Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

ज्योतिषाचार्यों ने वायु परीक्षण के बाद की भविष्यवाणी, शुरू में कुछ व्यवधान लेकिन बाद में होगी राजस्थान में अच्छी बारिश

Patrika news network Posted: 2017-07-09 10:16:21 IST Updated: 2017-07-09 10:17:41 IST
ज्योतिषाचार्यों ने वायु परीक्षण के बाद की भविष्यवाणी, शुरू में कुछ व्यवधान लेकिन बाद में होगी राजस्थान में अच्छी बारिश
  • राजस्थान में इस मानसून में सामान्य से अधिक वर्षा होगी, हालांकि वर्षा छितराई ही रहेगी। जंतर-मंतर पर शनिवार को ज्योतिषाचार्यों ने वायु परीक्षण करने के बाद यह घोषणा की।

जयपुर

राजस्थान में इस मानसून में सामान्य से अधिक वर्षा होगी, हालांकि वर्षा छितराई ही रहेगी। जंतर-मंतर पर शनिवार को ज्योतिषाचार्यों ने वायु परीक्षण करने के बाद यह घोषणा की। वायु परीक्षण की गणना आषाढ़ शुक्ल पूर्णिमा पर सूर्यास्त के समय वेधशाला के सम्राट यंत्र पर झंडा लगाकर व हवा में उसकी दिशा जानकर की गई।  


जगद्गुरु रामानंदाचार्य राजस्थान संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. विनोद शास्त्री ने बताया कि शाम 7.20 बजे हवा पश्चिम से पूर्व की ओर बही। इससे पहले भी हवा लगातार इसी तरह बह रही थी। इसके अनुसार प्रदेश में सुवृष्टि होगी। लेकिन इस स्थिति से कहीं-कहीं खंड वर्षा (छितराई बारिश) के भी संकेत हैं। 


शुरुआत में कुछ व्यवधान के संकेत हैं,  लेकिन बाद में अच्छी बारिश होगी। इस गणना से करीब 100 किलोमीटर तक के क्षेत्र की सटीक गणना की जाती है।  गणना के दौरार पंडित रामपाल शर्मा, पंडित दामोदर प्रसाद शर्मा, पंडित चंद्रशेखर शर्मा सहित कई अन्य ज्योतिष विद्वान भी मौजूद रहे।


290  साल से हो रही गणना

वायु परीक्षण की परम्परा 290 वर्ष से चल रही है। वर्ष 1727 में पहली बार गणना की गई थी। तब से हर साल से गणना की जा रही है। साल में एक बार ज्योतिषाचार्य करीब 52 फीट ऊंचे सम्राट यंत्र पर गणना करते हैं।

rajasthanpatrika.com

Bollywood