Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

नकली नोटों में इजाफा, इस साल में सबसे ज्यादा रही संख्या

Patrika news network Posted: 2017-06-15 16:12:19 IST Updated: 2017-06-15 16:12:19 IST
नकली नोटों में इजाफा, इस साल में सबसे ज्यादा रही संख्या
  • बैंकिंग सेक्टर में पिछले आठ सालों में नकली नोट इस साल पकड़े जाने की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है। एक रिपोर्ट के मुताबिक बैंकिंग लेन देने के दौरान पिछले 8 साल में नकली नोट पकड़े जाने की संख्या 3.53 लाख तक पहुंच गई है।

नई दिल्ली।

बैंकिंग सेक्टर में पिछले आठ सालों में नकली नोट इस साल पकड़े जाने की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है। एक रिपोर्ट के मुताबिक बैंकिंग लेन देने के दौरान पिछले 8 साल में नकली नोट पकड़े जाने की संख्या 3.53 लाख तक पहुंच गई है।


सरकारी, निजी बैंकों और देश में संचालित सभी विदेशी बैंकों के लिए यह अनिवार्य है कि नकली मुद्रा पकड़े जाने संबंधी किसी भी घटना की जानकारी वे धन शोधन रोधी कानूनों के प्रावधान के तहत वित्तीय खुफिया इकाई फाइनेंशियल इंटेलिजेंस यूनिट को जरूर दें।  नकली मुद्रा रिपोर्ट (सीसीआर) की संख्या वर्ष 2007-2008 में महज 8,580 थी और वर्ष 2008-2009 में यह बढ़कर 35,730 और वर्ष 2014-15 में बढ़कर 3,53,837 हो गई। 


2007-08 में आया था कानून

वर्ष 2007-08 में सरकार ने पहली बार यह अनिवार्य किया था कि एफआईयू धन शोधन रोकथाम कानून के तहत इस तरह की रिपोर्ट  प्राप्त करेगा। उसके के बाद से एकत्र किए गए आंकड़ों के अनुसार, वर्ष 2009-10 में 1,27,781 सीसीआर दर्ज हुईं। वर्ष 2010-11 में यह संख्या 2,51,448 और 2011-12 में यह 3,27,382 थी। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood