पुलिस थानों में पुलिस पर रहेगी 'तीसरी नजर

Patrika news network Posted: 2017-05-15 09:54:27 IST Updated: 2017-05-15 09:54:27 IST
पुलिस थानों में पुलिस पर रहेगी 'तीसरी नजर
  • आम तौर पर पुलिस थानों में आने वाले फरियादियों के साथ पुलिस द्वारा बदसुलूकी करने के मामले सामने आते हैं। लोगों को एफआईआर दर्ज करवाने के लिए ही बड़े पापड़ बेलने पड़ते हैं। घंटों इंतजार करवाया जाता है। गृह विभाग ने पुलिस थानों में हैल्प डेस्क व मुख्य गेट पर सीसीटीवी

जोधपुर

पुलिस स्टेशन में समस्या लेकर आने वाले फरियादियों से अनुचित व्यवहार व संतोषजनक जवाब न मिलने की शिकायतों को दूर करने और पुलिस कार्यप्रणाली पारदर्शिता लाने के लिए जल्द ही सीसीटीवी कैमरे लगेंगे। राज्य के गृह विभाग ने पुलिस कमिश्नरेट के प्रत्येक थानों में सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिए पुलिस महानिदेशक को आवश्यक कार्यवाही के लिए पत्र भेजा है।

सीसीटीवी कैमरे लगवाने का आग्रह

जोधपुर के आरटीआई कार्यकर्ता नंदलाल व्यास ने गत माह मुख्यमंत्री, गृहमंत्री व प्रमुख शासन सचिव (गृह) को पत्र भेजे थे। जिसमें उन्होंने पुलिस कमिश्नरेट के अधीन आने वाले प्रत्येक थाने की हैल्प डेस्क व मुख्य गेट पर सीसीटीवी कैमरे लगवाने का आग्रह किया था। जिस पर अग्रिम कार्यवाही के लिए गृह विभाग के संयुक्त शासन सचिव (पुलिस) सुरेन्द्र माहेश्वरी ने पुलिस महानिदेशक को भेज दिया। साथ ही कार्यवाहीवाई करने के बाद की रिपोर्ट भी मांगी है।आरटीआई कार्यकर्ता व्यास ने कैमरों व रखरखाव के लिए राज्य सरकार के पास बजट न होने पर आमजन के सहयोग से लगाने का प्रस्ताव भी रखा है।

25 पुलिस स्टेशन कमिश्नरेट व 17 ग्रामीण में

राज्य के दूसरे सबसे बड़े जिले जोधपुर में पुलिस दो भागों में कार्य कर रही है। शहर में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू है। जिसके अधीन पश्चिम व पूर्वी जिले में पच्चीस पुलिस स्टेशन हैं। वहीं, जोधपुर जिला ग्रामीण पुलिस के अधीन 17 थाने हैं। हालांकि फिलहाल पुलिस कमिश्नरेट के अधीन वाले थानों में ही कैमरे लगवाए जाने की योजना है।


rajasthanpatrika.com

Bollywood