Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

सेंट्रल जेल में चरस और 21 मोबाइल फेंके

Patrika news network Posted: 2017-05-17 09:38:33 IST Updated: 2017-05-17 09:38:33 IST
सेंट्रल जेल में चरस और 21 मोबाइल फेंके
  • जोधपुर सेंट्रल जेल तिहाड़ जेल के बाद देश की सबसे सुरक्षित जेल मानी जाती है।यहां पंजाब और कश्मीर के कई दुर्दांत आतंककारी रखे जाते रहे हैं। इस जेल में 9 पार्सल में मोबाइल, 20 चार्जर व चरस बरामद की गई है।रातानाडा थाने में दो मुकदमे दर्ज कर जांच शुरू की गई है।

जोधपुर

देश की सबसे सुरक्षित मानी जाने वाली जोधपुर सेंट्रल जेल में अवैध तरीके से मोबाइल व नशे का सामान मिलने का क्रम जारी है। इस बार जेल में किसी ने 9 पार्सल एक साथ दीवार के ऊ पर से फेंक दिए।ये पार्सल सुरक्षाकर्मियों के हाथ लग गए, जिन्हें जब्त कर लिया गया। इन पार्सल से 21 मोबाइल, 20 चार्जर व 20 ग्राम चरस मिली है।

दो मुकदमे दर्ज

जेल अधीक्षक विक्रमसिंह की रिपोर्ट पर रातानाडा थाने में दो मुकदमे दर्ज किए गए हैं। ये पार्सल किसने फेंके हैं, इस बारे में पता नहीं चल पाया है। पुलिस व जेल प्रशासन प्रहरियों व बंदियों से पूछताछ कर रहा है। सुबह 4 बजे , बाड़ा नंबर 6 रातानाडा थाना पुलिस के अनुसार सेंट्रल जेल में सोमवार सुबह करीब चार बजे एक साथ 9 पार्सल बाड़ा नम्बर 6 में फेंके गए। 

कुछ हाथ नहीं लगा

जेल प्रशासन का कहना है कि जेल प्रहरी दीवार की दूसरी ओर गए तो मौके पर चप्पल व जूते मिले। इन जूतों में चरस छुपाई हुई थी। इधर, पार्सल मिलने के बाद आनन-फानन में जेल में तलाशी ली गई, लेकिन कुछ हाथ नहीं लगा। 

मुख्यालय के निर्देश पर मामला दर्ज

सूत्रों की मानें तो इस प्रकरण की सूचना जेल डीजी को दी गई। उनके निर्देश पर मामले दर्ज करवाए गए। जेल प्रशासन ने इसकी विभागीय जांच के भी आदेश दिए हैं। जेल प्रशासन जेल के प्रहरियों व नम्बरदार बंदियों से इस बारे में पूछताछ कर रहा है। 

चार मामले सामने आ चुके 

उल्लेखनीय है कि पिछले तीन माह में चार मामले जेल में अफीम भेजने के सामने आ चुके हैं। इनमें तीन जने भी गिरफ्तार किए गए थे। साथ ही जेल की तलाशी में कई बार मोबाइल भी मिल चुके हैं।

मिलीभगत का खेल

जेल में मिलीभगत का खेल चल रहा है। जबकि जेल प्रशासन आंखें बंद करके बैठा है। जेल में प्रहरी व बंदी मिलकर ये काम कर रहे हैं। जबकि इस जेल में आसाराम, महिपाल मदेरणा जैसे लोग भी बंद हैं। साथ ही कई हिस्ट्रीशीटर सजा भुगत रहे हैं।

जांच जारी, शीघ्र पता लगाएंगे

जेल में 9 पार्सल मिले हैं। इस सम्बंध में मुकदमे दर्ज करवा दिए गए। जेल के बाहर चरस मिली। इस बारे में जांच जारी है। शीघ्र ही मामले का पर्दाफाश कर दिया जाएगा।

- विक्रमसिंह

जेल अधीक्षक 

सेंट्रल जेल, जोधपुर 


rajasthanpatrika.com

Bollywood