Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

जब एक काॅमेडियन से डर गर्इ दुनिया की ये महाशक्ति, देश में घुसने पर लगा दिया था प्रतिबंध

Patrika news network Posted: 2017-04-16 13:35:36 IST Updated: 2017-04-16 13:53:27 IST
जब एक काॅमेडियन से डर गर्इ दुनिया की ये महाशक्ति, देश में घुसने पर लगा दिया था प्रतिबंध
  • काॅमेडियन से एक देश को क्या खतरा हो सकता है आैर वो भी अमरीका जैसी दुनिया की महाशक्ति को। हालांकि एक दौर था जब अमरीका उस दौर में काॅमेडी के बेताज बादशाह समझे जाने वाले चार्ली चैपलिन से डर गया था।

नर्इ दिल्ली।

काॅमेडियन से एक देश को क्या खतरा हो सकता है आैर वो भी अमरीका जैसी दुनिया की महाशक्ति को। हालांकि एक दौर था जब अमरीका उस दौर में काॅमेडी के बेताज बादशाह समझे जाने वाले चार्ली चैपलिन से डर गया था। आज ( 16 अप्रैल ) दुनिया में चार्ली चैपलिन का जन्मदिन मनाया जा रहा है। 





उस वक्त अमरीका की खुफिया एजेंसी एफबीआर्इ ने चैपलिन की निजी जिंदगी का पता लगाने की कोशिश की थी। करीब दो साल पहले ब्रिटेन की खुफिया एजेंसी 'एमआर्इ-5' की गुप्त फाइलें सार्वजनिक की गर्इ। इनसे जो सच्चार्इ सामने आर्इ है उससे पता लगता है कि एफबीआर्इ चार्ली चैपलिन की निजी जिंदगी के बारे में जानना चाहती थी। उस वक्त चार्ली चैपलिन अपना ज्यादातर वक्त लंदन में बिताते थे आैर इसी कारण ये जिम्मेदारी एमआर्इ-5 को सौंपी गर्इ। 



1950-60 के दशक में जब पूरी दुनिया दो खेमों में बंटी नजर आ रही थी। एक खेमे की अगुवार्इ अमरीका कर रहा था, जिसे पूंजीवादी गुट के रूप में जाना जाता था तो दूसरे गुट की अगुवार्इ की आैर ये गुट साम्यवाद का समर्थक था।  उस दौर में हाॅलीवुड में चार्ली चैपलिन का नाम छाया था। एफबीआर्इ का शक था कि चार्ली चैपलिन साम्यवादी विचारधारा से प्रभावित है। साथ ही उन्हें ये भी लगता था कि चार्ली चैपलिन लोगों को भी साम्यवादी विचारधारा की आेर मोड़ने की कोशिश कर रहे हैं। 



हालांकि एमआर्इ-5 को एेसा कुछ भी नहीं मिला जो ये साबित कर सके की चार्ली चैपलिन साम्यवादी विचारधारा से प्रभावित है। बावजूद इसके 1953 में जब चार्ली चैपलिन अमरीका से बाहर गए तो फिर उन्हें वापस अमरीका में घुसने नहीं दिया गया। जिसके बाद वे जाकर स्विटजरलैंड में रहने लगे थे। 



चार्ली चैपलिन ने बहुत सी मौन फिल्मों में अपने अभिनय से दुनिया को हंसाया लेकिन उनकी फिल्म 'द ग्रेट डिक्टेटर' को कालजयी माना जाता है। ये फिल्म उस वक्त बनार्इ गर्इ थी जब नाजी जर्मनी के ब्रिटेन से अच्छे संबंध थे। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood