Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

डूंगरपुर : सैकड़ों शिक्षक पगार को तरसे

Patrika news network Posted: 2017-06-17 14:06:19 IST Updated: 2017-06-17 14:06:40 IST
डूंगरपुर : सैकड़ों शिक्षक पगार को तरसे
  • नई व्यवस्था के बावजूद शिक्षकों के वेतन की समस्या नहीं हुई दूर

डूंगरपुर.

सरकारी कर्मचारियों को समय पर वेतन भुगतान की मंशा को लेकर शुरू की नई व्यवस्था शुरुआती दौर में ही लडख़ड़ा गई है। तीन माह पूर्व अलग9अलग मदों को समाप्त कर केंद्रीय व राज्य मद बनाने वाली सरकार शिक्षकों के वेतन की समस्या दूर नहीं कर पा रही है। कही पर पे मैनेजर से मिलान नहीं हो पाया तो कहीं असमान बजट वितरण की समस्या ने जिले के सैकड़ों शिक्षकों का वेतन चार माह से जाम कर दिया है।


तीन माह से वेतन का संकट


प्रारम्भिक शिक्षा के अधीन जिले में करीब ढाई हजार एसएसए मद के शिक्षकों को कोषालय से सीधे वेतन देने के वादे किए गए। ऐसे अनेक शिक्षक हैं, जिन्हें मार्च का वेतन भी नसीब नहीं हुआ है। शिक्षकों का कहना है कि पुरानी व्यवस्था से महीना समाप्त होते ही वेतन मिल जाता था, लेकिन नई व्यवस्था से वेतन के लाले पड़ गए हैं।


ढेरों दिक्कतें हैं


राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय के उपाध्यक्ष राजेंद्रसिंह चौहान ने कहा कि कई शिक्षकों को तीन माह का वेतन अब तक नहीं मिला है। इससे शिक्षक ऋण की किश्त चुका नहीं पाते हैं। वही सामाजिक दायित्वों व अन्य दैनिक उपयोगी सामग्री खरीदने में भी दिक्कतें आ रही हैं। सरकार को नई व्यवस्था का होमवर्क पहले पूरा करना चाहिए था।


पुरानी व्यवस्था, बजट का इंतजार


केंद्रीय मद के शिक्षकों के वेतन बजट को लेकर पुरानी व्यवस्था है। नवाचार इतना ही है कि जिला परियोजना एवं ब्लॉक प्रारम्भिक शिक्षा कार्यालय तक पहले चेक नहीं पहुंचेंगे। वेतन ट्रेजरी के माध्यम से खातों में जमा होगा। प्रारम्भिक शिक्षा निदेशालय से मिली जानकारी के अनुसार केन्द्रीय मद में अब तक बजट आवंटित नहीं किया गया है। संगठनों की मांग पर शीघ्र ही बजट जारी होने की संभावना है। इसके बाद ही वेतन मिल पाएगा।


जल्द मिलेगा वेतन

अधिकांश शिक्षकों को वेतन मिल चुका है। कई जगह दिक्कतें है। जल्द ही सब ठीक होगा।

मणीलाल छगण, जिला शिक्षा अधिकारी प्रारम्भिक

rajasthanpatrika.com

Bollywood