Breaking News
  • जम्मू-कश्मीर: अनंतनाग के बिजबेहरा में मंत्री अब्दुल रहमान वीरी की कार पर पत्‍थर फेंके गए
  • सेंसेक्स 172.37 अंकों की बढ़त के साथ 29,409.52 पर बंद, निफ्टी में 55.60 अंकों का उछाल
  • नागौर: अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक पर जा रहे भाई-बहिन घायल, इंदास की सरहद की घटना
  • करौली: करंट लगने से एक की मौत
  • टोंक: टोडारायसिंह में विवाहिता ने फंदा लगा की आत्महत्या
  • कोटा: बोरखेड़ा इलाके में महिला ने फंदा लगा की आत्महत्या
  • चूरू: पिकअप पलटने से एक की मौत, पांच घायल, राजपुरा गांव की घटना
  • जयपुर: कुएं में गिरने से वृद्धा की मौत, गजाधरपुरा गांव की घटना
  • झुंझुनूं: सूरजगढ़ में कुए में गिरने से युवक की मौत, भूडनपुरा गांव की घटना
  • जोधपुर: गगाड़ी गांव की नहर में कूदकर महिला ने की आत्महत्या
  • कोटा: देईखेड़ा गांव में महिला ने विषाक्त खाया, अस्पताल में भर्ती
  • पाली: कार लूट के आरोपी को भेजा जेल,निम्बली में लूटी थी कार
  • टोंक: पिल्लर गिरने से एक जने की मौत, उनियारा की घटना
  • झुंझुनू: दहेज प्रताडना के मामले में आरोपी पति को किया गिरफ्तार, छापौली का मामला
  • झुंझुनू: लोहार्गल में व्यक्ति की जेब से एक लाख रुपए पार
  • ब्रह्माकुमारी संस्थान संयुक्त मुख्य प्रशासिका दादी हृदयमोहिनी को डॉक्टरेट की उपा​धि से नवाजा जाएगा
  • जयपुरः अशोक मार्ग आैर हवा सड़क को १०० फुट किया जाएगा
  • टोंक: ट्रैक्टर-ट्रॉली से कुचलकर बालक की मौत, हिंगोनिया गांव की घटना
  • कोटपूतली के स्टेट बैंक आॅफ पटियाला में लगी आग,पुलिस व दमकल मौके पर पहुंची
  • जयपुरः 22 गोदाम से महेश नगर फाटक तक ४० फुट होगी सड़क
  • जयपुर: महेश नगर फाटक से गोपालपुरा बायपास तक होगी 60 फुट सड़क
  • जयपुर: महेन्द्र सिंह शेखावत बने भाजयुमो के राष्ट्रीय सचिव
  • जयपुर:दौलतपुरा टोल प्लाजा पर एक लाख के सिक्के पकड़े,एक कार जब्त,एक गिरफ्तार
  • बडगाम एनकाउंटर: पत्थरबाजी के दौरान CRPF के 43 और स्थानीय पुलिस के 20 जवान जख्मी
  • चांद नहीं दिखा,अब बुधवार रात को होगी उर्स की पहली महफ़िल
  • आज से शुरू हुआ नव संवत्सर, नवऱात्र पर घर-घर हुई घट स्थापना
  • 4 को रामनवमी का अवकाश होने के कारण हो सकता है उर्स की छुट्टी में परिवर्तन
  • अलवर :खेरली में ट्रेन की चपेट में आने से अध्यापक की मौत
  • सरकार ने गेहूं, तुअर दाल पर 10 प्रतिशत आयात शुल्क लगाया
  • भीलवाड़ा : पाटन पंचायत क्षेत्र के लाम्बा गांव में बाड़े से 150 पेटी देशी शराब जब्त
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

कृष्ण धुन ने जहां बिखेरी 'वृंदावन' सी महक, मगर निगम नहीं चाहता कि गायें खाएं-पीएं व स्वस्थ रहें -जानिये क्यों ?

Patrika news network Posted: 2017-03-11 08:52:13 IST Updated: 2017-03-11 08:56:15 IST
कृष्ण धुन ने जहां बिखेरी 'वृंदावन' सी महक, मगर निगम नहीं चाहता कि गायें खाएं-पीएं व स्वस्थ रहें -जानिये क्यों ?
  • हजारों गायों की मौत से हुई किरकिरी के बाद गौशाला की कमान अक्षयपात्र को सौंपी थी। तब से सफाई और देखभाल से गायों की संख्या 25 प्रतिशत की दर से बढ़ रही है। मृत्युदर 50 प्रतिशत घटी है।

जयपुर

गोविंद.. गोपाल.. मधुसूधन.. मुरारी.. मनमोहन..। ये उन सेवकों के नाम हैं जो हिंगोनिया गौशाला में गायों की देखभाल कर रहे हैं। चहुंओर लगे माइक पर 'हरे रामा, हरे कृष्णा' की धुन सुनाई देती है। कृष्ण नाम की इस धुन-पुकार ने काल के गाल में समाती गायों को न सिर्फ मौत के बाड़ों से उबारा, उन्हें नई ऊर्जा भी दी है। 




गौशाला में गायें अब स्वस्थ-मस्त हैं, निगम ने ढर्रा अब तक नहीं सुधारा। समय पर भुगतान की बजाय 4 करोड़ पर कुंडली मारे बैठा है। 

श्यामवीर सिंह जादौन,एमएल शर्मा




हजारों गायों की मौत से हुई किरकिरी के बाद गौशाला की कमान अक्षयपात्र को सौंपी थी। तब से सफाई और देखभाल से गायों की संख्या 25 प्रतिशत की दर से बढ़ रही है। मृत्युदर 50 प्रतिशत घटी है। प्रतिदिन दुग्ध उत्पादन 563 लीटर तक पहुंच गया है।




निगम बकाया 4 करोड़ के भुगतान से कन्नी काट रहा है। एमओयू के बावजूद गायों की प्रतिदिन खुराक के तय 75 रुपए का भुगतान नहीं कर रहा। गायें बढऩे से हरे-सूखे चारे की मांग बढ़ रही है। 

पहले भी हाईकोर्ट की फटकार के बाद निगम ने 3 माह के बकाया 4 करोड़ का भुगतान अक्षयपात्र को किया था।

दुग्ध उत्पादन...(लीटर प्रतिदिन)

अक्टूबर 2016 - 176 ,नवंबर 2016 -217,दिसंबर 2016 -270,जनवरी 2017-385 और फरवरी 2017-563 ।


गायों की संख्या...

9,264, 9,158, 9,443, 11,557, 13,317

घटी मृत्युदर ...

14.04 %, 14.10%, 10.39%,  8.40%, 6.30%


यह है करार...

निगम ने करार किया था कि अक्षयपात्र को प्रति गाय 70 और प्रति बछड़ा 35 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से भुगतान होगा। वहीं, गौशाला के विस्तार व वार्डों के निर्माण के लिए अलग से बजट देना है। 




अक्टूबर 2016 में अक्षयपात्र ने गौशाला संभाली तब निगम ने 75 लाख का भुगतान किया। 




यूं सुधरे हालात...

गौशाला में गायों की देखरेख योजनाबद्ध ढंग से की जा रही है। वार्ड प्रभारी और सुपरवाइजरों को 30 वॉकी-टॉकी दिए गए हैं। गायों के लिए सूखे चारे में मशीनों के जरिए पशु आहार मिलाया जाता है। वार्डों की साफ-सफाई, टिन शेड सहित अन्य व्यवस्थाएं पुख्ता की गई हैं। 




...नहीं तो यह असर 

बकाया भुगतान नहीं हुआ तो पशु आहार की खरीद रुक सकती है। मजदूरों का भुगतान रुकने से गायों की देखरेख और हरे-सूखे चारे की खरीद रुकी तो गायों का स्वास्थ्य गड़बड़ाने की आशंका। 




आईसीयू में भर्ती गायों के उपचार से जुड़ी दवाओं का भी टोटा होने लगेगा। लू से बचाव के इंतजाम में परेशानी आ सकती है। 



13 हजार गायें...

गौशाला में गत माह तक 13317 गाय थीं। हर माह गौशाला में गायों की संख्या बढ़ रही है। पहले 9000 गायों पर ही 45 से 50 गायों की रोजाना मौत हो रही थी 



लेकिन अब 13317 हैं लेकिन मौत का आंकड़ा घटकर 25 पर आ गया है। अभी हो रही मौतों का बड़ा कारण बाहर से आने वाली घायल-अचेत गायें हैं। 


नगर निगम में 3.90 करोड़ के बकाया भुगतान के दस्तावेज जमा कराए हैं लेकिन भुगतान नहीं मिल रहा। बजट के अभाव में निर्माण कार्य बंद होने की स्थिति में हैं। 

राधाप्रियदास, प्रभारी, हिंगोनिया गौशाला, अक्षयपात्र फाउंडेशन 

अक्षयपात्र को 382 बीघा जमीन देने की कारवाई चल रही है। बकाया भुगतान को लेकर भी काम हो रहा है। 

शिवभगवान गठाला, डीसी, गौशाला 



#Holi Video: अपनों को रंगने को तैयार गुलाबी नगर: देखिए कैसे बाजार में सजीं हैं यहां रंगों की दुकानें

rajasthanpatrika.com

Bollywood