Breaking News
  • उदयपुर : सेना के कैम्पस एकलिंगगढ़ छावनी के पास भीषण आग, दमकल पहुंचीं
  • जोधपुर : पांच दिन से नहीं चल रही बस, फिर भी दिया एडवांस टिकट, रोडवेज की कारगुजारी
  • उदयपुर:सेना की एकलिंगगढ़ छावनी के पास भीषण आग,एसपी-कलक्टर मौके पर
  • सीकर : देह व्यापार में शामिल नेपाल की कॉल गर्ल, दलाल एवं होटल मैनेजर को जेल
  • किशनगढ़ : 50 लाख की अवैध शराब जब्त, चालक-खलासी हिरासत में
  • करौली : कई स्थानों पर आयकर की कार्रवाई, हिंडौन सिटी में भी छापे
  • नागौर : पैदल सड़क पार कर रहे पंजाब निवासी ट्रक चालक को बोलेरो ने मारी टक्कर, मौके पर ही मौत
  • जोधपुर:पावटा चौराहे के पास सड़क किनारे मिला बालिका का भ्रूण
  • बांसवाड़ा : गर्मी ने किया हाल बेहाल, मार्च में ही पारा 44 के पार
  • अलवर : ज्वैलरी खुर्द-बुर्द करने वाली मां गिरफ्तार, रेलवे में है कर्मचारी, मोहम्मद नूर हत्याकांड मामला
  • बांसवाड़ा : कार की चपेट में आने से बालिका घायल, उदयपुर लिंक रोड पर कर रही थी सड़क पार
  • उदयपुर : मसाज पार्लर संचालक के खिलाफ 20 घंटे में चालान पेश, ऑस्ट्रिया की महिला से छेड़छाड़ का मामला
  • भीलवाड़ा : सवा किलो अफीम के साथ गिरफ्तार किए गए तीन जनों को किया कोर्ट में पेश, लिया रिमांड पर
  • दौसा : राजस्थान स्थापना दिवस को लेकर कलक्ट्रेट से गेटोलाव तक निकाली साइकिल रैली
  • जोधपुर : पावटा चौराहे के पास सड़क किनारे मिला बालिका का भ्रूण, फैली दहशत
  • जयपुर : विधानसभा ने बनाया इतिहास, 2010 के बाद चला सबसे लंबा सदन, 16 घंटे 27 मिनट चला
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

लाइनों के नीचे सेफ्टी कॉरिडोर पर गाइडलाइन जारी,नो कंस्ट्रक्शन जोन के रूप में दर्शाया जाएगा

Patrika news network Posted: 2017-03-09 12:29:13 IST Updated: 2017-03-09 12:29:13 IST
लाइनों के नीचे सेफ्टी कॉरिडोर पर गाइडलाइन जारी,नो कंस्ट्रक्शन जोन के रूप में दर्शाया जाएगा
  • प्रदेश में हाईटेंशन लाइनों के नीचे सेफ्टी कॉरिडोर छोडऩे सहित अन्य सड़कों की चौड़ाई निर्धारण के लिए नई गाइड लाइन बुधवार को जारी की गई। इन सेफ्टी कॉरिडोर पर किसी तरह का पार्क, ग्रीन स्पेस, सड़क आदि नहीं होंगे।

जयपुर

प्रदेश में हाईटेंशन लाइनों के नीचे सेफ्टी कॉरिडोर छोडऩे सहित अन्य सड़कों की चौड़ाई निर्धारण के लिए नई गाइड लाइन बुधवार को जारी की गई। नगरीय विकास विभाग की ओर से जारी आदेशों के मुताबिक अब 11 केवी की लाइनों के नीचे कम से कम 12 फीट का सेफ्टी कॉरिडोर तो छोडऩा ही होगा।




जबकि 11 केवी से बड़ी और 33 केवी की लाइनों के नीचे करीब 19 फीट, 132 केवी की लाइनों के नीचे 45 फीट, 220 केवी के नीचे 61 और 400 केवी की लाइनों के नीचे 109 फीट चौड़ाई में सेफ्टी कॉरिडोर की जगह छोडऩी होगी।





इन सेफ्टी कॉरिडोर पर किसी तरह का पार्क, ग्रीन स्पेस, सड़क आदि नहीं होंगे। ले-आउट प्लान में भी सेफ्टी कॉरिडोर को नो कंस्ट्रक्शन जोन के रूप में दर्शाया जाएगा।




100 साल का हुआ चांदपोल चर्च, 95 साल पुरानी घड़ी की गूंज रही टिकटिक

rajasthanpatrika.com

Bollywood