Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

निमंत्रण कार्ड में मेहमानों को किया जूठन एवं जल बचत का आग्रह

Patrika news network Posted: 2017-06-20 10:59:57 IST Updated: 2017-06-20 11:01:13 IST
निमंत्रण कार्ड में मेहमानों को किया जूठन एवं जल बचत का  आग्रह
  • शादी के आमंत्रण कार्ड में मेहमानों को नि: संकोच आगाह किया है कि 'उतना ले थाली में, बाकी न जाये नाली में। खाओ मन भर , छोड़ो न कण भर' यह संदेश इन दिनों बीकानेर में चर्चा का विषय बना हुआ है।

बीकानेर

शादी-विवाह एवं सामूहिक भोजों में जूठन छोडऩा लोगों की आम आदत में शुमार है। जूठन से खाद्य पदार्थों का नुकसान राष्ट्रीय क्षति है। यही मानकर शादी के आमंत्रण कार्ड में मेहमानों को नि: संकोच आगाह किया है कि 'उतना ले थाली में, बाकी न जाये नाली में। खाओ मन भर , छोड़ो न कण भर'  यह संदेश इन दिनों बीकानेर में चर्चा का विषय बना हुआ है। 



गंगाशहर तेरापंथ भवन में मंगलवार को  होने वाली एक शादी में राजनेताओं, प्रशासनिक अधिकारियों, व्यापारियों और बुध्दिजीवियों को इस संदेश के साथ आमंत्रित किया गया है। आमंत्रण कार्ड में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को प्रेरणा स्रोत मानकर संदेश छपाया है कि - जल ही जीवन है, जल बचाओ देश को प्रगति के पथ पे ले जाओ। 


read : पांच साल बाद फिर से दौड़ेगी बीकानेर-सरदारशहर के बीच ट्रैन



इस शादी में डिस्पोल का प्रयोग नहीं किया जाएगा। वहीं भोजन में सभी तरह के व्यंजनों की संख्या 21 रखी गई है। बीकानेर रानी बाजार औधोगिक क्षेत्र के देव गार्डन भवन परिसर में एक बारात के स्वागत समारोह को सम्पूर्ण डिस्पोजल मुक्त रखा गया।   इस विवाह आयोजन में शामिल हुए  कमोबेश 1400  अतिथियों के लिए विभिन्न स्टॉल व भोजन व्यवस्था में डिस्पोजल की जगह  स्टील, मेलामाइन व कांच से बने बर्तनों काम लिए गए। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood