Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

video: #किसानमहापड़ाव: सुलह वार्ता में बनी सहमति, 12 दिनों से चल रहा किसानों का आंदोलन खत्म

Patrika news network Posted: 2017-07-16 13:17:32 IST Updated: 2017-07-16 13:17:32 IST
  • सिंचाई विभाग की ओर से कंवरसेन लिफ्ट नहर के 60 मोघे तोड़कर एपीएम के साइज छोटे करने के विरोध में गत 12 दिनों से चल रहे आंदोलन का पटाक्षेप हो गया।

लूणकरनसर/बीकानेर

सिंचाई विभाग की ओर से कंवरसेन लिफ्ट नहर के 60 मोघे तोड़कर एपीएम के साइज छोटे करने के विरोध में गत 12 दिनों से चल रहे आंदोलन का पटाक्षेप हो गया। सिंचाई विभाग के शासन सचिव शिखर अग्रवाल की मौजूदगी में किसान प्रतिनिधियों के साथ सुलह वार्ता हुई। जिसमें सहमति बनने के बाद किसानों ने आंदोलन खत्म करने की घोषणा की। 

read: किसान व पुलिस आमने-सामने 


इससे पहले खागड़ रैली के दौरान आवारा पशुओं को तहसील कार्यालय में घुसाने पर लाठी-भाटा जंग हो गई थी। इसके बाद जिला प्रशासन ने लूणकरनसर उपखण्ड क्षेत्र में धारा 144 लगा दी। जिससे शनिवार को कस्बे में और आस-पास के मुख्य मार्गों पर पुलिस बल तैनात कर दिए जाने से उपखण्ड मुख्यालय पर प्रस्तावित किसानों की सभा नहीं हो पाई। दोपहर करीब डेढ़ बजे कंवरसेन लिफ्ट नहर की 290 आरडी की पुलिया पर सैकड़ों किसानों की मौजूदगी में सभा शुरू हुई। इस दौरान प्रशासन की तरफ से वार्ता के लिए बुलावा गया।



इन पर बनी सहमति

वार्ता के लिए किसानों का प्रतिनिधिमण्डल इन्दिरा गांधी नहर परियोजना के विश्रामगृह में पहुंचा। यहां विभाग के शासन सचिव शिखर अग्रवाल के साथ हुई वार्ता में तोड़े गए 60 मोघों में एक क्यूसेक से कम वाले मोघों को दुरस्त कर एक क्यूसेक तक करने तथा पूर्व में चल रहे 3.9 क्यूसेक व 3 क्यूसेक के मोघों को यथावत् रखने पर सहमति हुई। साथ ही किसानों के प्रतिनिधियों के साथ मोघों की जांच करवाने पर सहमति बनी। 



आवारा पशुधन को इलाके की गोशालाओं व बाहर की गोशालाओं में व्यवस्था करवाने का आश्वासन भी प्रशासन की ओर से दिया गया। आंदोलन के दौरान शुक्रवार को हुई कार्रवाई में दर्ज मामलों को लेकर सौहार्दपूर्ण तरीके से निष्पक्ष जांच करने पर सहमति हुई। इसमें निर्दोष लोगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने का आश्वासन दिया गया। 



वार्ता के दौरान किसानों के प्रतिनिधिमण्डल में पूर्व विधायक हेतराम बेनीवाल, किसान सभा के प्रदेश कमेटी सदस्य लालचंद भादू, युवक कांग्रेस राष्ट्रीय सचिव डॉ. राजेन्द्र मूण्ड, जिला प्रमुख सुशीला सींवर, प्रधान गोविन्दराम गोदारा, पूर्व विधायक पवन दुग्गल, युवक कांग्रेस जिलाध्यक्ष बिशनाराम सियाग, कांग्रेस देहात जिलाध्यक्ष महेन्द्र गहलोत, जिला उपाध्यक्ष हनुमान सिंह चौधरी, एटा-सिंगरासर संघर्ष समिति संयोजक राकेश बिश्नोई, 



कांग्रेस खेलकूद प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष तेजाराम धतरवाल, रायसिंह गोदारा समेत कई नेता मौजूद थे। प्रशासन की तरफ से शासन सचिव अग्रवाल के साथ संभागीय आयुक्त सुआलाल, आईजी विपिन पाण्डे, जिला कलक्टर अनिल गुप्ता, पुलिस अधीक्षक सवाईसिंह गोदारा, इगांनप के मुख्य अभियंता अमरजीत सिंह मेहरड़ा, एडीएम यशवंत भाखर, 



लूणकरनसर उपखण्ड अधिकारी डॉ. रतन कुमार स्वामी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण डॉ. लालचंद कायल, खाजूवाला एडीएम ओमप्रकाश सारण समेत सिंचाई विभाग के अधिकारी मौजूद थे। सुलह वार्ता के बाद सभा स्थल पर किसानों का प्रतिनिधिमंडल पहुंचा।



चप्पे-चप्पे पर तैनात रही पुलिस

प्रदर्शनकारी किसानों व पुलिस के साथ शुक्रवार की झड़प के बाद धारा 144 लगाने से शनिवार को कस्बे में आने की सम्पर्क सड़कों पर पुलिस बल तैनात रहा। इस दौरान नई अनाज मण्डी में प्रस्तावित सभा को देखते हुए बड़ी तादाद में जाब्ता लगाया गया।



किसानों ने सभा का स्थान बदलकर उरमूल डेयरी के पास कृषि विज्ञान केन्द्र कर दिया तो पुलिस जाब्ता वहां भी तैनात कर दिया गया। दोपहर सवा 12 बजे पूर्व विधायक हेतराम बेनीवाल के लूणकरनसर पहुंचने के बाद रोझां रोड़ पर नहर 290 आरडी पर सभा हुई। इसमें सैकड़ों की तादाद में किसान एकत्र हुए। 



प्रदर्शनकारी किसानों को जेल भेजा

पुलिस द्वारा लाठी-भाटा जंग के दौरान जानलेवा हमला करने, सरकारी सम्पति को नुकसान पहुंचाने के मामले में गिरफ्तार किए सभी आरोपितों को बीकानेर न्यायालय में पेश कर बीकानेर जेल भिजवाया गया।



सीआई श्रवणदास संत ने बताया कि मामले में गिरफ्तार रोझां निवासी देवीलाल बिश्नोई, श्योपतराम जाट, बड़ेरण निवासी बाबूलाल, देवकरण जाट, डेलाणा छोटा के मांगीलाल जाट, रिछपाल जाट, राजूराम जाट, मलकीसर स्टेशन निवासी शिवलाल कुम्हार, सहनीवाला निवासी चन्द्रहंस बिश्नोई, लूणकरनसर निवासी प्रताप पेन्टर, ब्रदीराम कुम्हार, 



ओमपुरी गोस्वामी, प्रेमचंद कुम्हार, बखुसर-दुलचासर निवासी सोहनलाल कुम्हार, हंसेरां निवासी मदनलाल जाट, भाडेरां निवासी ओमप्रकाश बिश्नोई, दूदाराम नायक, कांकड़वाला निवासी भंवरलाल ब्राह्मण, रिछपाल बिश्नोई, सतपाल बिश्नोई, फूलदेसर निवासी बलवंत बिश्नोई, कालूराम बिश्नोई, प्रेम बिश्नोई, खारड़ा निवासी बिशनलाल नायक, 



कपूरीसर निवासी दीनदयाल सुथार, जोरूराम ब्राह्मण, मलकीसर बड़ा के मुखराम सिद्ध, डेलाणा बड़ा के भंवरलाल मेघवाल व पदमपुर के पूर्णराम मेघवाल को गिरफ्तार किया। इनको शनिवार को बीकानेर न्यायालय में पेश जेल भिजवाया गया।

rajasthanpatrika.com

Bollywood