Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

यहां के बाशिंदो ने 20 सालों से बच्चों को खेलने से कर रखा है वंचित

Patrika news network Posted: 2017-07-17 18:29:14 IST Updated: 2017-07-17 18:29:14 IST
यहां के बाशिंदो ने 20 सालों से बच्चों को खेलने से कर रखा है वंचित
  • खानपुर उपखंड क्षेत्र के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय रूपाहेड़ा के खेल मैदान पर 20 साल से ग्रामीणों का कब्जा है। यहां प्रतिवर्ष फसलें बोई जा रही हैं। वहीं छात्राएं खेल मैदान के अभाव में खेलकूद से वंचित हैं।

खानपुर.

उपखंड क्षेत्र के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय रूपाहेड़ा के खेल मैदान पर 20 साल से ग्रामीणों का कब्जा है। यहां प्रतिवर्ष फसलें बोई जा रही हैं। वहीं छात्राएं खेल मैदान के अभाव में खेलकूद से वंचित हैं। यहां करीब 20 साल पूर्व ग्राम पंचायत डोबड़ा द्वारा विद्यालय के लिए 5 बीघा से अधिक भूमि आवंटित कर स्कूल के नाम पट्टा जारी किया था, लेकिन विद्यालय निर्माण के उपयोग में आई कुछ बिस्वा भूमि ही विद्यालय के पास है। शेष खेल मैदान की करीब 5 बीघा भूमि पर गांव के लोग काबिज हैं। 

स्कूल के खेल मैदान से अतिक्रमण हटाने को लेकर संस्था प्रधान व ग्रामीणों द्वारा कई बार जिला कलक्टर से लेकर उपखंड अधिकारी को ज्ञापन दिया, लेकिन दो दशक बीतने के बाद भी विद्यालय भूमि से अतिक्रमण नहीं हट पाया है। 

Read More: दूसरों का भवन बनाने वाले, खुद का दफ्तर तक नहीं बना पाए

प्रधानाध्यापक एपीओ 

मैदान से अतिक्रमण हटाने के प्रयास करने पर ग्रामीणों ने संस्था प्रधान की झूठी शिकायत कर दी। इस पर संस्था प्रधान को एपीओ कर दिया। प्रधानाध्यापक राजाराम मीणा ने बताया कि गांव के कुछ लोगों का खेल मैदान पर अतिक्रमण है। ऐसे में उनके द्वारा अतिक्रमण हटाने के प्रयास करने पर अतिक्रमियों द्वारा झूठी शिकायत कर उन्हें एपीओ करा दिया। 

Read More: #Meeting: अब आएंगे अच्छे दिन

69 छात्रों पर 6 शिक्षक 

विद्यालय में 8 कक्षाओं के 69 छात्रों पर प्रधानाध्यापक सहित 6 शिक्षक हैं। कार्यवाहक प्रधानाध्यापक रामकिशन वर्मा ने बताया कि खेल मैदान पर काबिज अतिक्रमियों का एक भी छात्र विद्यालय में नहीं है। ऐसे में अतिक्रमण हटाने के प्रयास करने पर ग्रामीण झूठी शिकायत करते हैं।

Read More: #Picnicspot: खतरे के साये में मौज-मस्ती

भवन भी जीर्ण-शीर्ण 

रूपाहेड़ा विद्यालय का भवन जीर्ण-शीर्ण होने से नए भवन की दरकार है। करीब 30 से 32 वर्ष पुराना भवन होने से जर्जर अवस्था में है। साथ ही बरसात में हल्की बारिश से ही पानी टपकने के साथ दीवारों से पानी रिसता है। ऐसे में छात्रों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। 

उपखंड अधिकारी  बीआर विश्नोई का कहना है कि सभी अतिक्रमियों को नोटिस जारी किए हैं। सप्ताह भर में समूचे खेल मैदान को अतिक्रमियों से मुक्त कर दिया जाएगा। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood