बच्चे की तरह किया हिरण का लालन पालन

Patrika news network Posted: 2016-11-30 00:58:19 IST Updated: 2016-11-30 00:58:19 IST
बच्चे की तरह किया हिरण का लालन पालन
  • जैसला निवासी राणूराम भील के परिवार ने तीन माह तक एक हिरण के बच्चे का खुद के बच्चे के भांति लालन पालन किया। बाद में उसे जंभेश्वर मंदिर कमेटी के सदस्यों को सौंपा।

बाप/जोधपुर

बाप क्षेत्र के जैसला गांव निवासी राणूराम भील के परिवार ने मां से बिछड़े हिरिण के एक बच्चे का तीन माह तक लालन-पोषण किया।


 मंगलवार को जैसला गांव स्थित जंभेश्वर मंदिर परिसर में भरे मेले में राणूराम भील व उसकी पुत्री जेठीबाई भील हिरण के बच्चे को लेकर पहुंचे तथा मंदिर कमेटी सदस्यों को बच्चा सुपुर्द किया। 


अखिल भारतीय जीव रक्षा विश्नोई सभा जिला उपाध्यक्ष सत्यनारायण सोढ़ा ने बताया कि करीब तीन माह पूर्व हिरण का छोटा बच्चा अपनी मां से बिछड़ गया था। बिछड़े हरिण के बच्चे को राणूराम भील ने देख लिया तथा उसे अपने घर ले लाए। भील ने हिरण के बच्चे को तीन माह तक अपने बच्चे की तहर पाला।

किया सम्मानित

जैसला मंदिर कमेटी सदस्यों ने राणूराम भील को एक हजार रुपए नकद देकर सम्मानित किया तथा जीव का पालन-पोषण करने पर धन्यवाद ज्ञापित किया।

rajasthanpatrika.com

Bollywood