बरकतुल्लाह स्टेडियम को डम्पिंग स्टेशन क्यों बनाया है : हाईकोर्ट

Patrika news network Posted: 2017-04-20 20:22:53 IST Updated: 2017-04-20 20:22:53 IST
बरकतुल्लाह स्टेडियम को डम्पिंग स्टेशन क्यों बनाया है : हाईकोर्ट
  • अशोक उद्यान मामले में पेशी पर आए जेडीए सचिव को खण्डपीठ ने स्टेडियम मामले में जताई नाराजगी

जोधपुर

शहर के एक मात्र अन्तरराष्ट्रीय स्तर के स्टेडियम बरकतुल्लाह खान स्टेडियम की दुर्दशा पर हाईकोर्ट भी खामोश नहीं रह सका। अशोक उद्यान मामले में स्व-प्रेरणा से दायर जनहित याचिका की सुनवाई में कोर्ट पहुंचे जेडीए के सचिव अरुण पुरोहित उस समय बगलें झांकते नजर आए, जब जस्टिस गोविंद माथुर ने उनसे पूछ लिया, कि बरकतुल्लाह स्टेडियम किस के अंडर में आता है।


पूर्व सरपंच की जगह फर्जी आईडी से परीक्षा देने आया वृद्ध, यूं पास करवाने की थी योजना

जब पुरोहित ने कहा कि जेडीए के, तो जस्टिस माथुर ने कहा उसे नगर निगम व जेडीए ने मिलकर डम्पिंग स्टेशन क्यों बना रखा है। स्टेडियम खेल गतिविधियों के लिए होता है या कबाड़ रखने के लिए। वरिष्ठ न्यायाधीश गोविंद माथुर व न्यायाधीश विनीत माथुर की खण्डपीठ में राजस्थान पत्रिका के थिएटर मांगे जिन्दगी अभियान पर स्व-प्रेरणा से दर्ज जनहित याचिका में जेडीए सचिव को तलब किया गया था।


कुछ इस अंदाज में जोधपुर पहुंची मारवाड़ के पूर्व राजपरिवार की नई बींदणी जाह्ववी

अतिरिक्त महाधिवक्ता राजेश पंवार व उनके सहयोगी श्याम पालीवाल के साथ खण्डपीठ में पहुंचे पुरोहित ने उद्यान के बाबत रिपोर्ट पेश करते हुए बताया कि जेडीए ने कोर्ट के निर्देशों के बाद 12 लाख की राशि खर्च करते हुए एक निजी कम्पनी से उद्यान के विकास की योजना तैयार करवाई है। उसी के अनुसार अब टेंडर जारी किए गए हैं।


पुलिस कमिश्नर हाईकोर्ट में तलब

इस प्रक्रिया में समय लगेगा। इस पर खण्डपीठ ने अगली सुनवाई पर 23 मई को पालना रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए। इसके साथ ही उन्होंने जेडीए सचिव से स्टेडियम से सम्बन्धित सवाल किए। इस पर उन्होंने आश्वासन दिया कि जेडीए ने अपना सामान किसी अन्य जगह पर रखवाने के लिए जगह चिह्नित कर ली है।

rajasthanpatrika.com

Bollywood