Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

हंस-हंस कर किए पापों को रो-रो कर भुगतना पड़ता है

Patrika news network Posted: 2017-06-19 16:54:23 IST Updated: 2017-06-19 18:03:50 IST
हंस-हंस कर किए पापों को रो-रो कर भुगतना पड़ता है
  • खानपुर कालीतलाई बालाजी विकास समिति के तत्वावधान में राष्ट्रीय स्तर की श्रीमद भागवत कथा चल रही है। प्रतिदिन समिति द्वारा पांडाल को बड़ा करने के बाद भी छोटा पड़ रहा है।

खानपुर.

खानपुर. यहां कालीतलाई बालाजी विकास समिति के तत्वावधान में चल रही राष्ट्रीय स्तर की श्रीमद भागवत कथा में सोमवार को कथा वाचक संत राधाकृष्ण महाराज ने कहा कि जीवन में हंस-हंस कर किए गए पापों को रो-रो कर भुगतना पड़ता है। 

इसलिए शरीर स्वस्थ रहने के दौरान अपने पापों का प्रायश्चित कर लेने से बाकी बचा जीवन सफलता से गुजर जाता है। 

जीवन में हम कितने भी बड़े बन जाएं लेकिन गुरु, संत, माता-पिता का सम्मान करना नहीं भूलना चाहिए। कथा के दौरान हिरण्यकश्यप वध का वर्णन किया तो श्रृद्धालू भाव विभोर हो गए। 

उनके संगीतयम भजन तुम हमारे हो प्रभुजी.....हम तुम्हारे है, गाया तो श्रृद्धालु पांडाल में नाच उठे। बाद मे श्रीकृष्ण जन्मोत्सव के दौरान समूचा पांडाल भक्तिमय होने पर हजारों लोग नाचने लगे। 


Read More: फादर्स-डे पर रिश्ते शर्मसार, बाप ने बनाया बेटी को हवस का शिकार


पंचमेवे का प्रसाद वितरण 

कथा के दौरान आयोजन समिति ने को पंचमेवे का प्रसाद वितरित किया। प्रतिदिन समिति द्वारा पांडाल को बड़ा करने के बाद भी छोटा पड़ रहा है। ऐसे में श्रृद्धालु कथा स्थल पर एलसीडी पर हो रहे सीधे प्रसारण में कथा का लाभ ले रहे हैं। 

स्वर्ण कलशारोहण शोभायात्रा आज 

कस्बे के कालीतलाई बालाजी मंदिर में मंगलवार को स्वर्ण कलशारोहण शोभायात्रा निकाली जाएगी। विकास समिति अध्यक्ष दुर्गाशंकर नागर ने बताया कि शोभायात्रा ३ बजे चांदखेड़ी से प्रारंभ होकर कालीतलाई मंदिर पहुंचेगी। बाद मे यहां शिखर पर स्वर्ण कलशारोहण किया जाएगा। 

 

Read More: लाइट आते ही चीख पड़े सभी, सफेद चादर में लटकी थी लाश


दुनिया के लोग भारत से सीख ले रहे हैं 

यहां कथा के दौरान विश्व हिन्दू परिषद के अंतरराष्ट्रीय महामंत्री दिनेशचन्द्र ने भाग लिया। उन्होंने कहा कि दुनिया के लोग भारत के हिन्दू परिवारों के जीवन मूल्यों से सीख ले रहे हैं। यूरोप, अरब देश, पश्चिमी देशों मे भी हिन्दू धर्म को संस्कृति के रूप मे देखा जा रहा है और इससे सीख ले रहे हैं। परिवार का आधार मां है, ऐसे में परिवार, समाज और विश्व के कल्याण में मां की भूमिका महत्वपूर्ण है। 

कथा में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सर कार्यवाह कृष्णगोपाल, रेवास के अग्र पीठाधीश्वर स्वामी राघवाचार्य, विहिप के राष्ट्रीय मंत्री महावीर प्रसाद, हरियाणा के विधायक जसवीर देशपाल, अखिल भारतीय गौसेवा प्रमुख शंकरलाल, सेवा भारती संगठन मंत्री मूलचन्द सोनी, भीलवाड़ा के गौ विज्ञान केन्द्र प्रमुख पुरषोत्तम कुमार, क्षेत्रीय प्रचारक नन्दलाल, कोटा विधायक संदीप शर्मा, पूर्र्व मंत्री मदन दिलावर सहित देशभर से आए पदाधिकारियों व उद्योपतियों ने भाग लिया। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood