Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

अफसरों की जगह इस दफ्तर में आते हैं मवेशी

Patrika news network Posted: 2017-06-18 17:41:33 IST Updated: 2017-06-18 17:41:33 IST
अफसरों की जगह इस दफ्तर में आते हैं मवेशी
  • एक साल पहले नैनवां में उपकोषाधिकारी कार्यालय भवन बनकर तैयार हो चुका है। इसके बावजूद कार्यालय सरकारी आवास में ही चलाया जा रहा है। नये भवन की कोई सुध नहीं ले रहा। इसके चलते रात को नये भवन में मवेशियों का जमावड़ा लग जाता है।

नैनवां.

अपना नया भवन तैयार होकर खड़ा है। एक वर्ष पूर्व भवन का कब्जा भी ले रखा है। अपने भवन के तो ताला जड़ रखा है और नैनवां का उपकोषाधिकारी कार्यालय सरकारी आवास में ही चल रहा है। 


विभाग के सूत्रों ने बताया कि  एक वर्ष में ही तीन उपकोषाधिकारी बदल गए, लेकिन तीनों ने ही कार्यालय को अपने भवन में शिफ्ट नहीं किया। कार्यालय भवन तहसील के पिछवाड़े में स्थित होने से अधिकारी कार्यालय को वहां शिफ्ट करने के इच्छा नही रखते जिससे एक वर्ष बाद भी कार्यालय नए भवन में शिफ्ट नही हो पा रहा। 



Read More: जीएसटी का नाम सुनते ही यहां छूटे व्यापारियों के पसीने


नैनवां में उपकोषाधिकारी अधिकारी कार्यालय नहीं होने से सरकार ने वर्ष 2015 में तहसील कार्यालय के पीछे स्थित भूमि उपकोषाधिकारी कार्यालय के लिए आवंटित कर भवन निर्माण के लिए सार्वजनिक निर्माण विभाग को 25 लाख रुपए की राशि उपलब्ध कराई थी। 


निर्माण विभाग ने मार्च 2016  में ही भवन का पूरा निर्माण कराने के बाद विद्युत व नल कनेक्शन करवाकर 16  मई 2016  को उपकोषाधिकारी के सुपुर्द कर दिया था। तब से ही भवन को ताला लगाकर बंद कर उपयोग में लेना ही भूल गए। भवन के चारदीवारी हो रही है जिसके दोनों दरवाजों पर फाटकें भी लगी हई है। भवन की सुध नही लेने से रात होते ही मवेशियों का जमावड़ा लग जाता है। 


Read More: तय हो गई अयोध्या में मंदिर बनाने की तारीख, उमा भारती ने किया खुलासा


अभी सरकारी आवास में चल रहा 

उपकोषाधिकारी कार्यालय पहले कुछ वर्षो तक तो किराए के भवन में चला। उसके बाद बूंदी रोड पर स्थित सरकारी आवास खाली पड़ा तो उसमें शिफ्ट कर दिया। 12 वर्ष से कार्यालय इसी सरकारी आवास में चल रहा है। 

उपकोषाधिकारी रमाकांत शृंगी ने कहा कि कार्यालय को नव निर्मित भवन में शिफ्ट कराने के लिए कोषाधिकारी से बात की है। भवन बस्ती से दूर होने से रात के समय चौकीदार रखने के लिए स्वीकृति मांगी है। स्टाफ भी कम है। स्टाफ  भी उपलब्ध कराने को लिखा है। एक माह में कार्यालय शिफ्ट कर दिया जाएगा। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood