Breaking News
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

बड़े काम का है ये 'बडी', आप भी डाउनलोड करें

Patrika news network Posted: 2016-11-30 10:43:04 IST Updated: 2016-11-30 10:43:04 IST
बड़े काम का है ये 'बडी', आप भी डाउनलोड करें
  • स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने कैशलेस बैकिंग की दिशा में पहल की है। इस बैंक ने करीब 300 यूजर्स के मोबाइल में 'एसबीआई बडी' एप्लीकेशन डाउनलोड करवाया है।

जोधपुर

नोटबंदी के बाद बैंकों व एटीएम पर लंबी कतारों से लोगों को 21 दिन बाद भी राहत नहीं मिल पाई है, इसकी एक वजह आमजन में कैशलेस बैंकिंग न होना भी है।

कैशलेस बैंकिंग पर जोर

केन्द्र सरकार भ्रष्टाचार मिटाने के लिए आमजन में लेनदेन की पारंपरिक प्रक्रिया से हटकर तकनीकी का प्रयोग करते हुए कैशलेस बैंकिंग पर जोर दे रही है, जिससे बैंकिंग सहित रोजमर्रा के सभी लेनदेन संबंधी कार्य मोबाइल फोन से ऑनलाइन और स्मार्ट तरीके से हो जाए।

आमजन को रूबरू करवाने का कार्य

इसी कड़ी में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने कैशलेस बैंकिंग की ओर पहल की और अपने एप्लीकेशन 'एसबीआई बडी' से आमजन को रूबरू करवाने का कार्य शुरू किया है।एसबीआई की ओर से मंगलवार को मण्डोर रोड स्थित पुलिस ट्रेनिंग स्कूल में विशेष कैम्प आयोजित किया गया।

एप्लीकेशन यूज करने की प्रक्रिया

एसबीआई के एजीएम रविन्द्र मिश्रा ने बताया कि कैम्प में एसबीआई के आईटी विशेषज्ञों ने 130 प्रशिक्षु महिला-पुरुष जवानों के मोबाइल पर 'एसबीआई बडी' एप्लीकेशन डाउनलोड करवाकर एप्लीकेशन करने की प्रक्रिया की जानकारी दी। इसके अलावा, अन्य क्षेत्रों में करीब 170 लोगों को 'एसबीआई बडी' एप्लीकेशन डाउनलोड कराया गया।

जरूरी व उपयोगी

मिश्रा ने बताया कि इस एप्लीकेशन के उपयोग करने से ट्रांजेक्शन आसानी से होगा। एसबीआई ने करीब एक साल पहले इस एप्लीकेशन को लांच किया, लेकिन अब तक इसे यूज करने की लोगों की समझ नहीं थी। अब एक पहल की है, जिससे लोगों को जानकारी मिलेगी और अधिकाधिक लोग इसका उपयोग करेंगे।

कैशलेस वॉलेट है

'एसबीआई बडी' एप्लीकेशन स्मार्ट फोन पर काम करने वाला एप्लीकेशन है। यह एक कैशलेस वॉलेट है। इसका उपयोग रोजमर्रा की खरीदारी जैसे मोबाइल बिल्स का भुगतान करने, रेलवे, बस, और होटल के बिल का भुगतान सहज ही किया जा सकता है। यह यूजर फ्रेण्डली सॉफ्टवेयर है।

'नो क्यू' एप्लीकेशन भी

मिश्रा ने बताया कि एसबीआई की ओर से क्यू मैनेजमेंट सिस्टम (क्यूएमएस) कार्य कर रहा है। अब एक नया एप्लीकेशन 'नो क्यू' भी आया है। जिससे ग्राहक को मोबाइल पर डाउनलोड करते ही मालूम हो जाएगा कि उसका बैंक में कब नम्बर आएगा, इस हिसाब से ही वे अपने घर से निकलें, ताकि बैंक में उसका समय व्यर्थ लाइन में बर्बाद न हो। इस एप्लीकेशन के माध्यम से वह अपने नम्बर के अनुसार ही बैंक आएगा और उसका काम हो जाएगा।


Latest Videos from Rajasthan Patrika

rajasthanpatrika.com

Bollywood