Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

रावतनगर में कलस्टर के टांकों बनवाने में सरकार को लाखों की चपत

Patrika news network Posted: 2017-04-16 01:35:52 IST Updated: 2017-04-16 01:35:52 IST
रावतनगर में कलस्टर के टांकों बनवाने में सरकार को लाखों की चपत
  • रावतनगर ग्राम पंचायत में आईडब्लुएमपी कलस्टर के तहत बनाए टांकों का घटिया निर्माण करवाकर सरकार के खजाने को लाखों का चूना लगाने का मामला सामने आया है।

पीलवा/जोधपुर

 रावतनगर ग्राम पंचायत में आईडब्लुएमपी कलस्टर के तहत बनाए टांकों का घटिया निर्माण करवाकर सरकार के खजाने को लाखों का चूना लगाने का मामला सामने आया है।

ग्रामीणों ने टांकों के घटिया निर्माण को लेकर कलस्टर अध्यक्ष रावतनगर सरंपच शिवदतसिंह, कलस्टर सचिव रघुवीरसिंह एवं आईडब्लूएमपी के सहायक अभियंता हनुमानराम चौधरी के खिलाफ टांकों के गुणवत्ता की जांच कराने के लिए मुख्यमंत्री, जिला कलक्टर, पंचायती राज के उच्च अधिकारी, मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद जोधपुर सहित सम्बंधित विभागों में सात माह पूर्व अगस्त 2016 में शिकायत की थी।

इसमें बताया कि रावतनगर कलस्टर के तहत निर्मित टांकों में प्रयुक्त सामग्री बहुत ही घटिया है तथा इन टांकों के निर्माण में अध्यक्ष, सचिव एवं सहायक अभियंता ने जानबुझ कर सरकारी राशि गबन करने के उदेश्य से घटिया निर्माण सामग्री प्रयुक्त की।

सात माह बाद जांच दल पहुंचा रावतनगर

शिकायत की जांच में सात माह बाद शनिवार को आईडब्लूएमपी के अधिशासी अभियंता सुरेशकुमार दुग्गल के नेतृत्व में रावतनगर पहुंचा। 


जहां ग्रामीणों की मौजूदगी में सैम्पल रूपी बारह टांकों की जांच की गई। इसमें टांकों में प्रयुक्त सामग्री की गुणवता, जलग्रहण आगोर की स्थिति एवं सम्पूर्ण टांका निर्माण में प्रयुक्त सामग्री तथा टांका निर्माण के लगभग एक साल बाद टांकों की वस्तुस्थिति की रिपोर्ट तैयार कर ग्रामीणों एवं लाभर्थियों के बयान कलमबद्ध किए।

सरकारी खजानें को लगाया लाखों का चूना

रावतनगर ग्राम पंचायत में कलस्टर के तहत बने टांको में प्रयुक्त सामग्री की गुणवता, ग्रामीणों की शिकायत, टांकों की वर्तमान जर्जर हालत एवं जांच दल की प्रथम दृष्टयां जांच के वक्तव्यनुसार इन टांकों निर्माण में घटिया निर्माण सामग्री काम में लेकर सरकारी खजानें को लाखों रुपए का चूना लगाया।

जांच अधिकारी अधिशासी अभियंता दुग्गल ने बताया कि आईडब्लुएमपी के तहत बने प्रत्येक टांके की लागत दो लाख रुपए है तथा रावतनगर में इस योजना के तहत सत्तर से अधिक टांका का निर्माण इस कमेटी द्वारा करवाया है।


 इससे सिद्ध होता है कि जानबूझ कर सरकारी राशि को हड़पने के उद्देश्य से लाखों रुपए का चूना सरकारी खजाने को लगाकर राज्य सरकार की योजना को धूमिल किया है। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood