Breaking News
  • जोधपुर: बीआरटीएस बसों के लिए बनेंगे १० नए बस शेल्टर
  • जयपुर: एयरपोर्ट पर कस्टम विभाग ने पकड़ा 90 किलो चंदन, एक ​महिला सहित 3 गिरफ्तार
  • जोधपुर: यूडी टैक्स जमा करने के विशेष अभियान में निगम को 76 लाख की आय
  • झुंझुनूं: चूड़ीना(पचेरी)मेले में हुई मारपीट के मामले में दो गिरफ्तार
  • बीकानेर: एसपी मेडिकल काॅलेज में पीजी की 14 सीटें और बढ़ी
  • जयपुर: CCD में कॉकरोच का वीडियो बनाने वाले युवक पर स्टाफ से छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज
  • धौलपुर: जारोली गांव में जमीन विवाद के मामले में फायरिंग, 2 लोग घायल
  • डूंगरपुर: हाइवे पर कार गड्ढे में गिरी, 4 लोग घायल
  • करौली: कुड़गांव के सेमरदा गांव के घर में आग लगने से 92 हजार रुपए नकद जले
  • करौली: मासलपुर कस ताली गांव में 11 केवी की लाइन टूटने से लगी आग, 3 खेतों में गेहूं की फसल जली
  • जोधपुर: ट्रेनों में अतिरिक्त कोच की अवधि 30 अप्रेल तक बढ़ाई
  • जोधपुर: मेडिकल कॉलेज में हुआ 87वां देहदान, सरस्वती नगर निवासी मूलचंद भट्टी का आज किया देहदान
  • बांसवाड़ा: नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी को दस साल कठोर कारावास की सजा
  • चूरू: सुजानगढ़ में रेलवे गेट के बीच फंसा ट्रक, ट्रक चालक गिरफ्तार और ट्रक जब्त
  • जयपुर: CCD में कॉकरोच का वीडियो बनाने वाले युवक पर स्टाफ से छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज
  • टूटा दस साल का रिकॉर्ड, जयपुर का तापमान 41.4 डिग्री पर
  • हनुमानगढ़: टिब्बी तहसील में करीब दो साल पहले हुए दोहरे हत्याकांड के आरोपी विजय पूनिया को जेल, मुख्य आरोपी विनोद पूनिया अभी तक फरार
  • जैसलमेर: सदर पुलिस थाना ने कई साल से फरार स्थाई वारंटी को किया गिरफ्तार
  • सादुलपुर: गणगौर मेले में उमड़ी भीड़, तीन महिलाओ की अज्ञात चोरों ने तोड़ी सोने की चेन
  • BS-3 वाहनों पर बैन से खरीददारों की मौज, बाइक-स्कूटी पर 22 हजार तक की छूट
  • देशभर में गर्मी ने किया लोगों का बुरा हाल, मार्च में ही बरसने लगी आसमान से आग
  • पाली और जोधपुर में केंद्रीय विद्यालय को स्वीकृति,केंद्रीय विद्यालय संगठन ने जारी की
  • पाली और जोधपुर जिले में केंद्रीय विद्यालय को मिली स्वीकृति
  • मेडिकल कॉलेज के लिए सीकर में एमसीआई की टीम, भवन व एसके अस्पताल का निरीक्षण
  • जयपुर: दौलतपुरा टोल प्लाजा पर 2 लाख 16 हजार रुपए के पुराने नोट पकड़े, 3 गिरफ्तार, कार जब्त
  • सवाईमाधोपुर:सिलेण्डर चोर गिरोह से 21 सिलेण्डर, 3-4 लाख का इलेक्ट्रॉनिक सामान बरामद
  • बांसवाडा: तलवार दिखाकर मोबाइल व पर्स लूटने के मामले में मुख्य आरो​पी सहित दो गिरफ्तार
  • बांसवाडा:बिल्डर ने वृद्धा का हाथ तोड़ा, बेटे का सिर फोड़ा, फ्लेट के कब्जे का मामला
  • भीलवाडा : सुभाषनगर थाना क्षेत्र में चेन लूट की दो वारदात
  • अजमेर: स्मेक के साथ तस्कर मोहम्मद अली गिफ्तार, 600 ग्राम स्मेक की बरामद
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

महिला चिकित्साकर्मी की मनमर्जी ने बिगाड़ी ग्रामीणों की सेहत

Patrika news network Posted: 2016-11-30 00:49:57 IST Updated: 2016-11-30 00:49:57 IST
महिला चिकित्साकर्मी की मनमर्जी ने बिगाड़ी ग्रामीणों की सेहत
  • बालेसर उपखण्ड क्षेत्र के केतु कल्ला गांव स्थित राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में कार्यरत महिला चिकित्सक की मनमर्जी ग्रामीणों पर भारी पड़ रही है।

बालेसर/जोधपुर

 बालेसर उपखण्ड क्षेत्र के केतु कल्ला गांव स्थित राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में कार्यरत महिला चिकित्सक की मनमर्जी ग्रामीणों पर भारी पड़ रही है।

सरपंच नाथूसिंह राठौड़ व समाजसेवी रिछपालसिंह ने बताया कि राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन् द्र केतु कल्लां में कार्यरत महिला चिकित्सक की जबसे ड्यूटी लगी तब से अस्पताल नहीं आती। एक दो बार रजिस्टर में हस्ताक्षर करने आई होगी। मरीजों को देखने व उपचार करने आज तक नहीं आई। 


अस्पताल मात्र एक नर्सिंग कर्मचारी के भरोसे है। अस्पताल में महिला रोगियों को उपचार करवाने एवं खासकर प्रसव पीडि़ताओं को डिलीवरी के लिए बालेसर या सेखाला जाना पड़ता है।

उन्होंने बताया कि ग्रामीणों ने पूर्व में भी इसकी शिकायत की थी। लेकिन, ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी बालेसर ने कागजों में विजिट बताकर महिला चिकित्सक के पक्ष में जांच रिपोर्ट बनाकर भेज दी थी।

तहसीलदार जांच में अनुपस्थित मिली:- सरपंच व ग्रामीणों ने बताया कि गत 24 अक्टुबर को बालेसर तहसीलदार ने आकस्मिक निरीक्षण किया था। तब भी महिला चिकित्सक व अन्य छह नर्सिंग कर्मचारी अनुपस्थित मिले थे। 


तहसीलदार के निरीक्षण के बाद भी महिला चिकित्सक व अन्य कर्मचारी अस्पताल नहीं पहुंचे। आस पास 15-20 गांवों का बड़ा व राजकीय प्राथमिक अस्पताल होने के बावजूद चिकित्सक नहीं आने पर रोगियों को परेशानी होती है।

धरना देंगे

सरपंच व ग्रामीणों ने बताया कि सरकार एक तरफ तो गांवों में बेहतर चिकित्सा सुविधा करवाने की बात कहती है। दूसरी तरफ कार्यरत चिकित्सक घर बैठे वेतन उठाते है। ग्रामीणों ने चेतावनी दी कि तीन दिवस में कोई चिकित्सक नहीं आया तो ग्रामीण धरना प्रर्दशन करेंगे। निसं

इन्होंने कहा

केतु कल्लां अस्पताल में कार्यरत चिकित्सक बीमार होने से पिछले 15 दिन से अवकाश पर है। मेरे पास प्रार्थना पत्र पड़ा है। छुटी पर कब से है यह तारीख याद नहीं है। बीमार पड़े तो छुट्टी जाना पडता है। ग्रामीण शिकायत करे तो उनका कोई इलाज नहीं है।

- डॉ. दुर्गेश भाटी, कार्यवाहक ब्लॉक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बालेसर।

- यदि डॉ. अस्पताल नहीं जाती है ग्रामीणों की शिकायत है तो कल देखता हूं। जांच करवाऊंगा यदि सही है तो वेतन रोकूंगा तथा कार्रवाई र्कंगा।

- सुरेन्द्रसिंह चौधरी, कार्यवाहक जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जोधपुर

rajasthanpatrika.com

Bollywood