Breaking News
  • उदयपुर : शराब-रियल एस्टेट कारोबारी की करोड़ों की अघोषित आय, आयकर विभाग की कार्रवाई जारी
  • सिरोही : कारोबारी पर आयकर कार्रवाई, नोटबंदी में अधिक राशि जमा कराने का मामला
  • मारवाड़ : प्रसिद्ध कागा मेले में उमड़ रहा सैलाब, गेर देखने के लिए लोगों में भारी उत्साह
  • अजमेर : फिल्म देखकर लौट रहे दंपती से लूट, कुंदन नगर चौराहे से पर्स छीन भागे बदमाश
  • कोटा : 1 अप्रेल से आंगनबाड़ी हो जाएंगी आंगनबाड़ी पाठशाला, समय में भी होगा बदलाव
  • हनुमानगढ़ : कार पेड़ से टकराई, तीन की मौत, रावतसर नोहर रोड पर हुआ हादसा
  • भरतपुर : हलैना में बाइक रैलिंग से टकराई, मौके पर ही दो की मौत
  • जयपुर- अजमेर रोड पर तेज रफ्तार पिकअप ने साइकिल सवार को कुचला
  • अलवर- जागुवास मोड़ पर बस को डंपर ने मारी टक्कर, एक दर्जन यात्री घायल
  • सीकर- विभिन्न मांगों को लेकर ग्राम सेवक आज करेंगे विधानसभा का घेराव
  • जेसलमेर- पोकरण में अस्पताल परिसर से देर रात बोलेरो चोरी
  • भीलवाड़ा- राजीव गांधी ऑडिटोरियम में चार दिवसीय शिल्प बाजार आज से
  • भीलवाड़ा- यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता सुबह 11 बजे करेंगे कलक्ट्रेट का घेराव
  • अलवर- नीमराणा मोड़ फ्लाईओवर पर तीन ट्रक भिड़े, एक ट्रक चालक घायल
  • बीकानेर- ट्रोले की चपेट में आने से चार गायों की मौत, देर रात बीकानेर-श्रीगंगानगर हाइवे पर हादसा
  • जयपुर- कानोडिया काॅलेज के पास कार में मिला शव
  • झुंझुनूंः माकड़ो पहाड़ी में अवैध खनन करती जेसीबी मशीन जब्त
  • कोटा- 22 ग्राम स्मैक के साथ युवक गिरफ्तार
  • हनुमानगढ़- आयकर सर्वे से कारोबारियों में हड़कंप, तीन दिनों में 4 जगह सर्वे
  • बीकानेर- चार माह के बच्चे पर गिरा गर्म दूध, अस्पताल में भर्ती, छतरगढ़ की घटना
  • बीकानेर- करंट से किसान की मौत, महाजन के 99 आरडी में हादसा
  • कोटा नगर निगम यूडी टैक्स वसूली के लिए लगाएगा शिविर, आयुक्त ने जारी किए दिशा-निर्देश
  • कोटा- ट्रेन से गिरकर युवक की मौत, जीआरपी थाना क्षेत्र का मामला
  • भरतपुर- नाकाबंदी के दौरान पुलिस पर फायरिंग कर फरार हुए गौ तस्कर, कैथवाड़ा के पास गाड़ी पलटी
  • श्रीगंगानगर- काम में लापरवाही पर साधुवाली ग्राम सेवा सहकारी समिति का व्यवस्थापक मुखराम निलंबित
  • श्रीगंगानगर- लापरवाही पर आदर्श गांव 9 एमएल के विकास अधिकारी भंवरलाल स्वामी एपीओ
  • करौली के मचानी गांव में कुएं में गिरी पांच गाय
  • अजमेर के गगवाना स्थित नेशनल हाइवे पर मछलियों से भरा ट्रक पलटा, ड्राइवर घायल
  • पाली- युवक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, खिंवाड़ा के पास केरली गांव की घटना
  • बीकानेर में बीती रात अलग-अलग हादसों में दो श्रमिकों के हाथ कटे
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

VIDEO गजब : यहां के युवक कभी स्कूल नहीं गए फिर भी बोलते हैं 4 विदेशी भाषाएं, फर्राटेदार अंग्रेजी भी

Patrika news network Posted: 2017-02-15 12:08:10 IST Updated: 2017-02-15 12:14:53 IST
  • झुंझुनूं जिले में मंडावा कस्बे में कई युवकों ने विदेशी पर्यटकों को कठपुतली व कलेंडर बेचकर ही सीख ली उनकी भाषा। मंडावा दिल के झरोखे सी हवेलियों का कस्बा है। यहां सालभर हजारों विदेशी पर्यटक हवेलियों को निहारने आते हैं। बॉलीवुड की कई फिल्मों की शूटिंग भी यहां

जितेन्द्र सिंह शेखावत मंडावा.

ये कभी स्कूल नहीं गए। किसी का पढऩे का मन नहीं था तो किसी की राह अभावों ने रोक ली थी, मगर आज ये फर्राटेदार अंग्रेजी बोलते हैं। एक नहीं बल्कि चार-चार विदेशी भाषाएं जानते हैं। विदेशी सैलानियों से उन्हीं की भाषा में इन्हें बातचीत करता देख कोई कह भी नहीं सकता कि ये युवक अनपढ़ हैं।


यह कमाल कर दिखाया है मंडावा के कन्हैया, जावेद, काला लीलगर, सिंकदर, हनीफ व जीतू आदि युवाओं ने। मंडावा दिल के झरोखे सी हवेलियों का कस्बा है। यहां सालभर हजारों विदेशी पर्यटक हवेलियों को निहारने आते हैं। बॉलीवुड की कई फिल्मों की शूटिंग भी यहां हो चुकी हैं।


कई बन गए गाइड

कई युवकों ने तो कपड़े और कठपुतली बेचने से लेकर गाइड बनने तक का सफर तय कर लिया है। जो पर्यटक अपने साथ जयपुर या दिल्ली से गाइड लेकर नहीं आते हैं। वे पर्यटक इन्हीं युवकों की मदद लेते हैं। ये उनकी भाषा के साथ-साथ स्थानीय पर्यटन स्थलों की भी पूरी जानकारी रखते हैं। इसके अलावा कई युवकों ने भाषा का ज्ञान होने के कारण यहां पर दुकान भी खोल रखी हैं।


यूं शुरू हुआ सफर

मंडावा में जब पर्यटन व्यवसाय परवान चढ़ा तो यहां काफी पर्यटक आने लगे। पर्यटक कठपुतली, कलेंडर व स्थानीय कपड़ों में खासी रूची दिखाते थे, लेकिन विदेशी सैलानियों की भाषा समझ में नहीं आना युवकों के सामने बड़ी समस्या थी। शुरुआत में युवक इशारों-इशारों में सामान बेचा करते थे।


पर्यटकों के साथ आने वाले टूर एस्कोर्ट लीडर और पर्यटक के बीच होने वाले संवाद पर भी गौर करते। धीरे-धीरे इन्हें न केवल विदेशी पर्यटकों की भाषा समझ में आने लगी बल्कि ये अंग्रेजी, स्पेनिश, इटालियन व फें्रच आदि विदेशी भाषाएं बोलने भी लगे।


गरीबी के कारण कभी स्कूल नहीं जा पाया। कस्बे में आने वाले पर्यटक को कुछ वस्तुएं बेचकर ही उनकी भाषाएं सीख गया। चार भाषाएं आसानी बोल व समझ लेता हूं।

जावेद, वार्ड 20 मंडावा

गाइड का काम करता हूं। 7 साल का था तब स्कूल तो नहीं गया, मगर पर्यटकों के सम्पर्क में आ गया था। मंडावा के पर्यटन स्थलों के बारें में पर्यटकों से कई भाषाओं में बातचीत करता हूं।

काला लीलगर, मंडावा

rajasthanpatrika.com

Bollywood