पुराने नोटों से किसानों को समस्याओं से जल्द निजात : खेतासर

Patrika news network Posted: 2016-11-17 10:27:35 IST Updated: 2016-11-17 10:27:35 IST
पुराने नोटों से किसानों को समस्याओं से जल्द निजात  : खेतासर
  • राजस्थान सरकार ने भाजपा के वरिष्ठ नेता शंभूसिंह खेतासर को राजस्थान राज्य बीज निगम का अध्यक्ष बनाया है। अध्यक्ष बनने पर राजस्थान पत्रिका ने खेतासर से साक्षात्कार लिया। पेश हैं संपादित अंश :

जोधपुर

मुख्यमंत्री ने बुधवार को विभिन्न आयोगों व बोर्ड में अध्यक्षों और सदस्यों की नियुक्तियों की घोषणा की। इस घोषणा में एक बार फिर जोधपुर की झोली में एक पद आया है। इससे सरकार में जोधपुर का दबदबा और बढ़ गया है।

उनके स्वागत समारोह की तैयारी 

पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के सामने सरदारपुरा विधानसभा क्षेत्र की सीट पर चुनाव लडऩे वाले और वरिष्ठ भाजपा नेता शम्भूसिंह खेतासर को राजस्थान राज्य बीज निगम का अध्यक्ष मनोनीत किया गया है। इधर, उनके समर्थकों ने उन्हें फोन पर बधाइयां देने के साथ ही गुरुवार को उनके स्वागत समारोह की तैयारी में जुट गए हैं।राजस्थान पत्रिका से दूरभाष पर हुई अनौपचारिक बातचीत में उन्होंने कहा कि किसानों खुशहाल बनाने और उन्हें विभिन्न समस्याओं से निजात दिलाना ही उनकी प्राथमिकता रहगी।

पत्रिका : आपको यह पद पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के सामने चुनाव लडऩे के एवज में गिफ्ट के रूप में मिला है?

खेतासर : प्रसाद जैसा कुछ नहीं है। भाजपा अपने कार्यकर्ताआंे का ध्यान रखती है। मुख्यमंत्री ने मारवाड़ का ध्यान रखा है। इसलिए हमें मौका मिला है।

पत्रिका: पद मिलने के बाद आपकी प्राथमिकता क्या रहेगी?

खेतासर : किसानों की समस्याआंे का तत्परता से समाधान करने की कोशिश रहेगी।

पत्रिका : मारवाड़ में बीज की सबसे बड़ी समस्या रहती है । इस समस्या से किसान हमेशा परेशान रहता है। आपका क्या प्रयास रहेगा?

खेतासर : यह कार्य मेरी प्राथमिकता पर रहेगा कि प्रमाणित और विश्वसनीय बीज किसानों तक पहुंचाऊ । बीज के साथ ही खाद भी किसानों तक सही समय तक पहुंचाऊं । किसान की खुशहाली फसल के साथ हो, इस पर भी ध्यान दिया जाएगा।

पत्रिका : वर्तमान परिस्थिति में 500 और 1000 के नोट बंद किए हुए हैं। इससे किसानों को जो समस्या आ रही है। उसके लिए क्या योजना है?

खेतासर : इस बारे में मुख्यमंत्री से बात हुई है। फाइनेंस सेक्रेटरी को निर्देश दिए गए है वो केंद्र के फाइनेंस सेक्रेटरी से इस बारे में बात करे। यह मुद्दा प्रधानमंत्री तक पहुंचाया जाए, ताकि किसान हफ्ते भर तक के पुराने नोट चला सकें। इस बारे में भी एक-दो दिन में निर्णय हो जाएगा।

rajasthanpatrika.com

Bollywood