Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

राजस्थान में उड़ान सेवा के विस्तार में आया नया 'पेंच', प्राइवेट कंपनियों ने सरकार के सामने रख डाली कई शर्तें

Patrika news network Posted: 2017-07-09 11:46:52 IST Updated: 2017-07-09 11:46:52 IST
राजस्थान में उड़ान सेवा के विस्तार में आया नया 'पेंच', प्राइवेट कंपनियों ने सरकार के सामने रख डाली कई शर्तें
  • शर्तों में विमान ईंधन पर वैट एक प्रतिशत करने, नि:शुल्क बिजली, पानी और सुरक्षा व्यवस्था मुहैया करना आदि शामिल है।

कुमार पंकज/ नई दिल्ली।

निजी एयरलाइन कंपनियों ने राजस्थान में उड़ान सेवा का विस्तार करने के लिए राज्य सरकार से कई मुद्दों पर शर्त रखी है। इन शर्तों में विमान ईंधन पर वैट एक प्रतिशत करने, नि:शुल्क बिजली, पानी और सुरक्षा व्यवस्था मुहैया करना आदि शामिल है। 


क्षेत्रीय संपर्क योजना (आरसीएस) के तहत राज्यों में एयरलाइंस सेवा के विस्तार के लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय, विमानन कंपनियों और राज्य सरकार के प्रतिनिधियों के बीच हुई बैठक में कंपनियों ने कई मुद्दों पर राज्यों से आश्वासन भी मांगा है। जिसमें राजस्थान सरकार से भी कहा गया है कि योजना के तहत आने वाली आधी (न्यूनतम नौ तथा अधिकतम 40) सीटों के लिए वायेबिलिटी गैप फंडिंग(वीजीएफ) के रूप में सरकार क्या क्षतिपूर्ति देती है। क्योंकि विमानन कंपनियां तभी परिचालन शुरू करेंगी जब वे आश्वस्त हो जाएगी कि उनकी सेवा का लाभ यात्री उठा रहे हैं और उनका आर्थिक नुकसान नहीं हो रहा है। 


बैठक में नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू ने कहा कि अपने यहां आने वाले पर्यटकों की सूचना एयरलाइंसों के साथ साझा करें, जिससे विमान सेवा कंपनियां उनके राज्यों के शहरों को अपने नेटवर्क में जोडऩे के बारे में सही योजना बना सकें।


किन कंपनियों ने दिखाई है दिलचस्पी

इंडिगो, गो एयरवेज, जेट एयरलाइंस, जूम एयर विमानन कंपनियों ने राज्य में हवाई नेटवर्क विस्तार करने पर सहमति जताई है। लेकिन इसके लिए शर्त यही है कि किन शहरों से किन शहरों के पर्यटकों का आवागमन ज्यादा होता है वह सूचना उपलब्ध कराना होगा। इससे कंपनियों को रूट तय करने में आसानी होगी।


आरसीएस क्या है

क्षेत्रीय संपर्क योजना (आरसीएस) का उद्देश्य छोटे तथा मझौले शहरों को बड़े शहरों से जोडऩा है। इसमें 50 प्रतिशत सीटों के लिए दूरी के हिसाब से अधिकतम किराया सरकार ने तय कर दिया है। अन्य सीटों के लिए किराया तय करने की छूट एयरलाइंसों को दी गई है।


पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा

इस योजना के शुरू हो जाने से पर्यटन को और भी बढ़ावा मिलेगा। राजस्थान जाने वाले पर्यटकों को पूरा प्रदेश घूमने में 10 से 15 दिन का समय लगता है। अगर हवाई सेवा की सुविधा उपलब्ध हो जाएगी तो यह समय कम हो जाएगा।


...इधर, एयर इंडिया पर 1.92 लाख का जुर्माना

जोधपुर। जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोष संरक्षण मंच प्रथम ने एयर इंडिया पर 1,92,587 रुपए का जुर्माना लगाया है। मंच ने ये आदेश हांगकांग निवासी परिवादी सुनिल व्यास हाल निवासी ओसवालों के न्याति नोहरा ओर से पेश परिवाद की सुनवाई करते हुए दिए। हांगकांग से जोधपुर आते वक्त सुनिल का सूटकेस गायब हो गया था, जो शिकायत के बाद भी नहीं मिला।

rajasthanpatrika.com

Bollywood