Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

Video: #KhulkeKheloHoli चारभुजानाथ की एक झलक पाने को श्रद्धालु हुए बेताब

Patrika news network Posted: 2017-03-20 19:31:43 IST Updated: 2017-03-20 19:35:40 IST
  • भीलवाड़ा जिले के कोटडी कस्बे में सैकड़ों वर्षा पुरानी परम्परा को निभाते आ रहे कस्बावासियों ने सोमवार को रंग सप्तमी का पहला रंग, गुलाल, केसर एवं गुलाब की पंखुडिय़ां ठाकुरजी को लगा कर रंग खेलने की शुरुआत की।

कोटड़ी।

भीलवाड़ा जिले के कोटडी कस्बे में सैकड़ों वर्षा पुरानी परम्परा को निभाते आ रहे कस्बावासियों ने सोमवार को रंग सप्तमी का पहला रंग, गुलाल, केसर एवं गुलाब की पंखुडिय़ां ठाकुरजी को लगा कर रंग खेलने की शुरुआत की। दिन भर भजनों के संग भक्ति के रंग में डूबे रहे।

#KhulkeKheloHoli रंंगों की मस्‍ती में डूबा शहर, शीतला पूजा कर की आवभगत


श्रद्धालु भगवान के संग रंग खेल कर भक्ति में सराबोर रहे। परंपरानुसार कस्बे के श्रद्धालु मंदिर परिसर में एकत्रित होते है। यहां पहले भगवान को केसर, फूल, रंग व गुलाल लगाते है। इसके बाद मंदिर परिसर में शुरु होती है फाग के गीतों व भजनों पर होली की धमाल। 


प्रदेश में अनेक मोक्षधाम देखरेख के अभाव में बदलहाल है। इसमें सुधार के लिए क्या सरकार व आमजन को पहल करनी चाहिए ? हमें बताएं...


मंदिर परिसर में भगवान चारभुजानाथ की प्रतिमा के सामने लोग एक दूसरे को रंग लगाते है। इस मौके पर जिले सहित आस-पास के जिलो के श्रद्धालु भी भगवान चारभुजानाथ के दर्शनों के लिए पहुंचते। पूरे गांव में सिर्फ भगवान चारभुजानाथ के मंदिर परिसर में ही होली खेली जाती है।  

 

rajasthanpatrika.com

Bollywood