ये हैं सेहत के 7 रामबाण मंत्र, लंबी उम्र चाहने वाले इनका करें पालन

Patrika news network Posted: 2017-02-15 17:21:06 IST Updated: 2017-02-16 07:20:19 IST
  • शोध साबित कर चुके हैं कि जो लोग दिन में कम से कम एक सेब खाते हैं, वे उन लोगों की तुलना में अपना काफी वजन कम करते हैं, जो सेब नहीं खाते।

जयपुर

रोजाना टमाटर को कच्चा खाने या सूप बनाकर पीने से लिवर और किडनी की कार्यक्षमता बढ़ती है।टमाटर में पाया जाने वाला लाइकोपीन तत्त्व त्वचा को अल्ट्रावॉयलेट किरणों से बचाता है। मधुमेह रोगियों के लिए यह काफी फायदेमंद है। साथ ही यह आंखों को सेहतमंद रखने के साथ-साथ यूरिन से जुड़े रोगों को दूर करता है।



टैक्सास यूनिवर्सिटी में हुई एक स्टडी में कहा गया है कि धीरे-धीरे और छोटी बाइट्स में खाना खाने के एक घंटे बाद आप खुद को कम भूखा महसूस करते हैं जबकि फटाफट और तेजी से खाने में आपको जल्द ही भूख का अहसास होने लगता है।



READ- अगर आप भी हैं इन बुरी आदतों के गुलाम तो संभल जाएं, ये समय से पहले लाती हैं मौत



जो लोग धीरे-धीरे खाते हैं, वे पानी भी ज्यादा पीते हैं, जिससे आपको भूख कम लगती है। शोधकर्ताओं ने खाने की स्पीड और कैलोरी का खासतौर पर अध्ययन किया। साथ ही छोटी बाइट आसानी से पच जाती है, जिससे पाचन दुरुस्त रहता है।



दही में मौजूद अच्छे बैक्टीरिया पेट की बीमारियों को दूर रखते हैं। आधा चम्मच अजवाइन को भून लें और पीसकर एक कटोरी दही में मिलाकर खाने से कब्ज की परेशानी में लाभ होता है।



यूनिवर्सिटी ऑफ कैम्ब्रिज, इंग्लैंड के विशेषज्ञों द्वारा किए गए एक शोध के अनुसार विटामिन-सी हृदय रोगों की आशंका को कम करता है। विटामिन-सी शरीर के कार्यों पर प्रभाव डालता है। साथ ही हार्मोन्स व कोलेजन के उत्पादन के लिए बहुत आवश्यक है।



यह शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर फ्री रेडिकल्स को नष्ट कर कैंसर का खतरा कम करता है। विटामिन-सी के अच्छे स्त्रोत हैं नींबू संतरा, सेब, अंगूर, केला, हरी सब्जियां आदि। 



अमरीकन जर्नल ऑफ क्लीनिकल न्यूट्रिशन में प्रकाशित शोध के मुताबिक ब्लड ग्रुप के अनुसार डाइट लेने से वजन कम होने के साथ बीमारियों का खतरा कम होता है। ब्लड ग्रुप-ओ वाले व्यक्ति ज्यादा प्रोटीन, लो कार्ब डाइट, सब्जियां, बीन्स, डेयरी उत्पाद लें और अल्कोहल व कैफीन से बचें। 



ब्लड ग्रुप-ए वाले फल, फली, अनाज व ब्लड गु्रप-बी वाले सब्जियां लें और डेयरी डाइट व मक्का लेने से बचें। ब्लड ग्रुप एबी वाले सोयाबीन, डेयरी व हरी सब्जियां लें।



सेब बहुत ही ज्यादा सेहतमंद फल है। एक सेब में पांच ग्राम फाइबर के अलावा पेक्टिन होता है। पेक्टिन प्राकृतिक रूप से फैट कम करता है। सेब में शुगर और कैलोरी काफी कम होती है। इससे पेट कम करने में मदद मिलती है।



शोध साबित कर चुके हैं कि जो लोग दिन में कम से कम एक सेब खाते हैं, वे उन लोगों की तुलना में अपना काफी वजन कम करते हैं, जो सेब नहीं खाते। ग्रीन टी कैंसर जैसी बीमारियों को रोकने में सहायक है। आप इसे डेली रूटीन में शामिल कर मिल्क टी से होने वाले साइड इफेक्ट्स से बच सकते हैं। मार्केट में ग्रीन टी के स्ट्राबेरी जैसे बहुत-से फ्लेवर्स अवेलेबल हैं।




rajasthanpatrika.com

Bollywood