Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

हे, भगवान! जोधपुर को लगी किसकी नजर, साल बदलने के बाद सिलसिलेवार हो रही फायरिंग की वारदातें

Patrika news network Posted: 2017-06-20 11:55:46 IST Updated: 2017-06-20 11:55:46 IST
  • साढ़े तीन महीने बाद जोधपुर में फिर अंधाधुंध फायरिंग से पूरा शहर दहशत में है और उधर पुलिस के पास रोकथाम की योजना तक नहीं है। एेसे में अपराधियों के हौंसले चरम पर हैं और शहर के लोग डरे सहमे पुलिस से ही आस लगाए बैठे हैं।

जोधपुर

रंगदारी के लिए ट्रैवल्स मालिक व चिकित्सक के मकान पर अंधाधुंध फायरिंग के ठीक साढ़े तीन महीने बाद एक बार फिर शहरवासी और व्यवसायी दहशत में आ गए हैं। इसे पुलिस की नाकामी कहें या अदूरदर्शिता कि पिछली वारदातों के बाद चार बदमाश तो पकड़ लिए, लेकिन फायरिंग की पुनरावृत्ति रोकने के लिए कोई प्रयास तक नहीं किए गए। फलस्वरूप बदमाश फायरिंग कर पुलिस को खुली चुनौती दे रहे हैं।


READ MORE: साढ़े 3 महीने बाद जोधपुर में फिर सनसनीखेज वारदात, हेलमेट पहने शूटर ने शोरूम में की ताबड़तोड़ फायरिंग

भीड़-भाड़ वाले बाजार में दहशत

ईद के मद्देनजर शहर के बाजार में चहल-पहल शुरू हो गई है। फायरिंग के दौरान भी सरदारपुरा सी रोड पर भीड़-भाड़ थी। थाने से कुछ ही दूर शोरूम में एक व्यवसायी पर अंधाधुंध सात गोलियां चला दी और साथी के साथ भाग निकला। खरीदारी करने आए लोगों में ही नहीं, दुकानदारों में भी खौफ व्याप्त हो गया।


महज चार आरोपी पकड़कर बैठ गई पुलिस

गत चार मार्च और फिर सत्रह मार्च को मनीष जैन व डॉ. सुनील चाण्डक के मकान पर फायरिंग के मामले में पुलिस पंजाब के गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई, खुडाला निवासी विष्णु बिश्नोई और पंजाब के दो शूटर जग्गा व मनदीप को ही गिरफ्तार कर पाई है। जबकि फायरिंग के मुख्य आरोपी माने जा रहे कैलाश मांजू का अभी तक पता नहीं लग पाया है। न ही तीन अन्य शूटर को पुलिस पकड़ पाई है।


READ MORE: क्या अब कभी जोधपुर में होंगे इंटरनेशनल व आईपीएल मैच... जानें क्या बोले आरसीए सचिव


सोशल मीडिया पर वायरल हुए फुटेज

मोबाइल व इलेक्ट्रोनिक शोरूम के अंदर व बाहर सीसीटीवी कैमरे लगे थे। शोरूम के अंदर लगे फुटेज में फायरिंग करने वाले के फुटेज सोशल मीडिया पर वायरल हो गए।

फुटेज में नकाब से शूटर की पहचान के प्रयास

गोलियां बरसाने वाले युवक ने हेलमेट के नीचे सफेद कपड़ा मुंह पर लपेट रखा था। जो अमूमन कुछ खास वर्ग के युवक ही अधिक पहनते हैं। जबकि मोटरसाइकिल पर चील का निशान भी होने का पता लगा है। इन दोनों के आधार पर पुलिस दोनों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। शोरूम कर्मचारियों से भी पुलिस पूछताछ कर रही है।

ट्रैवल्स मालिक व डॉक्टर के मकान पर हुई थी फायरिंग

पंजाब के गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के गुर्गे गत चार मार्च को कल्पतरू के पास स्थित जैन ट्रैवल्स में घुसे थे। हथियार नहीं चलने से गोली नहीं चला पाए थे। ठीक तेरह दिन बाद 17 मार्च की तड़के समन्वय नगर स्थित डॉ सुनील चाण्डक और सेक्टर सात स्थित जैन ट्रैवल्स मालिक मनीष जैन के मकान पर अंधाधुंध फायर किए थे। मनीष जैन की मर्सडीज भी जला दी थी।

रंगदारी के लिए हो सकता है टारगेट

सूत्रों की मानें तो ट्रैवल्स मालिक व चिकित्सक के मकान पर फायरिंग के बाद शहर के कई व्यवसायी रंगदारी वसूलने के लिए कुछ गिरोह के निशाने पर हैं। इनमें वासु भी हो सकता है।गोलियां चली हैं, तलाश की जा रही है


READ MORE: राजस्थान पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन बोली, जोधपुर संभाग में पेट्रोल-डीजल की बिक्री होगी बंद..!

'शोरूम में हेलमेट व नकाब पहने युवक ने गोलियां चलाईं हैं। कोई हताहत नहीं हुआ है। मौके से तीन खाली राउण्ड मिले हैं। शूटर की तलाश में नाकाबंदी की जा रही है। व्यवसायी के पास वसूली के लिए किसी का फोन नहीं आया है।' -भूपेन्द्र सिंह, थानाधिकारी, सरदारपुरा जोधपुर।

rajasthanpatrika.com