Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

ATM लूटने को रात में दो युवकों ने तोड़-फोड़ कर दी, लेकिन कैश बॉक्स ने बचाए लाखों रुपए

Patrika news network Posted: 2017-06-18 20:13:36 IST Updated: 2017-06-18 20:13:36 IST
ATM लूटने को रात में दो युवकों ने तोड़-फोड़ कर दी, लेकिन कैश बॉक्स ने बचाए लाखों रुपए
  • युवकों ने मुंह पर बांध रखा था कपड़ा। सीसीटीवी कैमरे में दिखाई दिए संदिग्ध के फुटेज। लेकिन वे उसे भी मरोड़ गए...

जयपुर.

यहां बस्सी थाना क्षेत्र के मोहनपुरा गांव स्थित विजया बैंक के एटीएम में दो संदिग्ध युवकों ने देर रात रुपए निकालने के लिए तोडफ़ोड़ की। एटीएम का कैश बॉक्स नहीं टूटने से वे नकदी नहीं निकाल पाए।


पुलिस ने बताया कि रोजाना की तरह विजया बैंक के प्रबंधक विकास शर्मा शनिवार शाम बैंक बंद कर घर चले गए। बैंक के पास लगे एटीएम में 8 लाख रुपए की नकदी डालकर गए थे। एटीएम पर तैनात चौकीदार प्रहलाद सैनी भी रात सवा नौ बजे एटीएम की शटर बंद कर घर चलाया गया।


एटीएम में तोडफ़ोड़, कैश बॉक्स नहीं टूटने से बचे रुपए

रात करीब 1.15 पर दो संदिग्ध युवक शटर तोड़कर अंदर घुसे और सीसीटीवी कैमरे को लोहे की राड़ से क्षतिग्रस्त कर दिया। इसके बाद एटीएम में तोडफ़ोड़ की, लेकिन रुपए नहीं निकले पर दोनों बाहर चले गए। करीब 15 मिनट बाद दोनों वापस आए और शटर को अंदर से बंद कर एटीएम में तोडफ़ोड़ करने लगे। रात 2 बजे तक एटीएम में तोडफ़ोड़ करने बाद जब कै श बॉक्स नहीं टूटा तो वे भाग गए।


Read: अनदेखी के चलते बदहाल हो रहा जयपुर का ये वन, देखें, झूले, फिसलपट्टी, टेनिस कोट, बैंच सब टूटे

दो युवकों ने किया चोरी का प्रयास

 घटना की जानकारी मिलने पर बस्सी एसीपी पुष्पेन्द्र सिंह, थाना प्रभारी वीरेन्द्र सिंह व एसआई अनिल कुमार मय जाप्ते मौके पर पहुंचे और मौका मुआयना किया। पुलिस सीसीटीवी में मिले फुटेज के आधार पर संदिग्धों की तलाश में जुटी है। इसके लिए थानाधिकारी ने तीन अलग-अलग टीमें गठित की हैं।


मुंह पर बांध रखा था कपड़ा

एटीएम पर तैनात चौकीदार प्रहालाद सैनी रविवार सुबह 7.30 बजे एटीएम रूम खोलने पहुंचा तो शटर टूटा देखकर घबरा गया। जब उसने शटर ऊंचा कर देखा तो एटीएम में तोडफ़ोड़ मिली। इस पर उसने तुरंत बैंक प्रबंधक को इसकी जानकारी दी, जिस पर बैंक प्रबंधक बैंक शाखा पहुंचे। यहां पर पुलिस ने बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरों के रिकॉर्ड को खंगाला तो उसमें दो संदिग्ध घटना को अंजाम देते दिखे। दोनों ने अपनी पहचान छिपाने के लिए मुंह पर कपड़ा बांध रखा था।


फैक्ट फाइल

-8 लाख रुपए डाले थे शनिवार को।

-2.50 लाख ग्राहकों ने निकाले।

-5.50 लाख रुपए बच गए।

-2 बार एटीएम रूप में घुसे चोर।

-2 बजे तक करते रहे तोडफ़ोड़।


Read: जयपुर में कैसा फादर्स डे? नाबालिग बेटी बोली- मां को तलाक दे छोडा, अब मुझे बनाया हवस का शिकार

rajasthanpatrika.com

Bollywood