Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

डॉक्टर ने किया टारगेट पूरे करने के लिए गर्भवती के साथ खिलवाड़

Patrika news network Posted: 2017-07-15 21:10:38 IST Updated: 2017-07-15 21:10:38 IST
डॉक्टर ने किया टारगेट पूरे करने के लिए गर्भवती के साथ खिलवाड़
  • झालावाड़ के भालता कस्बे के पीपीपी मोड पर चल रहे स्वास्थ्य केंद्र पर बुधवार को तीन माह की गर्भवती महिला की सर्जन ने अपने टारगेट पूरे करने के लिए नसबंदी कर दी। पीडि़ता को दर्द होने पर अकलेरा सीएचसी से गर्भपात कराया गया।

भालता.झालावाड़.

कस्बे के पीपीपी मोड पर चल रहे स्वास्थ्य केंद्र पर बुधवार को लगे नसबंदी कैम्प में चौकाने वाला मामला सामने आया है। इसमें तीन माह की गर्भवती महिला की सर्जन ने नसबंदी कर दी। पीडि़ता को दर्द होने पर अकलेरा सीएचसी से गर्भपात कराया गया।


जानकारी के अनुसार बोरखेड़ी ग्राम पंचायत के गांव भीलखेड़ा निवासी महिला प्रेमबाई तंवर 36 पत्नी ग्यारसीराम नसबंदी कराने के लिए परिजन के साथ पीएचसी पहुंची। महिला ने नसबंदी से पहले पीएचसी की लैब में जांच कराई थी। जिसमें महिला तीन माह से गर्भवती मिली। इन हालातों में नसबंदी नहीं हो सकती है। महिला को जांच रिपोर्ट में स्वयं के गर्भवती होने की जानकारी थी। 


इसके बाद भी पीएचसी के डॉक्टर राधेश्याम जोशी और एएनएम ममता लोधा ने जांच रिपोर्ट में हेरा-फेरा और संशोधन कर नसबंदी करने वाले सर्जन को नेगेटिव रिपोर्ट दिखाकर जबरन नसबंदी करा दी। इसके बाद परेशान महिला गुरुवार को अकलेरा सीएचसी पहुंची और गर्भपात कराया।


Read More: OMG! स्कूल जाती बच्चियों पर थी इस हैवान की बुरी नजर, चॉकलेट का लालच दे करता था "गंदी बात"


शनिवार को महिला प्रेमबाई ने बताया कि जब वह गर्भवती थी तो डॉक्टर को नसबंदी नहीं करनी चाहिए थी। नसबंदी के बाद मुझे प्रमाण-पत्र भी नहीं दिया गया। महिला ने आरोप लगाया कि विभाग ने अपने टारगेट पूरे करने के लिए ऐसा किया। नसबंदी कैम्प में कुल 10 ही रजिस्ट्रेशन हुए थे।

नसबंदी सर्जन एमएल मीणा का कहना है कि मै इस बारे में आपको कुछ नहीं बता सकता। आप सीएमएचओ से पूछें।

बकानी ब्लॉक सीएमएचओ डॉ. मृत्युंजय मंडल का कहना है कि इसमें आप पीएचसी के चिकित्सक से जानकारी ले तो ही ठीक रहेगा। वे ही कुछ बता पाएंगे।

Read More: #फॉलोअपः 11 दिन बाद गिरफ्त में आया 6 साल की बच्ची से दुष्कर्म करने वाला

झालावाड़ सीएमएचओ डॉ. साजिद खान का कहना है कि भालता में नसबंदी शिविर में लापरवाही के मामले में जानकारी मिली है। मामले को दिखाते हैं। जांच के लिए तीन सदस्यों की टीम बनाई है। किसी भी प्रकार की लापरवाही मिलने पर तुरंत कार्रवाई की जाएगी।

भालता पीएचसी चिकित्सक डॉ.आरएस जोशी का कहना है कि जो आरोप लग रहे हैं उनकी अधिकारियों द्वारा जांच हो जाएगी। उसमें पता चल जाएगा। हम ने नियमानुसार ही कार्य किया है।

rajasthanpatrika.com

Bollywood