Breaking News
  • उदयपुर : गोगुंदा के रावलिया गांव से दो कारों से 147 किलोग्राम डोडा-पोस्त जब्त, ले जाया जा रहा था मारवाड़, तीन गिरफ्तार
  • उदयपुर : सराड़ा ग्राम पंचायत में सरपंच पद के उपचुनाव में लक्ष्मी मीणा ने कांता मीणा को 398 मतों से हराया
  • बांसवाड़ा : घोटिया आंबा मेले का शुभारंभ, कलाकारों ने दी रंगारंग प्रस्तुतियां
  • उदयपुर : मावली प्रधान पर दूर के भतीजे ने ही चलाई थी गोली, जुर्म कबूला
  • पाली : रोहट में गंभीर रूप से घायल हुए युवक ने जोधपुर में उपचार के दौरान दम तोड़ा
  • जयपुर : जामडोली में विमंदित बच्चों के लिए सालभर में भी नहीं लगा पाए नए केयरटेकर
  • जयपुर: मालवीय नगर में बाइक सवार बदमाश छीन ले गया महिला का पर्स, बदमाश की तलाश में जुटी पुलिस
  • जयपुर- विश्वकर्मा में चालक को बंधक बनाकर नकदी व चीनी की बोरियां छीनी
  • अलवर: सरिस्का में पैंथर की मौत मामले में वन विभाग के आरोपों को लेकर ग्रामीणों की सभा आज, प्रशासन ने धारा 144 लगाई
  • अलवर: आज से होगा राजस्थान दिवस के कार्यक्रमों का शुभारम्भ, सूचना केन्द्र में लगाई जाएगी प्रदर्शनी
  • श्रीगंगानगर: एटा सिंगरासर माइनर निर्माण की मांग को लेकर किसानों का विरोध प्रदर्शन, बाजार बंद
  • जैसलमेर : पोकरण में जलदाय विभाग की पाइपलाइन फूटी, बह रहा हजारों लीटर पानी
  • कोटा : थर्मल को बचाने के लिए कर्मचारी संगठनों का बड़ा आंदोलन आज
  • भरतपुर: ऑटो चालकों से अवैध वसूली के विरोध में रैली आज
  • जयपुर-बच्ची से दुष्कर्म मामले में आरोपी को आज कोर्ट में पेश करेगी लालकोठी थाना पुलिस
  • जैसलमेर: मोहनगढ़ के पीडी नहर क्षेत्र में हरिण का शिकार, हरिण के अवशेष बरामद
  • कोटा: नगर निगम भवन में वसूली के लिए लगाया जाएगा विशेष शिविर
  • करौली: ट्रक ने बुजुर्ग को कुचला, मौके पर ही मौत, सड़क पार कर डीजल लेने जा रहे थे बुजुर्ग
  • श्रीगंगानगर: हड्डा रोडी के मामले में हाईकोर्ट में सुनवाई आज
  • भरतपुर: सेवर थाने के बहनेरा गांव के पास ट्रक ने कार में मारी टक्कर, कार सवार की मौत, एक घायल
  • बीकानेर- गंगाशहर के उदयरामसर गांव में एक व्यक्ति ने फांसी लगाकर जान दी
  • चित्तौड़गढ़: विद्युत निगम के एईएन के घर चोरी, हजारों का सामान ले उड़े चोर
  • अलवर : बहरोड में NH-8 पर अज्ञात बदमाशों ने लाखों रुपए के सामान से भरी गाड़ी लूटी
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

चुनाव लड़ने पर अब इन लोगों पर हो जाएगी आजीवन पाबंदी, चुनाव आयोग उठा रहा ये बड़ा कदम

Patrika news network Posted: 2017-03-21 09:27:33 IST Updated: 2017-03-21 09:27:56 IST
चुनाव लड़ने पर अब इन लोगों पर हो जाएगी आजीवन पाबंदी, चुनाव आयोग उठा रहा ये बड़ा कदम
  • इस वर्ष पांच राज्यों में चुनकर आए कुल 689 विधायकों में से 28 फीसदी पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा 16 मामले मऊ सीट से बसपा विधायक मुख्तार अंसारी पर दर्ज हैं।

नई दिल्ली।

चुनाव आयोग ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर कर कहा है कि उन सांसदों और विधायकों को जिन्हें दो या दो से अधिक साल की सजा दी गई है उसका चुनाव लडऩे पर आजीवन प्रतिबंध लगाया जाए। 


सजायाफ्ता सांसदों और विधायकों को आजीवन चुनाव लडऩे पर रोक लगाने की मांग करने वाली एक जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान निर्वाचन आयोग ने कहा कि वो याचिकाकर्ता की सभी बातों से सहमत हैं। 


चुनाव आयोग ने कहा है कि उसने चुनावों में अपराधियों को रोकने के लिए कानून मंत्रालय को प्रस्ताव भेजे हैं लेकिन वो अभी लंबित है। इसी मसले पर अधिवक्ता अश्विनी कुमार उपाध्याय ने याचिका दायर कर मांग की है कि एक साल के अंदर विधायिका, कार्यपालिका और न्यायपालिका से जुड़े लोगों के खिलाफ आपराधिक मामलों का निपटारा हो और एक बार दोषी होने पर उन पर आजीवन प्रतिबंध लगाया जाए। 


उन्होंने मांग की है कि ऐसे लोगों को चुनाव लडऩे, राजनीतिक दल का गठन करने और पदाधिकारी बनने पर रोक लगाई जाए। याचिका में ये भी मांग की गई है कि चुनाव आयोग, विधि आयोग और नेशनल कमीशन टू रिव्यू द वर्किंग ऑफ द कांस्टीट्यूशन की ओर से सुझाए गए महत्वपूर्ण चुनाव सुधारों को लागू करवाने का निर्देश केंद्र सरकार और चुनाव आयोग को दिया जाए। याचिका में ये भी मांग की गई है कि विधायिका की सदस्यता के लिए न्यूनतम योग्यता और अधिकतम आयु सीमा तय की जाए।


इस वर्ष पांच राज्यों में चुनकर आए कुल 689 विधायकों में से 28 फीसदी पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा 16 मामले मऊ सीट से बसपा विधायक मुख्तार अंसारी पर दर्ज हैं। उन पर 24 धाराओं में केस दर्ज किए गए हैं। वहीं दूसरे नंबर भदोही से चुने गए विजय कुमार हैं। उनपर 22 धाराओं के तहत 16 मामले दर्ज हैं। 


इसी तरह से हापुड़ की ढोलाना सीट से बसपा विधायक असलम अली पर 20 धाराओं में 10 मामले दर्ज हैं। जीत दर्ज करने वाले उत्तर प्रदेश के 143 यानी 36 प्रतिशत विधायकों के खिलाफ आपराधिक माममले हैं। पंजाब में 16 यानी 14 प्रतिशत विधायकों के खिलाफ आपराधिक मामले चल रहे हैं। वहीं, उत्तराखंड के 22 यानी 31 प्रतिशत विधायकों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं। 


पूर्वोत्तर के राज्य मणिपुर में सबसे कम 2 यानी मात्र 3 प्रतिशत विधायकों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज है। अगर बात गोवा की की जाए तो गोवा में 09 यानी 23 विधायकों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज है।

rajasthanpatrika.com

Bollywood