Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

video: साधू हत्या की हो सीबीआई जांच!

Patrika news network Posted: 2017-07-13 08:37:00 IST Updated: 2017-07-13 08:55:23 IST
  • गांव नगराना में दिवंगत साधु सोमगिरी उर्फ सुरमुखसिंह (55) पुत्र मोहिन्द्रसिंह निवासी मान्नुपुर तहसील व थाना समराला जिला लुधियाना (पंजाब) की नृशंस हत्या प्रकरण की जांच सीबीआई से करवाने की मांग लेकर बुधवार दोपहर ग्रामीणों ने एसडीएम के कार्यालय पर प्रदर्शन किया।

संगरिया.

गांव नगराना में दिवंगत साधु सोमगिरी उर्फ सुरमुखसिंह (55) पुत्र मोहिन्द्रसिंह निवासी मान्नुपुर तहसील व थाना समराला जिला लुधियाना (पंजाब) की नृशंस हत्या प्रकरण की जांच सीबीआई से करवाने की मांग लेकर बुधवार दोपहर ग्रामीणों ने एसडीएम के कार्यालय पर प्रदर्शन किया। उन्होंने इस आशय का एक ज्ञापन प्रदेश मुख्यमंत्री के नाम तहसीलदार सत्यनारायण सुथार को सौंपा। 


Video: हिचकोले खाते जर्जर पुल


ग्रामीणों बार संघ अध्यक्ष गुरलाल मान, पूर्व अध्यक्ष कैलाश सिंवल, सुरेश भादू, वीरसिंह, बसंत, जोतराम, पालाराम, हनुमान, सोनीसिंह, सुभाष, संतराम, विनोद, कालूराम, रणवीर, तेजपाल, महेंद्र, राजपाल, गणपतराम, संजय, चंद्रप्रकाश, रजनीश, राकेश भांभू, प्रेम, कृष्ण भारती, एडवोकेट हरमीत बलजोत, जितेंद्र लोहरा व सुरेंद्र सूच सहित दर्जनों लोगों का आरोप है कि गांव के हनुमान मंदिर में संत सोमगिरी महाराज पिछले 20-22 सालों से लगातार सादगीपूर्ण भक्तिभाव से जीवनयापन कर रहे थे। 



विरोधाभासी बयान से उलझी लूट की वारदात


उनका गांव में सबसे बड़ा स्नेह था। 8 जुलाई की रात अज्ञात लोगों ने बेरहमी से सोए हुए महाराज की हत्या कर दी जिससे गांव में शोक व्याप्त है। उन्होंने इस हत्या में बड़ी हस्तियों व कई लोगों का हाथ होने तथा पुलिस पर सही दिशा में जांच नहीं करने का आरोप लगाया है। कहा कि पुलिस ने केवलमात्र मोबाईल के आधार पर फाजिल्का (पंजाब) निवासी कालूराम पुत्र हेतराम मेघवाल एक जने को उसके कहे अनुसार कातिल मान कर पकड़ लिया। पुलिस मामले को रफा-दफा करके अपने दायित्वों से पल्ला झाड़ रही है, जो गलत है। ग्रामीणों का कहना है कि मामले की सही दिशा में जांच की जाए तो हत्या की वजह जो पुलिस द्वारा बताई गई है, ठीक उसके विपरीत सामने आएगी। जिसमें कई बड़े सफेदपोश व्यक्तियों का हाथ होना सामने आएगा। 



प्रधानमंत्री मोदी व बाबा रामदेव के साथ सम्पर्क बताकर ठग बाबा ने लगाई लाखों की लगाई चपत


ग्रामीणों ने स्थानीय पुलिस पर सही व निष्पक्षतरीके से जांच नहीं करने का आरोप लगाते हुए मामले की गंभीरता व ग्रामीणों की धार्मिक भावनाओं को देखते हुए सीबीआई से जांच करवाकर असली आरोपितों को गिरफ्तार करवाने की मांग की है। वहीं उन्होंने पकड़े गए आरोपित ने उससे हुए कथित अन्याय के बदले में 21 जनों को भी साधु जैसे अंजाम तक पहुंचाने की बात कहने पर लोगों में भय का माहौल बना हुआ है। खेत में आबपाशी व इधर-उधर जाने से भी भयभीत हो रहे हैं। ऐसे में पुलिस ने अभी तक किसी तरह की काई व्यापक सुरक्षा व्यवस्था तक नहीं की है। ग्रामीणों व प्रदर्शनकारियों ने अपेक्षित कार्रवाई नहीं होने पर उन्होंने पंद्रह जुलाई को चक्काजाम व उग्र प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है। 



Video: नाबालिग के अपहरण और दुष्कर्म का आरोपी गिरफ्तार


ज्ञापन की प्रतियां पुलिस अधीक्षक व महानिरीक्षक बीकानेर को भी भेजी गई हैं। उधर, पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त लकड़ी का कुंदा (खरपाड़) आरोपित की निशानदेही पर बरामद किया। उसकी बातों की तस्दीक की गई। आरोपित ने पुलिस को बताया कि हत्या से पूर्व साधु को उसने जगाकर बातचीत कर घटना बताई तो गुस्से में बाबा ने उसे दो चांटे मारे। कुछ देर बाद साधु उठे और अपनी कोटी टांगकर वापिस चारपाई पर लेट गए। मौका देखकर कुंदे के ताबड़तोड़ वार से उसने उसे मौत के घाट उतार दिया और अपना प्रतिशोध पूरा किया। [पसं.]

इनका कहना है 

ग्रामीणों ने हत्या प्रकरण की जांच सीबीआई से करवाने की मांग लेकर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया है। जिसे कलक्टर महोदय को भेज दिया है। निर्देशानुसार कार्रवाई होगी।

सत्यनारायण सुथार, तहसीलदार संगरिया

पुलिस पूरी तमन्यता से निष्पक्ष जांच करने में जुटी हुई है। अन्य आरोपित शामिल हुए तो उनकी भी धरपकड़ से पीछे नहीं हटेंगे। यदि ग्रामीण संतुष्ट नहीं हैं तो सीबीआई से करवा सकते हैं।

मोहरसिंह पूनियां, थाना प्रभारी संगरिया

rajasthanpatrika.com

Bollywood