राजस्थान यूनिवर्सिटी की ये बड़ी परीक्षाएं हुई निरस्त, अब आवदेकों को लौटाई जाएगी वसूली गई फीस

Patrika news network Posted: 2017-03-10 10:50:22 IST Updated: 2017-03-10 10:50:22 IST
राजस्थान यूनिवर्सिटी की ये बड़ी परीक्षाएं हुई निरस्त, अब आवदेकों को लौटाई जाएगी वसूली गई फीस
  • राजस्थान विश्वविद्यालय ने प्रबंधक, स्टेनो ग्रेड द्वितीय , कनिष्ठ लिपिक के पदों पर भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किए थे। अभ्यर्थियों ने एक एक हजार रूपए आवेदन शुल्क दे आवेदन किया था लेकिन भर्ती नहीं होने से आवेदकों को शुल्क का इंतजार था।

जयपुर।

राजस्थान विश्वविद्यालय तीन साल बाद भर्ती के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों का आवेदन शुल्क वापस लौटाएगा। 2014 में निकाली गई कनिष्ट लिपिक व स्टेनो के पदों के लिए 8976 आवेदकों ने इस भर्ती परीक्षा के लिए आवेदन किया था। ये भर्ती प्रक्रिया विवादों के चलते शुरू ही नहीं हो सकी थी। 


दरअसल, विश्वविद्यालय ने आवेदकों से आवेदन पत्र मांगे थे। आवेदन के साथ प्रत्येक आवेदक से एक हजार रूपए शुल्क भी परीक्षा के लिए लिया गया था, लेकिन अब तीन साल बाद विश्वविद्यालय ने इस भर्ती को निरस्त कर आवेदकों के शुल्क में से 72 लाख रूपए वापस देने का फैसला लिया है। 


वसूले 76 लाख, लौटाएंगे 75 लाख 

इस भर्ती के लिए विश्वविद्यालय को कुल 8976 आवेदन प्राप्त हुए थे। जिनसे बतौर आवेदन शुल्क राशि विश्वविद्यालय ने कुल 76 लाख 59 हजार रूपए वसूले थे। लेकिन इनमें से अब विश्वविद्यालय 4 लाख 48 हजार आठ सौ रूपए काटकर शुल्क लौटाएगा। 


विश्वविद्यालय प्रत्येक आवेदनकर्ता के पचास रूपए पोस्टल चार्ज व सर्विस चार्ज के काटकर पैसा लौटाएगा। जिसके बाद वसूली गई कुल राशि में से 72 लाख 10 हजार दो सो रूपए वापस लौटाएगा। आवेदकों को राशि लौटाने के लिए विश्वविद्यालय ने प्रकिया शुरू कर दी हैं। 


इन पदों के लिए मांगे थे आवेदन 

राजस्थान विश्वविद्यालय ने प्रबंधक, स्टेनो ग्रेड द्वितीय , कनिष्ठ लिपिक के पदों पर भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किए थे। इन पदों के लिए आवेदन प्रकिया जनवरी व फरवरी माह 2014 में ही पूरी कर ली गई थी। जिसमें कुल 101 पदों के लिए यह भर्ती होनी थी। इन पदों पर भर्ती के लिए अभ्यर्थियों ने एक एक हजार रूपए आवेदन शुल्क दे आवेदन किया था लेकिन भर्ती नहीं होने से आवेदकों को शुल्क का इंतजार था।

rajasthanpatrika.com

Bollywood