Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

लंबी बीमारी के बाद PM मोदी के आध्यात्मिक गुरु स्वामी आत्मस्थानंद महाराज का निधन, ट्वीट कर जताया शोक

Patrika news network Posted: 2017-06-19 13:48:25 IST Updated: 2017-06-19 13:48:25 IST
लंबी बीमारी के बाद PM मोदी के आध्यात्मिक गुरु स्वामी आत्मस्थानंद महाराज का निधन, ट्वीट कर जताया शोक
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गुरु, रामकृष्ण मठ और मिशन के अध्यक्ष स्वामी आत्मस्थानंद जी महाराज का 98 वर्ष की आयु में निधन हो गया। गौरतलब है कि स्वामी आत्मस्थानंद महाराज 22 वर्ष की उम्र में बेलूरमठ स्थित रामकृष्ण मिशन से जुड़े थे।

भारत।

लंबी बीमारी के बाद अस्पताल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गुरु, रामकृष्ण मठ और मिशन के अध्यक्ष स्वामी आत्मस्थानंद जी महाराज का 98 वर्ष की आयु में निधन हो गया। आत्म आस्थानंद जी उम्रजनित बीमारियों को लेकर फरवरी, 2015 से दक्षिण कोलकाता स्थित रामकृष्ण मिशन सेवा प्रतिष्ठान में भर्ती थे।


उनके इलाज के लिए मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया था, जिसमें 16 डॉक्टर शामिल थे। शनिवार सुबह से उनकी हालत काफी बिगड़ गई थी और उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया था। उनका डायलिसिस चल रहा था। उनकी खराब स्थिति की खबर पाकर मुख्यमंत्री उन्हें देखने अस्पताल पहुंची थीं। अस्पताल सूत्रों के मुताबिक रविवार शाम करीब 5.30 बजे उन्होंने आखिरी सांस ली।



गौरतलब है कि स्वामी आत्मस्थानंद महाराज 22 वर्ष की उम्र में बेलूरमठ स्थित रामकृष्ण मिशन से जुड़े थे। मई, 2015 में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोलकाता आए थे तो उन्होंने अस्पताल जाकर आत्मस्थानंद महाराज से मुलाकात की थी। नरेंद्र मोदी किशोरावस्था में संन्यासी बनने बेलूरमठ आए थे, लेकिन स्वामी आत्मस्थानंद महाराज ने यह कहते हुए उनके अनुरोध को खारिज कर दिया था कि उनकी कहीं और जरूरत है।


बता दें कि उनके नेतृत्व में भारत, नेपाल और बांग्लादेश के विभिन्न हिस्सों में आई प्राकृतिक आपदा के दौरान उन्होंने बड़े राहत अभियान चलाए गए थे। रामकृष्ण मठ और रामकृष्ण मिशन, बेलूर मठ ने एक बयान में कहा कि अच्छा इलाज होने के बावजूद उनकी स्थिति पिछले कुछ सालों ठीक नहीं हो रही थी। बीमारी के चलते उनका रामकृष्ण मिशन सेवा प्रतिष्ठान अस्पताल में शाम में साढे पांच बजे निधन हो गया। स्रोत के मुताबिक उनका अंतिम संस्कार मंगलवार रात साढ़े नौ बजे बेलूर मठ में किया जाएगा। बेलूर मठ के द्वार उनके अंतिम संस्कार पूरा होने तक खुले रहेंगे।


पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उनके निधन पर ट्विटर पर अपने शोक संदेश में कहा-'स्वामी आत्मस्थानंद महाराज का निधन मानवता के लिए अपूरणीय क्षति है। उन्होंने अपना सारा जीवन सामाजिक एवं धार्मिक कार्यों को समर्पित कर दिया।' पीएम ने उनके निधन पर शोक जताया। उन्होंने ट्विट करके बताया कि इससे उन्हें व्यक्तिगत नुकसान हुआ। मैं मेरी जिंदगी के सबसे महत्पूर्ण समय में उनके साथ रहा। पीएम मोदी ने स्वामी जी के लिए ट्वीट में लिखा स्वामी आत्म आस्थानंद जी अतुलनीय ज्ञान और बुद्धिमत्ता से धनी थे। आने वाली पीढि़यां उन्हें उनके अनुकरणीय व्यक्तित्व के लिए याद रखेंगी। उन्होंने कहा कि जब भी वह कभी कोलकाता जाऊंगा, तो वहां से बिना स्वामी जी का आशीर्वाद लिए नहीं लौटूंगा। इसके अलावा पीएम ने स्वामी जी के कार्यों को लेकर भी एक ट्वीट किया।



rajasthanpatrika.com

Bollywood