Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

खास बातचीत-- हवाई सेवा शुरू होने पर जैसलमेर में फिल्म शूटिंग का तांता लग जाएगा: मुकेष ऋषि

Patrika news network Posted: 2017-07-14 22:47:15 IST Updated: 2017-07-14 22:47:15 IST
खास बातचीत--
हवाई सेवा शुरू होने पर जैसलमेर में फिल्म शूटिंग का तांता लग जाएगा: मुकेष ऋषि
  • -फिल्मों के प्रसिद्ध खलनायक ने जैसलमेर की जमकर तारीफ की -सीरियल की शूटिंग में भाग लेकर मुम्बई लौटे

जैसलमेर. हिंदी और दक्षिण भारतीय फिल्मों में खल भूमिकाएं निभाने वाले नामचीन कलाकार मुकेश ऋषि ने जैसलमेर में हवाई सेवा की शुरूआत होने की संभावनाओं पर खुशी जताई। उन्होंने कहा कि जैसलमेर में हवाई यातायात की सुविधा मिल जाने के बाद यहां फिल्मों की शूटिंग करने आने वालों का तांता लग जाएगा। मुकेश ऋषि जैसलमेर में टीवी सीरियल की शूटिंग में यहां आए हुए थे और शुक्रवार को जोधपुर होते हुए मुम्बई लौट गए। रवाना होने से पहले उन्होंने सम मार्ग स्थित होटल में पत्रकारों के साथ कई विषयों पर खुलकर चर्चा की।
पीला पत्थर जैसलमेर की जान
मुकेश ऋषि ने जैसलमेर के पीले पत्थर को यहां की जान बताया और कहा कि इस पत्थर की बदौलत यह शहर किसी भी देखने वाले को पहली नजर में मंत्रमुग्ध कर लेता है। कैमरे में भी यही पत्थर और उभर कर सामने आता है। उन्होंने जैसलमेर में वर्षों  पहले ‘सरफरोश’ फिल्म की शूटिंग के दौरान बिताए समय को याद किया। मूलत: जम्मू के निवासी मुकेश ऋषि ने कश्मीर समस्या पर भी विचार व्यक्त किए। उन्होंने कश्मीर समस्या को ‘राजनीतिक’ बताया और कहा कि इसके समाधान के लिए गंभीरता व गहराई से कदम उठाने की जरूरत है। अभिनेता ने कश्मीर में सुरक्षा बलों के खिलाफ आतंकी हमलों और पत्थरबाजी की घटनाओं पर दर्द का इजहार किया। असहिष्णुता के मसले पर बोलते हुए फिल्म अभिनेता ने कहा कि यह समस्या हालिया वर्षों में ही देखने को आ रही है। इससे पहले ऐसा कुछ नहीं था। 
भाई-भतीजावाद कहां नहीं
मुकेष ऋषि ने बॉलीवुड में भाई-भतीजावाद को कतई अस्वाभाविक मानने से इनकार किया और कहा कि वंषवाद या भाई-भतीजावाद किस क्षेत्र में नहीं है। फिल्म लाइन से जुड़े लोगों की अगली पीढ़ी सहज भाव से फिल्मों से ही तो जुड़ेगी, इसमें हर्ज क्या है?  फिल्मों पर सेंसरशिप का भी मुकेश ऋषि ने विरोध किया और कहा कि यह लोगों पर छोड़ दिया जाना चाहिए कि, वे क्या देखना चाहते हैं और क्या नहीं। इसमें सरकार या किसी संस्था को दखल देने की जरूरत ही नहीं है।

rajasthanpatrika.com

Bollywood