गर्मी से 50 हजार बिजली मीटर खराब, खरीद पर उठ रहे सवाल!

Patrika news network Posted: 2017-05-14 20:04:41 IST Updated: 2017-05-14 20:04:41 IST
गर्मी से 50 हजार बिजली मीटर खराब, खरीद पर उठ रहे सवाल!
  • जोधपुर डिस्कॉम की ओर से उपभोक्ताओं के यहां लगाए गए 50 हजार बिजली मीटर तेज गर्मी नहीं झेल पाए। इन मीटर कम्पनियों के दावों की अब पोल खुलने लगी है।

जोधपुर

जोधपुर डिस्कॉम की ओर से उपभोक्ताओं के यहां लगाए गए 50 हजार बिजली मीटर तेज गर्मी नहीं झेल पाए। इन मीटर कम्पनियों के दावों की अब पोल खुलने लगी है। ये कम्पनियां अधिक तापमान में मीटर सही रहने का दावा कर रही थी। मीटर खराब होने से उपभोक्ताओं को तो नुकसान हो ही रहा है, साथ ही डिस्कॉम को भी चपत लग रही है। एेसे में नए मीटर की खरीद पर सवाल उठने लगे हैं।


जोधपुर में दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के शिविर हुए फ्लॉप, यह रही बड़ी वजह

जोधपुर डिस्कॉम के जोधपुर, पाली, सिरोही, जालोर, बाड़मेर, जैसलमेर, चूरू, बीकानेर, श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ जिलों में 50 हजार उपभोक्ताओं के यहां नए बिजली मीटर लगाए गए। इन मीटर में शिकायतें मिली कि ये मीटर तेज गर्मी के कारण बंद हो जाते हैं। जोधपुर क्षेत्र के जिलों में वर्तमान में तापमान 45 से 48 डिग्री तक है, इस तापमान में भी मीटर जवाब दे रहे हैं तो आगामी दिनों में ये समस्या बढ़ सकती है। जबकि मीटर कम्पनियां व डिस्कॉम गर्मी से मीटर खराब होने के कारण को नकार रहे हैं। अब खुद डिस्कॉम अधिकारी अनौपचारिक रूप से अपने कर्मचारियों से नए मीटर छाया में लगवाने की बात कह रहे हैं। सूत्रों की मानें तो जोधपुर डिस्कॉम में पिछले तीन माह में पचास हजार मीटर खराब होना सामने आया है, जिन्हें बदलने का काम जारी है।

अप्रशिक्षित हाथों में 200 जीएसएस, यूं पहुंचने वाला है सरकारी सम्पत्तियों को नुकसान

यह है नुकसान

उपभोक्ताओं के लिहाज से यह नुकसान है कि खराब मीटर को बदलने के लिए उन्हें चार्ज देना पड़ता है, बार-बार उपभोक्ता यह चार्ज वहन नहीं कर सकता है। जबकि मीटर खराब होने के कारण विद्युत उपभोग की सहीं रीडिंग नहीं आ पाती। डिस्कॉम उनके घर अनुमानित बिल राशि ही भेज रहा है, इससे डिस्कॉम को आर्थिक नुकसान हो रहा है।


बिजली को 'झटका', रोजाना 175 लाख यूनिट की खपत, गांवों को बिजली सप्लाई देना हुआ मुश्किल

जांच करवाते हैं

सभी जगहों पर लैब टेस्ट मीटर लगाए जा रहे हैं। गर्मी से मीटर खराब होने की शिकायत नहीं मिली। जो भी खराब बिजली मीटर अब सामने आ रहे हैं, उनकी लैब में जांच करवाकर कारण का पता लगाया जाएगा।

- प्रमोद टॉक, एसई, एमएम, जोधपुर डिस्कॉम।

rajasthanpatrika.com

Bollywood