शिक्षा सारथी: बच्चे फेल नहीं हो जाएं, इसलिए ये गुरुजी जुट गए

Patrika news network Posted: 2017-03-01 10:48:48 IST Updated: 2017-03-01 10:48:48 IST
शिक्षा सारथी: बच्चे फेल नहीं हो जाएं, इसलिए ये गुरुजी जुट गए
  • बेहतर परिणाम के लिए शिक्षक ने उठाया बीड़ा, रोजाना दो से तीन घंटे बोर्ड कक्षाओं को पढ़ा रहा है शिक्षक सुरेन्द्र कुमार यादव

सोपाराम सुथार @ मेंगलवा (जालोर)

देताकला के वाडानाडी प्राथमिक विद्यालय में कार्यरत शिक्षक ने स्कूल में शिक्षकों की कमी को  बयां करने की बजाय बच्चों के शैक्षणिक स्तर सुधारने के लिए विशेष पहल की है। कस्बे के आदर्श राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में गणित विषायाध्यापक न होने के कारण बोर्ड के बच्चो की परिस्थितियो को देखते हुए उन्हें इस समस्या से उबारने का जिम्मा एक प्राथमिक विद्यालय शिक्षक सुरेन्द्रकुमार यादव  ने उठाया है।

दरअसल गणित  का अध्यापक न होने के कारण दसवी बोर्ड परीक्षा में बच्चो की बेहतरी के लिए शिक्षक सुरेन्द्रकुमार यादव निकटवर्ती राजकीय प्राथमिक विद्यालय वाडानाडी देताकला ने विद्यालय समय बाद बच्चों को गणित पढ़ाकर अपना फर्ज निभा रहे है। ऐसा अनुकरणीय काम देखकर सभी ग्रामवासी भी अध्यापक की सराहना करते नहीं थकते है। जब अन्य शिक्षक छुट्टी के बाद आराम करते है उस समय शिक्षक सुरेन्द्रकुमार बच्चों का शैक्षणिक स्तर सुधारने के लिए गणित के प्रश्न हल करवाने में जुटे रहते हैं।

इनका कहना

विद्यालय के बच्चों ने मुझे बताया कि बोर्ड परीक्षा नजदीक है तथा विद्यालय में गणित विषाध्यापक नहीं है।बच्चों की परेशानी को देखते हुए मैंने प्रतिदिन दो घंटे बच्चों को अध्ययन करवाने पर सहमति दी और फिलहाल यह कार्य जारी है।

सुरेन्द्रकुमार यादव, शिक्षक

rajasthanpatrika.com

Bollywood