Breaking News
  • उदयपुर : सेना के कैम्पस एकलिंगगढ़ छावनी के पास भीषण आग, दमकल पहुंचीं
  • जोधपुर : पांच दिन से नहीं चल रही बस, फिर भी दिया एडवांस टिकट, रोडवेज की कारगुजारी
  • उदयपुर:सेना की एकलिंगगढ़ छावनी के पास भीषण आग,एसपी-कलक्टर मौके पर
  • सीकर : देह व्यापार में शामिल नेपाल की कॉल गर्ल, दलाल एवं होटल मैनेजर को जेल
  • किशनगढ़ : 50 लाख की अवैध शराब जब्त, चालक-खलासी हिरासत में
  • करौली : कई स्थानों पर आयकर की कार्रवाई, हिंडौन सिटी में भी छापे
  • नागौर : पैदल सड़क पार कर रहे पंजाब निवासी ट्रक चालक को बोलेरो ने मारी टक्कर, मौके पर ही मौत
  • जोधपुर:पावटा चौराहे के पास सड़क किनारे मिला बालिका का भ्रूण
  • बांसवाड़ा : गर्मी ने किया हाल बेहाल, मार्च में ही पारा 44 के पार
  • अलवर : ज्वैलरी खुर्द-बुर्द करने वाली मां गिरफ्तार, रेलवे में है कर्मचारी, मोहम्मद नूर हत्याकांड मामला
  • बांसवाड़ा : कार की चपेट में आने से बालिका घायल, उदयपुर लिंक रोड पर कर रही थी सड़क पार
  • उदयपुर : मसाज पार्लर संचालक के खिलाफ 20 घंटे में चालान पेश, ऑस्ट्रिया की महिला से छेड़छाड़ का मामला
  • भीलवाड़ा : सवा किलो अफीम के साथ गिरफ्तार किए गए तीन जनों को किया कोर्ट में पेश, लिया रिमांड पर
  • दौसा : राजस्थान स्थापना दिवस को लेकर कलक्ट्रेट से गेटोलाव तक निकाली साइकिल रैली
  • जोधपुर : पावटा चौराहे के पास सड़क किनारे मिला बालिका का भ्रूण, फैली दहशत
  • जयपुर : विधानसभा ने बनाया इतिहास, 2010 के बाद चला सबसे लंबा सदन, 16 घंटे 27 मिनट चला
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

चूहा हुआ बीमार तो मालिक ले गया अस्पताल, डॉक्टरों ने ऑपरेशन कर दी नई जिंदगी

Patrika news network Posted: 2017-03-15 10:45:50 IST Updated: 2017-03-15 12:42:41 IST
  • मध्यप्रदेश के मुरैना में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें एक सफेद चूहे की जान बचाने के लिए उसका ऑपरेशन किया गया।

जयपुर

देवताओं में प्रथम पूज्य गणेशजी का वाहन चूहा (मूषक) है। चूहा एक छोटा-सा जीव है पर आमतौर पर लोग उसे पालना पसंद नहीं करते। घर या खेत में चूहे अधिक हो जाएं तो बहुत से लोग उन्हें मौत की नींद सुला देते हैं। वहीं मध्यप्रदेश के मुरैना में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें एक सफेद चूहे की जान बचाने के लिए उसका ऑपरेशन किया गया। ऑपरेशन के बाद चूहा एकदम स्वस्थ है।


कुछ समय से यह चूहा चलने-फिरने में असमर्थ था और कुछ भी नहीं खा रहा था। चूहे को पालने वाले दिनेश मुद्गल से यह परेशानी देखी नहीं गई और वे इसे लेकर पशुओं के पॉलीक्लिनिक पहुंचे। वहां सिविल सर्जन डॉक्टर त्यागी ने चूहे की जांच की। 


जांच के बाद पता चला कि चूहे के पेट में ट्यूमर है। डॉक्टर ने चूहे का ऑपरेशन कर 100 ग्राम का ट्यूमर निकाल दिया। सफल सर्जरी के बाद डॉक्टर त्यागी ने कहा कि चूहे की सर्जरी काफी क्रिटिकल थी। इतने छोटे जीव के शरीर से ट्यूमर निकालना काफी मुश्किल काम था।


चूहे के स्वस्थ होने के बाद दिनेश मुद्गल का पूरा परिवार बहुत खुश है। यह चूहा इस परिवार का लाडला है। दिनेश मुद्गल ने बताया कि जब वे इस चूहे को घर में लाए थे तो वह बहुत छोटा था। घर में ही वह बड़ा हुआ और परिवार के सदस्यों के साथ घुल-मिल गया। 



उन्होंने बताया कि चूहे को दूध, बिस्किट, गोभी के पत्ते, खीरा और पालक बहुत पसंद हैं। मुद्गल ने बताया कि वे चूहे को दिन में बिल्ली के डर से पिंजरे में रखते हैं लेकिन वह रात में घर में खुला घूमता है।

rajasthanpatrika.com

Bollywood