ये तो नगर निगम का कार्रवाई के नाम पर मजाक है?

Patrika news network Posted: 2016-12-01 22:59:44 IST Updated: 2016-12-01 22:59:44 IST
ये तो नगर निगम का कार्रवाई के नाम पर मजाक है?
  • सवाई मानसिंह अस्पताल ने 180 लोगों को उनके परिजनों का मृत्यु प्रमाण पत्र तय अवधि में नहीं दिया। नगर निगम ने सख्ती दिखाते हुए प्रति रिपोर्ट एक रुपए का यानि 180 रुपए का जुर्माना कर दिया। यानि एक व्यक्ति की परेशानी की कीमत एक रुपया आंकी गई।

जयपुर. सरकारी विभागों को लोगों की संवेदना और परेशानी से कोई सरोकार नहीं होता, यह इस वाकये से समझ में आ जाता है। सवाई मानसिंह अस्पताल ने 180 लोगों को उनके परिजनों का मृत्यु प्रमाण पत्र तय अवधि में नहीं दिया। नगर निगम ने सख्ती दिखाते हुए प्रति रिपोर्ट एक रुपए का यानि 180 रुपए का जुर्माना कर दिया। यानि एक व्यक्ति की परेशानी की कीमत ण्क रुपया आंकी गई।

21 दिन में भेजनी थी रिपोर्ट

अस्पताल प्रशासन को मृत व्यक्तियों की रिपोर्ट 21 दिन की समयावधि में निगम को भेजनी होती है। अस्पताल प्रशासन ने उक्त अवधि गुजरने तक 180 लोगों की रिपोर्ट नहीं डाली, जिसके चलते प्रभावित परिवारों को मृत्यु प्रमाण-पत्र जारी नहीं हुए। निगम ने नियमानुसार एक रुपए प्रति रिपोर्ट के आधार पर यह जुर्माना लगाया है। अस्पताल प्रशासन ने जुर्माने की यह राशि तुरंत जमा भी करवा दी। इससे पहले भी निगम की ओर से कई निजी अस्पतालों पर यह जुर्माना लगाया जा चुका है।

यूं बिगड़ा मामला

पहले निगम ने अस्पताल में काउंटर लगा रखा था, लेकिन अस्पताल की आपत्ति के बाद 13 नवंबर को उसे हटा लिया। निगम ने साफ कर दिया था कि इसके बाद अस्पताल प्रशासन को अपने स्तर पर यह प्रमाण-पत्र जारी करने होंगे और पोर्टल पर समय पर सूचना भिजवानी होगी। निगम ने काउंटर हटवाने के बाद से यह परेशानी खड़ी हुई है।

rajasthanpatrika.com

Bollywood