Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

जोधपुर में हिस्ट्रीशीटर बम्बानी पर गोली चलने का सच आया सामने, हिस्ट्रीशीटर के भाई को लिया हिरासत में..

Patrika news network Posted: 2017-07-15 13:43:43 IST Updated: 2017-07-15 13:43:43 IST
जोधपुर में हिस्ट्रीशीटर बम्बानी पर गोली चलने का सच आया सामने, हिस्ट्रीशीटर के भाई को लिया हिरासत में..
  • क्रिकेट सट्टे-ऊंची ब्याज दर से वसूली के अवैध धंधे में विवाद...

जोधपुर

शहर के शास्त्रीनगर में आशापूर्णा मॉल के बाहर हिस्ट्रीशीटर पर गोली चलाने के मामले में पुलिस ने एक अन्य हिस्ट्रीशीटर के संदिग्ध भाई को हिरासत में लिया है। फिलहाल वह गोली मारने में खुद की सक्रिय भूमिका से इनकार कर रहा है, लेकिन पुलिस को अंदेशा है कि उसने किसी अन्य युवकों को सुपारी देकर हमला करवाया है। उधर, मथुरादास माथुर अस्पताल में घायल हिस्ट्रीशीटर का शुक्रवार को ऑपरेशन कर पीठ में फंसी गोली निकाली गई। उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जाती है।

पुलिस ने बताया कि गुरुवार रात फायरिंग के बाद उदयमंदिर आसन निवासी हिस्ट्रीशीटर शमशेर व उसके भाई फय्याज का नाम सामने आया था। शमशेर शहर से बाहर है। उसके भाई फय्याज को पुलिस ने रात तीन बजे हिरासत में लिया। अब तक की पूछताछ में उसने फायरिंग के लिए मॉल तक जाने से इनकर किया है, लेकिन पुलिस की संदेह की सूइयां उसकी तरफ ही घूम रही हैं। पुलिस का मानना है कि उसने अपने कुछ साथियों की मदद से गोली चलवाई होगी। थानाधिकारी अमित सिहाग का कहना है कि एक युवक को हिरासत में लिया गया है। पूछताछ की जा रही है।





मोबाइल पर शमशेर को दी थी धमकियां

पुलिस का कहना है कि दिनेश बम्बानी व शमशेर कुछ समय पहले मित्र थे, लेकिन क्रिकेट सट्टे के अवैध कारोबार में पांव पसारने के बाद दोनों में अनबन हो गई। एकाधिकार के लिए एक-दूसरे रंजिश रखने लगे। तीन-चार दिन पहले दिनेश ने मोबाइल पर शमशेर को गालियां दी थी। साथ ही जान से मारने को धमकाया भी था। शमशेर राज्य से बाहर है, लेकिन भाइयों को पता लग गया। उन्होंने मोबाइल पर दिनेश को जान से मारने की धमकियां भी दी थी।





सट्टा, ऊंची ब्याज दर पर ब्याज व सैकड़ों से ठगी

चौपासनी हाउसिंग बोर्ड थाने का हिस्ट्रीशीटर दिनेश बम्बानी एक दुकान पर छोटा-मोटा काम करता था। फिर वह क्रिकेट सट्टे के कारोबार में शामिल हो गया और अच्छा पैसा कमाया। इसके अलावा वह वीसी संचलित कर के भी हर महीने लाखों रुपए वारे-न्यारे कर रहा है। उसने मोटी रकम लोगों को ऊंची ब्याज पर दर उधार दे रखी है। जिसका लाखों रुपए ब्याज आता है। इतना ही नहीं वीसी के संचालन में व ऊंची ब्याज दर से उसने सैकड़ों लोगों से ठगी की है। जिसके मामले भी चौपासनी हाउसिंग बोर्ड व प्रतापनगर थाने में दर्ज हैं। बड़ी संख्या में लोग उससे रंजिश रखे हुए है। हार्डकोर कैलाश मांजू से भी उसकी रंजिश है। एेसे में पुलिस को अंदेशा है कि कोई अन्य भी उस पर गोली चला सकता है।

rajasthanpatrika.com

Bollywood