राजस्थान में आमजन को डरा रहा स्वाइन फ्लू, अफसरों के मुंह पर लगे 'ताले'

Patrika news network Posted: 2017-05-20 16:30:14 IST Updated: 2017-05-20 16:30:14 IST

राजस्थान में आमजन को डरा रहा स्वाइन फ्लू, अफसरों के मुंह पर लगे 'ताले'
  • अकेले राजधानी जयुपर में ही स्वाइन फ्लू पॉजीटिव मरीजों का आंकड़ा 171 पहुंच गया है। दस मौत हो चुकी हैं। वायरस इतनी भीषण गर्मी में जिंदा कैसे है? अफसर क्यों कुछ नहीं कह रहे...

जयपुर.

 प्रदेश में स्वाइन फ्लू के बढ़ते मामलों से लोग दहशत में हैं, लेकिन अफसर स्वाइन फ्लू के बढ़ते मामलों पर पूरी तरह से चुप्पी साधे हुए हैं। राजधानी जयपुर में स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या अब 171 तक पहुंच चुकी है,


लेकिन विभाग के अधिकारी अब तक पुणे की वायरोलॉजी लैब से वायरस की जांच रिपोर्ट तक नहीं मंगा सके हैं। उधर विभाग में स्वाइन फ्लू की रोकथाम के लिए दिन भर बैठकों का दौर चल रहा है, लेकिन राजधानी जयपुर में स्वाइन फ्लू की रोकथाम के कोई ठोस कदम नहीं उठाए जा रहे हैं। स्वाइन फ्लू से अब तक राजधानी में दस मौत हो चुकी हैं।


रिपोर्ट आए तो हो इलाज की दिशा तय

असल में अभी चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी पुणे की वायरोलॉजी लैब में वायरस की जांच के लिए भेजे गए सैंपल की जांच रिपोर्ट का इंतजार कर रहे है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि जब तक यह पता नहीं चले कि वायरस इतनी भीषण गर्मी में जिंदा कैसे है तब तक कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी।


Read: दुनियाभर में 1500 करोड कमाने वाली पहली इंडियन मूवी बनी बाहुबली 2, महज 20 दिन में बना ये क्लब

हालांकि अधिकारी यह भी कह रहे हैं कि इस बार मौत का आंकड़ा कम है क्योंकि स्वाइन फ्लू को लेकर विभाग की ओर से जागरूकता के व्यापक स्तर पर इंतजाम किए गए हैं।


निजी अस्पतालों में भी जांच निशुल्क

उधर प्रदेश में स्वाइन फ्लू के बढ़ते मामलों को सरकार ने गंभीरता से लेते हुए स्वाइन फ्लू की जांच निजी अस्पतालों में भी निशुल्क करने का फैसला लिया है। वहीं प्रदेश के सभी सरकारी मेडिकल कॉलेजों में स्वाइन फ्लू की जांच पहले से ही निशुल्क हो रही है।


आखिर कैसे बढ़ा स्वाइन फ्लू सब चिंतित

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग अब भी इसी असमंजस में हैं कि राजधानी जयपुर में सबसे ज्यादा स्वाइन फ्लू का प्रकोप क्यों है। जबकि कुछ जिले ऐसे भी हैं जहां इस साल एक भी मामला स्वाइन फ्लू का सामने नहीं आया है। जबकि प्रदेश के अन्य जिलों में भी तापमान इस समय 42 डिग्री से उपर पहुंच गया है और यह वायरस सबसे ज्यादा असर जयपुर में ही दिखा रहा है।


Read: झुलसाती गर्मी के बीच मिला अलर्ट, प्रदेशभर में अगले 24 घंटे में मेघगर्जन के साथ आएंगी बौछारें

राजधानी जयपुर में प्रदेश में सर्वाधिक 10 मौत स्वाइन फ्लू से हो चुकी हैं। वहीं पॉजीटिव मामले भी प्रदेश में सबसे ज्यादा जयुपर में ही हैं।


Read: जयपुर में JLN मार्ग पर देखें 'बाप रे बाप', ये है पद्मश्री से सम्मानित स्वर्गीय केपी सक्सेना द्वारा रचित ड्रामा

rajasthanpatrika.com

Bollywood