Breaking News
  • जयपुर: राजस्थान सरकार मंत्रिमंडल का तीसरी बार हुआ विस्तार और फेरबदल, दो राज्य मंत्रियों को प्रमोट कर बनाया केबिनेट मंत्री, दो वरिष्ठ विधायकों को केबिनेट और चार विधायकों को राज्यमंत्री की शपथ दिलाई गई।
  • जयपुर: बहरोड़ (अलवर) विधायक डॉ. जसवंत यादव और निंबाहेडा (चित्तौडग़ढ़) विधायक श्रीचंद कृपलानी को बनाया गया कैबिनेट मंत्री।
  • जयपुर: बंसीधर बाजिया, कमसा मेघवाल, धनसिंह रावत, सुशील कटारा बने राज्य मंत्री।
  • जयपुर: शत्रुघ्न गौतम, नरेन्द्र नागर, ओमप्रकाश हुड़ला, भीमा भाई और कैलाश वर्मा बनाये गए नए संसदीय सचिव।
  • जयपुर: राज्यपाल कल्याण सिंह ने मुख्यमंत्री की सिफारिश पर विधि राज्य मंत्री अर्जुन लाल गर्ग और प्रशासनिक एवं मोटर गैराज राज्य मंत्री जीत मल खांट का इस्तीफा किया मंजूर।
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

23 दिन में ही फीकी पड़ गई सोने की चमक?

Patrika news network Posted: 2016-12-01 23:28:43 IST Updated: 2016-12-01 23:33:19 IST
23 दिन में ही फीकी पड़ गई सोने की चमक?
  • बाजार में बड़े बदलाव या मंदी की मार से जिस सोने के भाव नीचे आने में सालों लग जाते थे, उसके नोटबंदी के मात्र 23 दिन में ही भाव 1800 से लेकर 2200 रुपए प्रति दस ग्राम तक नीचे आ गए हैं।

जयपुर. पांच सौ व हजार के पुराने नोट बंद करना व नए नोटों की किल्लत का असर लगता है सोने पर पड़ा है। बाजार में बड़े बदलाव या मंदी की मार से जिस सोने के भाव नीचे आने में सालों लग जाते थे, उसके नोटबंदी के मात्र 23 दिन में ही भाव 1800 से लेकर 2200 रुपए प्रति दस ग्राम तक नीचे आ गए हैं। सोना अमूमन 29000-30000 रुपए प्रति 10 ग्राम के आसपास ही स्थिर रहता है, लेकिन नोटबंदी में 29000 से 27000 के आसपास आ गया है। राजधानी के सर्राफा बाजार में नोटबंदी वाले दिन जेवराती सोने के भाव 29,200 रुपए प्रति 10 ग्राम थे, जो एक दिसम्बर को घटकर 27,500 रुपए पर ही आ गए। इसी तरह स्टैण्डर्ड सोने के भाव नोटबंदी के दिन 8 नवम्बर को 30,700 रुपए थे, जो एक दिसम्बर को मात्र 28,900 रुपए पर पहुंच गए।

हर दिन 150-200 रुपए गिरा

नोटबंदी के बाद हर दिन सोना औसतन 150-200 रुपए रोजाना गिरा। इससे पूर्व सोने में इतनी तेजी से गिरावट संभवतया कभी नहीं देखी गई। पूर्व में सोने में मात्र 50-150 रुपए की गिरावट आती थी, जो दो तीन दिन में ही खत्म हो जाती थी।

अभी और गिरने की आशंका

सर्राफा कारोबारियों का कहना है कि बाजार में पहली बार एेसी गिरावट नजर आ रही है। ग्राहकों ने सोने से जैसे दूरी ही बना ली है। एेसे में सोने में और गिरावट आ सकती है। दो-चार दिन में सोना 26000 के आसपास पहुंचने की संभावतना जताई जा रही है।

400 करोड़ की जगह 50-60 करोड़ की बिक्री

राजधानी में 20 दिन के सावे में हमेशा सर्राफा बाजार में करीब 400 करोड़ रुपए की बिक्री होती आई है, लेकिन इस बार यह आंकड़ा अब तक 50-60 करोड़ को भी नहीं पहुंचा है। कारोबारियों का पहली बार सावे का सीजन इतना कमजोर गया है।

पुराने नोट से हो रही खरीद

कारोबारियों से मिली जानकारी के अनुसार अब भी पुराने नोटों से सोने की खरीद करने वाले ग्राहक आ रहे हैं। एेेसे ग्राहकों को सोना 35 हजार रुपए प्रति 10 ग्राम पर बेचा जा रहा है। हालांकि नोटबंदी के शुरूआती दिनों में यह भाव 45 हजार रुपए तक थे।

इनका कहना है

बाजार पहली बार कमजोर

सोने का बाजार हमेशा से आगे बढ़ा है, लेकिन नोटबंदी से पहली बार एेसी गिरावट आई है। सावे का सीजन सबसे कमजोर गया है। आगे भी गिरावट ही लगती है। लोग खरीदारी से बच रहे हैं।

-कैलाश मित्तल, अध्यक्ष, सर्राफा ट्रेडर्स कमेटी, जयपुर

फैक्ट फाइल....

सोना स्टैण्डर्ड

8 नवम्बर के भाव: 30700 रुपए प्रति 10 ग्राम

1 दिसम्बर के भाव: 28900 रुपए प्रति 10 ग्राम

जेवराती सोना...

8 नवम्बर के भाव: 29200 रुपए प्रति 10 ग्राम

1 दिसम्बर के भाव: 28700 रुपए प्रति 10 ग्राम

सावों पर बिक्री

पिछले साल: 400 करोड़ रुपए

इस साल: 50-60 करोड़ रुपए

Latest Videos from Rajasthan Patrika

rajasthanpatrika.com

Bollywood