राजस्थान में फेल हुआ नाभा जेल ब्रेक का 'सीक्वल', दीवार फांदते वक्त तीन बंदी करंट से झुलसे, एक गंभीर

Patrika news network Posted: 2016-12-02 00:20:37 IST Updated: 2016-12-02 07:55:19 IST
राजस्थान में फेल हुआ नाभा जेल ब्रेक का 'सीक्वल', दीवार फांदते वक्त तीन बंदी करंट से झुलसे, एक गंभीर
  • जोधपुर सेंट्रल जेल में गुरुवार शाम को कम्बल की रस्सी बनाकर 25 फीट ऊंची दीवार फांदकर भागने के प्रयास में तीन बंदी करंट से झुलस गए। इनमें से दो जनों को महात्मा गांधी अस्पताल व एक बंदी को मथुरादास माथुर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

जोधपुर

जोधपुर सेंट्रल जेल में गुरुवार शाम को कम्बल की रस्सी बनाकर 25 फीट ऊंची दीवार फांदकर भागने के प्रयास में तीन बंदी करंट से झुलस गए। इनमें से दो जनों को महात्मा गांधी अस्पताल व एक बंदी को मथुरादास माथुर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 


एक की हालत गंभीर है। इनमें से एक बंदी एनडीपीएस व दो बंदी दुष्कर्म के आरोप में बंद थे। 


ये बंदी जेल की पहली दीवार फांदने में सफल हो गए, लेकिन इसी दीवार पर लगी बिजली लाइन से करंट लगने के कारण झुलसने से वे आगे भाग नहीं पाए। वहां मौजूद आरएसी जवानों ने उन्हें पकड़ लिया। 



इस संबंध में जेल अधीक्षक की रिपोर्ट पर रातानाडा थाना पुलिस ने बंदियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।


जेल डिस्पेंसरी से चढ़कर कूदे, भनक भी नहीं लगी

पुलिस व जेल सूत्रों के अनुसार शाम करीब छह बजे जेल में खाना खाने के लिए बंदियों को बैरक से बाहर निकाला जाता है। 



इस दौरान बंदी खाना खाकर वापस बैरक में जाते हैं। इस बीच बंदी पाली के दयालपुरा निवासी नेमाराम पुत्र बाबूलाल भाट, राजसमंद निवासी वीरम पुत्र बन्ना सिंह रावत व जिला जालोर गांव धोराढाल निवासी अमृत पुत्र अरिंगाराम सोनी जेल डिस्पेंसरी में चैकअप कराने के बहानेे गए।



 वहां वे शौचालय में कम्बल की रस्सी बनाकर एक्सरे रूम के ऊपर की दीवार फांद गए। दीवार फांदते समय दीवार पर लगी 11 केवी बिजली लाइन से उन्हें करंट लग गया। इससे वे गंभीर झुलस गए। 



तीनों बंदी दीवार की दूसरी तरफ गिर गए। उनके गिरने व चिल्लाने की आवाज से जेल में तैनात आरएसी जवान वहां पहुंच गए। उन्होंने तीनों को दबोच लिया। इस खबर से जेल में हड़कंप मच गया। उन्हें महात्मा गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया।


गंभीर झुलसे बंदी वीरम को रात को मथुरादास माथुर अस्पताल में रैफर कर दिया गया। जेल प्रशासन बंदियों के भागने की घटना की जांच में लग गया है। प्रथम दृष्टया जेल प्रशासन की लापरवाही सामने आ रही है।



समय पर नहीं दी पुलिस को सूचना, दबाने लगा जेल प्रशासन

घटना को लेकर जेल प्रशासन ने पर्दा डालना शुरू कर दिया। घटना के एक घंटे तक पुलिस को सूचना नहीं दी गई। जेल प्रशासन इस घटना को दबाने में लग गया। सूचना के बाद रातानाडा थाना पुलिस मौके पर पहुंची।

rajasthanpatrika.com

Bollywood