Breaking News
  • चित्‍तौड़गढ़ : निम्बाहेडा में अवैध रुप से गोवंश ले जाते दाे ट्रक जब्‍त, एक ग‍िरफ्तार एक फरार
  • प्रतापगढ़:पानी और सफाई की मांग पर महिलाओं का गुस्सा फूटा, मिनिसचिवालय पर प्रदर्शन किया
  • चूरू: एसबीबीजे बैंक में अज्ञात ने बैग में चीरा लगाकर निकाले 50 हजार रुपए
  • जोधपुर:भोपालगढ़ की अरटिया कलां सरपंच के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज, सार्वजनिक चौक की जमीन की खुर्द बुर्द
  • अलवर: लूटपाट और दर्जनों ATM काटने में आरोपी को किया हथियार सहित गिरफ्तार
  • जयपुर:डोटासरा ने की विधायक मेघवाल, आनंदपाल और अन्य प्रकरणों की जांच सदन में रखने की मांग
  • जयपुर :अवैध सब्जी मंडी हटाने को लेकर वैशाली मार्ग पश्चिम व्यापार मंडल का प्रदर्शन
  • जयपुर: शाहपुरा में एम्बुलेंस और हरियाणा रोडवेज़ बस में भिड़ंत,आधा दर्जन लोग घायल
  • हनुमानगढ़: दहेज हत्या में पति और सास-ससुर को दस साल की सजा, गांव सलेमगढ़ मसानी का मामला
  • करौली: पांचना बांध में डूबने से दो जनों की मौत
  • पाली:जैतारण के गरनिया में वृद्धा के गले से सोने की कंटी लूटी
  • भीलवाड़ा: नाबाल‍िग से छेड़छाड़ के मामले मेें समुदाय व‍िशेष का युवक ग‍िरफ्तार
  • सवाईमाधोपुर: बाल कल्याण समिति से भागे बालक-बालिका
  • जोधपुर : टेकरा में डिस्कॉम के तकनीकी सहायक के साथ मारपीट, चिकित्सालय में भर्ती
  • जयपुर : योगा और प्राकृतिक चिकित्साधिकारी की होगी सीधी भर्ती, कार्मिक विभाग ने जारी की अधिसूचना
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

आज से गूंजेगा 'घुड़ळो घुमैला जी घुमैळा', गणगौरी तीज तक होंगे जगह-जगह आयोजन

Patrika news network Posted: 2017-03-20 13:49:01 IST Updated: 2017-03-20 13:49:01 IST
आज से गूंजेगा 'घुड़ळो घुमैला जी घुमैळा', गणगौरी तीज तक होंगे जगह-जगह आयोजन

जोधपुर

मारवाड़ में महिलाओं के प्रमुख लोकपर्व गणगौर पूजन के आठवें दिन सोमवार को तीजणियों की ओर से घुड़ला पूजन आरंभ किया जाएगा। आकर्षक पारम्परिक परिधानों में शीतलाष्टमी की शाम तीजणियां अलग अलग समूह के रूप में ढोल-थाली के साथ पवित्र मिट्टी से निर्मित घुड़ला लेने कुम्हार के घर पहुंचेंगी। एक पखवाड़े तक गौरी पूजन करने वाली तीजणियां छिद्रयुक्त घुड़ले में आत्म दर्शन के प्रतीक दीप प्रज्ज्वलित करने के बाद उसे गवर पूजन स्थल पर विराजित करेंगी। गणगौरी तीज तक सगे-संबंधियों के घर ले जाकर मां गौरी से जुड़े मंगल गीत गाएंगी।


घुड़ले से जुड़ी एेतिहासिक घटना

मारवाड़ के प्राचीन दस्तावेजों व बहियों के अनुसार गवर पूजन के दौरान तीजणियों को उठाकर ले जाने वाले घुड़ले खां का पीछा करते हुए राव सातल ने उसका सिर धड़ से अलग कर दिया था। उसी घुड़ले खां के सिर को लेकर आक्रोशित तीजणियां घर-घर घूमी थी। मारवाड़ में गणगौर पूजन के दौरान चैत्र वदी अष्टमी के दिन इतिहास से जुड़े वाकये को आज भी याद किया जाता है।


READ MORE: मारवाड़ में अनूठी है मां शीतला के प्रति आस्था, कल घर-घर में होगा पूजन


तीज तक घुमेगा घुड़ला

महिलाओं के सामूहिक व्रत और पूजन का उत्सव गणगौर होली के दूसरे दिन से आरंभ हो गया। इस पर्व को जोधपुर में दो अलग-अलग नाम से मनाने की परम्परा चली आ रही है। पहले पखवाड़े में पूजे जाने वाली गणगौर घुड़ला गवर कहलाती है जबकि दूसरे पखवाड़े में धींगा गवर का पूजन होता है। प्रथम पखवाड़े में गवर का पूजन चैत्र कृष्ण प्रतिपदा से आरंभ होकर चैत्र शुक्ल तीज तक किया जाता है। कुंवारी कन्याएं मनोवांछित वर और सुहागिन महिलाएं अखंड सौभाग्य की प्राप्ति के लिए गवर पूजन और व्रत रखती हैं। उमा बिड़ला, पूर्व अध्यक्ष माहेश्वरी महिला मंडल जोधपुर।

rajasthanpatrika.com

Bollywood