video: मां के आंचल की जगह परी को मिले झांडि़यों के कांटे

Patrika news network Posted: 2017-05-19 23:40:05 IST Updated: 2017-05-20 00:47:15 IST
  • झाडि़यों में फेंकी नवजात कन्या, पीबीएम अस्पताल में कराया भर्ती, मां के आंचल की जगह झांडि़यों के कांटे उसके खुले बदन पर चुभे। बिलखने की आवाज किसी ने नहीं सुनी और हाथ व पैर मारे तो वह भी कांटे चुभने से लहूलुहान हो गए। मानवता को शर्मसार करने वाली यह घटना नोखा के रोड़ा गांव की है,

दिनेश स्वामी - बीकानेर.

दुनिया में आने के चंद घंटे बाद ही नन्ही परी को यह मालूम चल गया कि इस समाज में जीवन की डगर में कांटे ही कांटे हैं। निष्ठुर माता-पिता ने उसे जन्म के बाद झाडि़यों में फेंक दिया।



 मां के आंचल की जगह झांडि़यों के कांटे उसके खुले बदन पर चुभे। बिलखने की आवाज किसी ने नहीं सुनी और हाथ व पैर मारे तो वह भी कांटे चुभने से लहूलुहान हो गए। मानवता को शर्मसार करने वाली यह घटना नोखा के रोड़ा गांव की है, जहां शुक्रवार सुबह यह नवजात झाडि़यों में मिली।



नोखा थानाधिकारी दरजाराम ने बताया कि सुबह 6 बजे सूचना मिली कि रोड़ा गांव में बिश्नोइयों के मोहल्ले में झाडि़यों में एक नवाजत बच्ची पड़ी है। मौके पर पहुंचकर पुलिस ने बच्ची को अपने कब्जे में लिया और गाड़ी से पीबीएम अस्पताल पहुंचाया। जहां उसे शिशु वार्ड में भर्ती किया गया।



सूचना पाकर बाल कल्याण समिति की सदस्य अरूणा भागर्व अस्पताल पहुंची। भार्गव ने बताया कि बच्ची पूरी तरह स्वस्थ्य है। झाडि़यों में कांटे लगने से उसके शरीर पर कुछ जख्म हो गए है। अस्पताल में उपचार शुरू करवा दिया है। बच्ची पूरी तरह ठीक हो जाएगी तब उसे शिशु गृह में भेज दिया जाएगा। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood