  • जैसलमेरः नाचना में घर के बाहर खड़ा ट्रैक्टर चोरी
  • बांदीकुई-राजगढ़ रेलमार्ग पर जयसिंहपुरा फाटक के पास मृत मिला सेना का जवान
  • भरतपुर-रूपवास के जगनेर मार्ग पर जीप पलटी, एक की मौत, एक घायल
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

वीडियो :रियल लाइफ में दर्द छुपाते दिखे रील life के बहादुर

Patrika news network Posted: 2017-01-28 10:49:59 IST Updated: 2017-01-28 10:51:24 IST
वीडियो :रियल लाइफ में दर्द छुपाते दिखे रील life के बहादुर
  • फिल्मी दुनिया के सितारों का वास्तविक दुनिया की अदालत से सामना हुआ तो वे असहज हो गए। वे टकटकी लगा कर अदालत की कार्रवाई देखते रहे। नीलम और तब्बू की कई बार आंखें भर आईं। प्यास भी लगी। वे चुपचाप कभी पीठासीन अधिकारी के सवाल सुनतीं तो कभी वकीलों की ओर देखती रहीं।

जोधपुर

कोर्ट परिसर में फिल्मी सितारों के आने से पहले सामान्य कामकाज नहीं हो सका। करीब 11.20 बजे तक सभी सितारे कोर्ट पहुंचे। उस समय सह आरोपी दुष्यंत सिंह के बयान मुल्जिम हो रहे थे। इस दौरान वे आपस में बतियाते रहे।

तब्बू की आंखें भर आई

जोधपुर कोर्ट में पेशी के लिए आए सलमान और सोनाली ने इशारों में कुछ बात की फिर दोनों मुस्कुरा दिए। तब्बू अपने वकील मनीष सिसोदिया से चर्चा करती रहीं। कोर्ट ने दुष्यंत के बाद, पहले सलमान खान, फिर सैफ अली खान, नीलम, तब्बू और अंत में सोनाली बेन्द्रे के बयान दर्ज किए। इस दौरान कई बार नीलम और तब्बू की आंखें भर आई। फिर उन्होंने खुद पर नियंत्रण किया।

वकील ने जाति इंडियन बताई

 सलमान खान से कोर्ट ने बयान से पहले नाम और जाति पूछी तो सलमान ने खुद की जाति हिन्दू और मुस्लिम दोनों बताई। बाद में उनके वकील ने जाति इंडियन बताई। बयान के दौरान हस्तीमल सारस्वत द्वारा सलमान की मदद करने पर अभियोजन पक्ष ने आपत्ति जताई।

बयान होते ही चले गए

अभियोजन अधिकारी भवानीसिंह भाटी भी बयान मुल्जिम के दौरान मौजूद रहे। सलमान और सैफ अली खान अपने बयान होते ही कोर्ट से चले गए। जबकि तीनों अभिनेत्रियां अपने बयान होने के बाद एक साथ कोर्ट से निकलीं।

34 मिनट तक चले सलमान के बयान

अदालत की समस्त कार्रवाई में 2 घण्टा 40 मिनट लगे। सलमान ने 21 पृष्ठीय बयान मुल्जिम देते समय 35 बार 'पता नहीं। सारी कार्रवाई झूठी है।Ó का प्रयोग करते हुए बयान दिए। सलमान से कुल 64 सवाल पूछे गए और बाकी पांच आरोपियों से 61 सवाल पूछे गए।

किसने क्या पहना

कोर्ट परिसर में कड़ी सुरक्षा के बीच सलमान खान आसमानी शर्ट और काली पेन्ट में, सैफ  अली खान सफेद कुर्ता-पायजामा के साथ अचकन पहन कर आए थे। तब्बू ने लम्बी फ्रॉक, नीलम ने जीन्स व कुर्ते के साथ मफलर डाल रखा था। सोनाली बेन्द्रे क्रीम कलर का लखनवी कुर्ता-पायजामा पहनकर उपस्थित हुईं। अदालत में सलमान व सैफ अलग-अलग और तीनों अभिनेत्रियां एक साथ एक गाड़ी में आईं।

हम साथ-साथ नहीं हैं..!

बयान देने के बाद सिने स्टारों ने अपने-अपने हस्ताक्षर कर अदालत को छोड़ा। सबसे पहले सलमान अदालत से निकले, सैफ  अली खान ने नजर का चश्मा लगा कर दिए गए बयानों पर हस्ताक्षर किए और तीनों अभिनेत्रियां साथ ही आईं और साथ ही गईं।

सैफ की नवाबी अकड़

छोटे नवाब सैफ अली खान की नवाबी अकड़ अदालत में भी नहीं गई। सुनवाई के दौरान वह अपने आप को 'खासÓ प्रदर्शित करते रहे। सुनवाई के बाद वह सोनाली के गले लग कर विश करते हुए जाने लगे तो एक वकील के नजदीक आने पर गुस्से में वकील के कंधे पकड़कर जोर से बाहर की तरफ धक्का ही मार दिया।

बंद किया अदालत का दरवाजा!

सुरक्षा के नाम पर उदयमन्दिर थाने के इंस्पेक्टर जितेन्द्रसिंह ने बिना पीठासीन अधिकारी के जानकारी में लाए अदालत के गेट भीतर से बंद कर दिए, जो कि विधि विपरीत था और सुरक्षा के नाम पर सलमान व अन्य आरोपियों के अधिवक्ताओं को भी भीतर जबरदस्ती आने दिया, लेकिन आरोपियों के साथ आए उनके बॅाडीगार्ड व रिश्तेदारों को अदालत परिसर में बिना कोई काम के अंदर जाने की अनुमति दे दी गई। जिसमें सलमान के बॉडीगार्ड शेरा के अलावा उसकी बहन अलवीरा शामिल थी।

अदालत में मोबाइल

अदालत की कार्रवाई के दौरान सलमान के बॉडीगार्ड शेरा के कहने पर पुलिसकर्मियों ने जबरन दो अधिवक्ताओं के मोबाइल की जंाच की। यह बात भी दीगर है कि सुरक्षा के नाम पर अदालत में वकीलों पर चिल्ला रहे जितेन्द्रसिंह का मोबाइल भी अदालती कार्रवाई के दौरान बज उठा।

तीन मामलों में बरी हो चुके हैं सलमान

वर्ष 1998 में सलमान खान के खिलाफ कुल चार प्रकरण दर्ज हुए थे। जिनमें से तीन मामलों में सलमान खान बरी हो चुके हैं। शिकार के तीन मामलों में से भवाद प्रकरण में उन्हें एक साल व घोड़ा फार्म हाउस प्रकरण में पांच साल की सजा सुनाई गई थी। इन दोनों मामलों में राजस्थान हाईकोर्ट ने उन्हें बेगुनाह ठहराते हुए बरी कर दिया। हालांकि दोनों मामलों में राज्य सरकार हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची है। जहां पर सरकार की विशेष अनुमति याचिका (एसएलपी) विचाराधीन है। 

कांकाणी हरिण शिकार प्रकरण ही अब विचाराधीन 

अवधिपार हथियार रखने और उनसे शिकार करने के आरोप में आम्र्स एक्ट के तहत दर्ज मामले में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (जोधपुर जिला) ने ही गत 18 जनवरी को सलमान खान को बरी कर दिया था। कांकाणी हरिण शिकार प्रकरण ही अब विचाराधीन है।

इनका कहना है...

'सलमान खान ने अपने बयान में साफ कहा है कि उसे झूठा फंसाया गया है। हमने साक्ष्य सफाई के लिए अवसर चाहा था। कोर्ट ने 15 फरवरी तक बचाव में गवाह पेश करने की मोहलत दी है।

- हस्तीमल सारस्वत, सलमान के वकील

गलत फंसाया गया था

'शिकार मामले में फिल्मी सितारों को गलत फंसाया गया था। बयान मुल्जिम में सभी ने आरोपों को झूठा बताया है। हमने बचाव में और कोई साक्ष्य पेश करने का अवसर नहीं मांगा है।

- के.के. व्यास, सैफ अली खान, सोनाली व नीलम के वकील

ढाई घण्टे चली अदालत की कार्रवाई

11.10 बजे - मुल्जिम दुष्यंत सिंह के बयान शुरू।

11.21 बजे - सलमान, सैफ अली खान, तब्बू, नीलम व सोनाली बेन्द्रे अदालत में हाजिर।

11.40 बजे - सलमान खान के बयान शुरू।

12.14 बजे - सलमान खान के बयान खत्म।

12.18 बजे - सैफ अली खान के बयान शुरू।

12.40 बजे - सैफ अली खान के बयान खत्म।

12.42 बजे - नीलम के बयान शुरू।

1.03 बजे - नीलम के बयान खत्म।

1.05 बजे - तब्बू के बयान शुरू।

1.22 बजे - तब्बू के बयान खत्म।

1.23 बजे - सोनाली के बयान शुरू।

1.38 बजे - सोनाली के बयान खत्म। 


rajasthanpatrika.com

Bollywood