Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

सुदर्शन चैनल पर लगा धार्मिक भावना भड़काने का आरोप, पुलिस ने संपादक को किया गिरफ्तार

Patrika news network Posted: 2017-04-13 13:30:47 IST Updated: 2017-04-13 13:31:45 IST
सुदर्शन चैनल पर लगा धार्मिक भावना भड़काने का आरोप, पुलिस ने संपादक को किया गिरफ्तार
  • पिछले दिनों संभल के बंद पड़े शिव मंदिर को लेकर चैनल ने भ्रामक और गलत खबर चलाई गई। जिसमें कहा गया कि योगी सरकार ने बंद पड़े मंदिर को फिर से खुलवाया है। जिसके बाद यहां का माहौल काफी बिगड़ने लगा।

नई दिल्ली।

संभल मे धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचा माहौल को बिगाड़ने के आरोप में एक निजी चैनल सुदर्शन टीवी के संपादक और उसके सीएमडी के खिलाफ पुलिस ने सख्त कार्यवाई करते हुए उन्हें लखनऊ एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया है। 



दअसल पिछले दिनों संभल के बंद पड़े शिव मंदिर को लेकर चैनल ने भ्रामक और गलत खबर चलाई गई। जिसमें कहा गया कि योगी सरकार ने बंद पड़े मंदिर को फिर से खुलवाया है। जिसके बाद यहां का माहौल काफी बिगड़ने लगा। और इसे देखते हुए चैनल के संपादक और सीएमडी सुरेश चव्हाण के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई। 



तो वहीं चैनल के सीएमडी के खिलाफ पुलिस ने बीते सोमवार को आईपीसी की धारा 153ए ), 505 (1) बी/295 ए और केबिल टेलीविजन नेटवर्क (विनिमय) एक्ट 1955 की धारा 16 के तहत मामला दर्ज किया था। जिसके बाद कई दिनों से फरार चल रहे सुदर्शन चैनल के सीएम अशोक चव्हाण को संभल पुलिस थाना के अधिकारियों ने लखनऊ पुलिस के साथ मिलकर सरोजनी नगर से गुरफ्तार कर लिया। 



तो वहीं गिरफ्तारी के बाद संपादक का आरोप है कि चैनल के किसी भी कार्यक्रम में दो समुदायों के बीच शत्रुता पैदा करने से जुड़ा कोई कार्यक्रम प्रसारित नहीं हुआ है। और ना ही उन्होंने धार्मिक भावनाओं को भड़काने की कोशिश की है। 



खबर के मुताबिक, बीते छह, सात और आठ अप्रैल को चैनल में ये कार्यक्रम प्रसारित किए गए, जिसके बाद इसे सोशल मीडिया पर वायर किया गया। जिसकी जानकारी संभल थाना क्षेत्र के प्रभारी बृजमोहन गिरी को मिली। जिसके बाद उन्होंने वीडियों की जांच पड़ताल करके 10 अप्रैल को चैनल के सीएमडी सुरेश चव्हाण और संभल के भीमनगर निवासी इतरत हुसैन बाबर के खिलाफ FIR दर्ज की। 



जिसके बाद सुरेश चव्हाण कर लिखा कि मेरे विरोधियों ने संभल और संसद में झूठ बताया कि मैंने मस्जिद में जाने की घोषणा की है। कोई भी मेरे किसी भी वीडियो में यह दिखा दे। तो वहीं इससे पहले भी चैनल के संपादक सुरेश चव्हाणके पहले से विवादों में रहे हैं। जहां उनके खिलाफ चैनल में काम करने वाली एक महिला के साथ रेप का मामला दर्ज कराया गया था। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood