Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

Video:तस्करी में काम ली गई गाडी के मालिक को सात साल की सजा

Patrika news network Posted: 2017-07-15 19:34:00 IST Updated: 2017-07-15 19:34:00 IST
  • विशिष्ट न्यायाधीश (एनडीपीएस मामलात) विक्रांत गुप्ता ने डोडा चूरा तस्करी के मामले में वाहन मालिक को दोषी मानते हुए शनिवार सात साल कारावास की सजा सुनाई। सजा पाने वालों में एकलखोरी (जोधपुर) निवासी ओमप्रकाश विश्नोई शामिल है।

भीलवाड़ा।

विशिष्ट न्यायाधीश (एनडीपीएस मामलात) विक्रांत गुप्ता ने डोडा चूरा तस्करी के मामले में वाहन मालिक को दोषी मानते हुए शनिवार सात साल कारावास की सजा सुनाई। सजा पाने वालों में एकलखोरी (जोधपुर) निवासी ओमप्रकाश विश्नोई शामिल है। उसे 70 हजार रुपए जुर्माने के भी आदेश दिए। इस मामले में एक व्यक्ति को संदेह का लाभ देते हुए दोषमुक्त कर दिया गया।


भीलवाड़ा: पानी के लिए महिलाओं ने किया भीलवाड़ा—देवली मेगा हाईवे जाम


प्रकरण के अनुसार 28 मई 2009 को करेड़ा थाना पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली की टोकरा गांव की ओर से जीप आ रही है जो कि भीम की तरफ जाएगी। गाडी में मादक पदार्थ तस्करी कर ले जाया जाएगा। सूचना पर करेड़ा पुलिस ने नाकाबंदी शुरू की। नाकाबंदी में टोकरा चौराहे पर वाहन को रोक लिया। दो जनें अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में कामयाब रहे जबकि एक को पुलिस ने पकड़ लिया। पकड़ा गया व्यक्ति बाल अपचारी निकला। वाहन की तलाशी लेने पर 16 बोरों में 362 किलो डोडा चूरा निकला। भागने वाले का नाम जोधपुर जिले के केतू निवासी पप्पूलाल विश्नोई व चौमू का वास निवासी चम्पालाल शर्मा था। 


गर्भवती महिलाओं और बच्चों का जनाना अस्पताल में उपचार शुरू


जांच में सामने आया कि गाडी ओमप्रकाश विश्नोई के नाम पंजीकृत थी। पुलिस ने ओमप्रकाश, पप्पूलाल तथा चम्पालाल को गिरफ्तार कर अदालत में चालान पेश किया। ट्रायल के दौरान चम्पालाल की मृत्यु हो गई जबकि बाल अपचारी का मामला अलग से चला। अदालत ने पप्पूलाल को दोषमुक्त कर दिया जबकि गाडी मालिक ओमप्रकाश विश्नोई को सात साल की सजा सुनाई। विशिष्ट लोक अभियोजक प्रदीप अजमेरा ने अभियुक्त के खिलाफ 13 गवाह व 53 दस्तावेज पेशकर आरोप सिद्ध किया। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood